बारिश में गिरा मकान, मां-बेटी समेत तीन की मौत

मंसूरपुर थाना क्षेत्र के गांव बेगराजपुर में बारिश के बीच भरभराकर मकान ढह गया। मकान के मलबे में दबकर मां-बेटी समेत तीन की मौत हो गई जबकि मकान स्वामी दंपति एक पुत्री और दामाद दामाद घायल हो गए। मलबे में दबे लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने शवों को मर्चरी भेजा है। हादसे के बाद मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। अधिकारियों ने मौका मुआयना कर आर्थिक सहायता के साथ मृताश्रितों को मुआवजे की घोषणा की गई है।

JagranSat, 31 Jul 2021 12:20 AM (IST)
बारिश में गिरा मकान, मां-बेटी समेत तीन की मौत

मुजफ्फरनगर, जेएनएन। मंसूरपुर थाना क्षेत्र के गांव बेगराजपुर में बारिश के बीच भरभराकर मकान ढह गया। मकान के मलबे में दबकर मां-बेटी समेत तीन की मौत हो गई, जबकि मकान स्वामी दंपति, एक पुत्री और दामाद दामाद घायल हो गए। मलबे में दबे लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस ने शवों को मर्चरी भेजा है। हादसे के बाद मौके पर ग्रामीणों की भीड़ जमा हो गई। अधिकारियों ने मौका मुआयना कर आर्थिक सहायता के साथ मृताश्रितों को मुआवजे की घोषणा की गई है।

बेगराजपुर निवासी इम्तयाज की पत्नी सायरा बीमार चल रही है। तीन दिन पहले उसका आपरेशन होने के बाद घर लाया गया था। गुरुवार को सायरा की बहन फलावदा के गांव गगासोना निवासी जुबैदा पत्नी फुरकान अपनी बेटी अनिशा और तेजलहेड़ा से दामाद परवेज अपनी दादी मीना पत्नी हबीब के साथ आए हुए थे। गुरुवार देर रात्रि तेज बारिश के बीच इम्तयाज का मकान भरभराकर गिर गया। जिसके मलबे में दबे लोगों में चीख-पुकार मच गई। आनन-फानन में ग्रामीण मौके पर पहुंचे और उन्हें बाहर निकाला। सूचना मिलने पर सीओ राकेश कुमार सिंह, इंस्पेक्टर कुशपाल सिंह मय फोर्स के मौके पर पहुंचे और जानकारी ली। घायलों को जिला चिकित्सालय में भर्ती कराया गया। जहां चिकित्सकों ने जुबैदा व उसकी बेटी अनिशा और वृद्धा मीना को मृत घोषित कर दिया। वहीं, घायल इम्तयाज, उसके दामाद परवेज, बेटी नगमा और पत्नी सायरा का उपचार के लिए भर्ती रखा गया है। हादसे के गांव अफरातफरी मच गई। तेजलहेड़ा और फलावदा में शोक छा गया।

अधिकारियों ने किया निरीक्षण, मिलेगी मदद

मंसूरपुर: हादसे के बाद एसडीएम खतौली इंद्राकांत द्विवेदी ने राजस्व विभाग के साथ हालात का जायजा लिया। हल्का लेखपाल इंद्रवीर ने अपनी टीम के साथ नुकसान का आंकलन कर रिपोर्ट बनाई है। शुक्रवार को दिन निकलते ही मौके पर ग्रामीणों की भीड़ एकत्र हो गई। अधिकारियों ने अस्पताल में भर्ती घायलों की जानकारी ली। एसडीएम ने मृतकों के स्वजन को प्राकृतिक आपदा के तहत चार-चार लाख रूपये के मुआवजे की घोषणा की है। वहीं घायलों की परिस्थितियों के आधार पर सहायता दी जाएगी।

मौत खींच लाई बेगराजपुर

इम्तयाज की पत्नी तीन दिन पहले ही आपरेशन के बाद घर पहुंची थी। उसे देखने के लिए परिचित और रिश्तेदार आ रहे थे। जुबैदा और उसकी बेटी अनिशा तथा वृद्धा मीना को मौत बेगराजपुर खींच लाई। इम्तयाज के तीन पुत्र हैं, जो पड़ोस में ही दूसरे मकान में सो रहे थे। यदि वह भी क्षतिग्रस्त मकान में रहते तो बड़ा हादसा हो सकता था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.