एड्स से बचाव का मार्ग जागरूकता व सावधानी

खतौली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर विश्व एड्स जागरूकता दिवस पर कार्यशाला हुई जिसमें चिकित्सकों ने एचआइवी एड्स के बारे में विस्तार से जानकारी दी। लोगों को बचाव के उपाय बताए गए। कहा कि सावधानी बरतने से जीवन की सुरक्षा होती है। संक्रमित व्यक्ति के साथ भेदभाव नहीं करना चाहिए। उनका मनोबल बढ़ाएं ताकि वह बीमारी से लड़ने में सक्षम बन जाए।

JagranWed, 01 Dec 2021 11:19 PM (IST)
एड्स से बचाव का मार्ग जागरूकता व सावधानी

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। खतौली सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर विश्व एड्स जागरूकता दिवस पर कार्यशाला हुई, जिसमें चिकित्सकों ने एचआइवी एड्स के बारे में विस्तार से जानकारी दी। लोगों को बचाव के उपाय बताए गए। कहा कि सावधानी बरतने से जीवन की सुरक्षा होती है। संक्रमित व्यक्ति के साथ भेदभाव नहीं करना चाहिए। उनका मनोबल बढ़ाएं, ताकि वह बीमारी से लड़ने में सक्षम बन जाए।

कार्यशाला में एमओआइसी डा. अवनीश कुमार ने कहा कि एड्स बीमारी के दुष्परिणामों को देखकर संक्रमित लोगों से भेदभाव होता है। लोगों को एड्स की सही जानकारी नहीं होने से भेदभाव के माहौल को अधिक बल मिलता है। ऐसे में स्थिति को समझने की जरूरत है कि एड्स संक्रमित व्यक्ति के साथ खाना खाने, बैठने या उसे छूने से नहीं फैलता है। यह संक्रमण सिर्फ संक्रमित व्यक्ति के रक्त के संपर्क में आने व यौन संबंध बनाने से फैलता है। चिकित्सकों ने लोगों को एचआइवी से बचाव के उपाय बताए। एचआइवी के साथ अन्य संक्रमण रोगों से बचाव के लिए सावधानी और जागरूक होने का आह्वान किया। उन्होंने बताया कि सीएचसी खतौली पर आइसीटीसी सेंटर पर जनवरी से नवंबर तक 4311 लोगों की एचआइवी की जांच हुई, जिसमें चार पाजिटिव मरीज पाए गए। इस दौरान वरिष्ठ उपचार पर्यवेक्षक देवेंद्र लोहित, शांतनु सोम, शैली शर्मा, मोहम्मद अहसान, डा. विकास, धर्मदास बर्मन व योगेश कुमार आदि मौजूद रहे।

सीएमओ ने किया सीएचसी का निरीक्षण

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। जानसठ में विश्व एड्स दिवस पर सीएमओ ने सीएचसी का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने लोगों को एड्स की जानकारी देते हुए बताया कि इसकी जानकारी ही बचाव है। साथ ही उन्होंने कोरोना के टीकाकरण की भी अपील की।

विश्व एड्स दिवस पर सीएचसी पहुंचे सीएमओ महावीर फौजदार ने लोगों को एड्स की जानकारी देते हुए बताया कि एड्स के बारे में जानकारी ही बचाव है। उन्होंने लोगों से इससे बचने की सलाह दी है। इस दौरान सीएचसी का निरीक्षण भी किया। सीएचसी में लेबर रूम का निरीक्षण किया। साथ ही संविदा डाक्टरों की हड़ताल से उपजे हालात पर भी चर्चा की गई। उन्होंने बताया कि जानसठ में टीकाकरण की गति बहुत अच्छी है, लेकिन उन्होंने बचे हुए लोगों से भी कोरोना के टीका लगवाने की अपील की है।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.