महाराणा प्रताप की मूर्ति स्थापना से सांप्रदायिक तनाव की आशंका

महाराणा प्रताप की मूर्ति स्थापना से सांप्रदायिक तनाव की आशंका

ईदगाह के सामने महाराणा प्रताप की मूर्ति स्थापना से नगर में सांप्रदायिक तनाव उत्पन्न होने की आशंका है। खुफिया विभाग ने डीएम और एसएसपी को रिपोर्ट प्रेषित करते हुए शीघ्र ही समुचित कार्यवाही के साथ-साथ विशेष पुलिस सतर्कता बरतने की आवश्यकता जताई है। भेजी गई रिपोर्ट में पालिका चेयरपर्सन और ईओ के मध्य चल रही खींचतान का भी जिक्र किया गया है।

Publish Date:Fri, 30 Oct 2020 02:52 AM (IST) Author: Jagran

मुजफ्फरनगर, जेएनएन। ईदगाह के सामने महाराणा प्रताप की मूर्ति स्थापना से नगर में सांप्रदायिक तनाव उत्पन्न होने की आशंका है। खुफिया विभाग ने डीएम और एसएसपी को रिपोर्ट प्रेषित करते हुए शीघ्र ही समुचित कार्यवाही के साथ-साथ विशेष पुलिस सतर्कता बरतने की आवश्यकता जताई है। भेजी गई रिपोर्ट में पालिका चेयरपर्सन और ईओ के मध्य चल रही खींचतान का भी जिक्र किया गया है।

सात अक्टूबर 2020 को नगर पालिका की आयोजित हुई बोर्ड बैठक में शामली रोड ईदगाह के सामने महाराणा प्रताप की मूर्ति स्थापना का प्रस्ताव पारित किया गया था। प्रस्ताव के पक्ष में 31 तथा विपक्ष में 19 सभासदों ने अपना वोट दिया था। प्रस्ताव के विरोध में उतरे अधिकतर सभासदों में मुस्लिम थे। प्रस्ताव पारित होने के बाद सारे हालात का जायजा लेते हुए स्थानीय अभिसूचना इकाई ने डीएम व एसएसपी को रिपोर्ट प्रेषित की है। जिसमें उन्होंने ईदगाह के सामने महाराणा प्रताप की मूर्ति स्थापना को लेकर सांप्रदायिक तनाव की आशंका जताई है। भेजी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि जिस स्थान पर महाराणा प्रताप की मूर्ति स्थापना का प्रस्ताव है वहां ईद के दिन मुस्लिम लोग नमाज अदा करते हैं। मूर्ति की मौजूदगी में मुस्लिम समाज नमाज अदा नहीं कर सकता। इसके साथ यह भी कहा गया कि नगर पालिका चेयरपर्सन अंजू अग्रवाल तथा ईओ विनय मणि त्रिपाठी के बीच आपसी खींचतान प्रचलित है। सफाई कर्मचारी संघ चुनाव व अन्य मुद्दो को लेकर भी मतभेद परिलक्षित हो चुके हैं। सफाई कर्मचारी संघ चुनाव बोर्ड बैठक एक ही दिन

स्थानीय अभिसूचना इकाई ने डीएम व एसएसपी का ध्यान इस ओर भी आकृष्ट कराया है कि ईओ ने सफाई कर्मचारी संघ चुनाव की तिथि 11 नवंबर घोषित किी है, जबकि चेयरपर्सन ने 11 नवंबर को ही बोर्ड बैठक बुलाई है। तिथियां समान होने के कारण खुफिया विभाग ने टकराव की स्थिति उत्पन्न होने की आशंका जताई है।

डीएम ने मांगी एडीएम प्रशासन से विस्तृत रिपोर्ट

स्थानीय अभिसूचना इकाई की रिपोर्ट पर गंभीरता दिखाते हुए डीएम सेल्वा कुमारी जे ने एडीएम प्रशासन अमित सिंह से इस संदर्भ में विस्तृत रिपोर्ट तलब की है। इसके बाद एडीएम प्रशासन के आदेश पर सिटी मजिस्ट्रेट तथा ईओ ने अमल शुरू कर दिया है। चेयरपर्सन ने भी ईओ को बोर्ड बैठक में पारित प्रस्ताव की जानकारी उच्चाधिकारियों को देने का कहा है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.