स्वास्थ्य विभाग ने दिया दो सप्ताह में 21 मौत का आंकड़ा

स्वास्थ्य विभाग ने दिया दो सप्ताह में 21 मौत का आंकड़ा

कोरोना वायरस संक्रमण से लोगों की लगातार मौत हो रही है। स्वास्थ्य विभाग ने दो सप्ताह के भी भीतर मुजफ्फरनगर मेडिकल कालेज में उपचार के दौरान हुई 21 लोगों की मौत का आंकड़ा जारी किया है। आंकड़ों के अनुसार मरने वालों में 12 महिलाएं हैं।

JagranThu, 06 May 2021 11:51 PM (IST)

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। कोरोना वायरस संक्रमण से लोगों की लगातार मौत हो रही है। स्वास्थ्य विभाग ने दो सप्ताह के भी भीतर मुजफ्फरनगर मेडिकल कालेज में उपचार के दौरान हुई 21 लोगों की मौत का आंकड़ा जारी किया है। आंकड़ों के अनुसार मरने वालों में 12 महिलाएं हैं।

कोरोना वायरस संक्रमण से लगातार मौत हो रही हैं। मुजफ्फरनगर मेडिकल कालेज में उपचाराधीन मरीजों की मौत की सूचना प्रतिदिन सामने आ रही थी, लेकिन स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ो में अधिकतर को दर्शाया नहीं जा रहा था। स्वास्थ्य विभाग ने गुरुवार को मेडिकल कालेज में उपचार के दौरान 21 कोरोना संक्रमित मरीजों की मौत का आंकड़ा जारी किया है। सीएमओ डा. एमएस फौजदार ने बताया कि पीनना निवासी 62 वर्षीय ओमवती का 23 अप्रैल को निधन हुआ था। बताया कि ओमवती को कोविड-19 हास्पिटल में 16 अप्रैल को भर्ती कराया गया था। उन्होंने बताया कि नन्हेड़ा निवासी सुधा, नई मंडी निवासी विजय लक्ष्मी भटनागर का क्रमश: 24 व 25 अप्रैल तथा पचेंडा रोड निवासी प्रमोद का 25 अप्रैल को उपचार के दौरान कोविड-19 हास्पिटल में निधन हो गया था। बताया कि नई मंडी निवासी श्यामा देवी, सिखेड़ा निवासी बिजेंद्र, बुड़ीना खुर्द निवासी बाला का निधन 26 अप्रैल को कोविड-19 हास्पिटल में हुआ था। बताया कि पटेल नगर निवासी ऊषा का 25 तथा खाईखेड़ी निवासी विमल त्यागी व जानसठ निवासी राजकुमार का 27 अप्रैल को निधन हो गया था। सीएमओ ने बताया कि अंकित विहार निवासी ऊषा रानी, कृष्णापुरी निवासी सूरजमल का 28 व गांधी कालोनी निवासी पुष्पलता का 29 अप्रैल को निधन हुआ था। बताया कि रोहाना निवासी बागेश्वरी, अवध विहार निवासी शीषपाल का 30 अप्रैल एवं अलमासपुर निवासी राजकुमार का निधन 29 अप्रैल को हुआ, जबकि नरा निवासी इस्लाम का दो मई एवं सुरेंद्रनगर निवासी रेखा व सालिक का चार मई एवं रामपुरम निवासी चंद्रकला का तीन मई को निधन हुआ। बताया कि जिले के 777 लोगों में कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई, जबकि उपचार के बाद 334 मरीज स्वस्थ हुा, जिन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया।

पोते के गम में दादी ने भी तोड़ा दम, छाया मातम

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। मोरना कस्बे में एक सप्ताह पहले कोरोना के चलते पोते की मौत होने का सदमा दादी ने दिल से लगा लिया, जिसके चलते गुरुवार को उनकी मौत हो गयी। एक सप्ताह में दो मौत हो जाने से परिवार में मातम छा गया है।

भोपा थाना के ़मोरना कस्बे में भाजपा नेता अश़फाक उर्फ राजू सलमानी ने ग्राम प्रधान पद के लिए चुनाव लड़ा। बीते 30 अप्रेल को मतगणना से पूर्व उनके 24 वर्षीय बेटे ाशिद सलमानी की अचानक कोरोना से मौत हो गयी थी। अभी परिजन जवान मौत के सदमे से उबरे भी नहीं थे कि गुरुवार को अश़फाक की मां 62 वर्षीय इकरामन की मौत हो गई। इकरामन कि मौत का कारण पोते राशिद की मौत का सदमा उठाना बताया गया है। ग्रामीणों ने ़गम•ादा परिवार को सांत्वना दी है। वहीं ़कस्बा में 45 वर्षीय नईमा की बुखार के कारण मौत हो गयी। मोरना, सीकरी, भोकरहेड़ी, भोपा व शुकतीर्थ में बुखार से बड़ी संख्या में मौत हुई है। लगातार मौत होने के कारण क्षेत्र में दहशत है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.