ताक पर प्रशासन की गाइडलाइन, पुलिस के डंडे का डर खत्म

प्रदेश की राजधानी में बैठकर कोरोना क‌र्फ्यू का समय बढ़ाने की घोषणाएं हो रही हैं। जिला स्तर के अधिकारी कोरोना क‌र्फ्यू के पालन को जिले में बाजार खुलने और बंद करने की गाइडलाइन बना रहे हैं। गाइडलाइन का उल्लंघन न हो इसके लिए पुलिस के जवान चौराहों पर तैनात हैं। इतनी जद्दोजहद कोरोना की चेन तोड़ने के लिए हो रही है। फिर भी जिलावासी कोरोना फैलाने के लिए बाजारों में बड़ी संख्या में उमड़ रहे हैं। रविवार की सुबह शहर की सड़कों पर उमड़ी लोगों की भीड़ जिले में कोरोना के मरीज बढ़ाने का संकेत देती दिखी। यदि इन लोगों पर पुलिस और प्रशासन की सख्ती समय रहते न बढ़ी तो आने वाले दिनों में जिले के हालात और डरावने होंगे।

JagranSun, 09 May 2021 10:47 PM (IST)
ताक पर प्रशासन की गाइडलाइन, पुलिस के डंडे का डर खत्म

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। प्रदेश की राजधानी में बैठकर कोरोना क‌र्फ्यू का समय बढ़ाने की घोषणाएं हो रही हैं। जिला स्तर के अधिकारी कोरोना क‌र्फ्यू के पालन को जिले में बाजार खुलने और बंद करने की गाइडलाइन बना रहे हैं। गाइडलाइन का उल्लंघन न हो, इसके लिए पुलिस के जवान चौराहों पर तैनात हैं। इतनी जद्दोजहद कोरोना की चेन तोड़ने के लिए हो रही है। फिर भी जिलावासी कोरोना फैलाने के लिए बाजारों में बड़ी संख्या में उमड़ रहे हैं। रविवार की सुबह शहर की सड़कों पर उमड़ी लोगों की भीड़ जिले में कोरोना के मरीज बढ़ाने का संकेत देती दिखी। यदि इन लोगों पर पुलिस और प्रशासन की सख्ती समय रहते न बढ़ी तो आने वाले दिनों में जिले के हालात और डरावने होंगे।

जिले में कोरोना क‌र्फ्यू के बीच शनिवार को 1312 नए कोरोना संक्रमित मरीज सामने आए थे। वहीं शनिवार को ही डीएम सेल्वा कुमारी जे. ने गाइडलाइन में परिवर्तन करते हुए किरयाना की फुटकर दुकानों का समय बढ़ाकर 11 बजे तक किया था। इसके अलावा दूध डेयरियां आदि के लिए सुबह नौ बजे तक खुलने का समय निर्धारित है। इसके बाद भी रविवार को शहर का जो मंजर रहा। वह चौंकाने वाला था। दूध की डेरियां, पान और गुटखों की दुकानें, किरयाना स्टोर, फल और सब्जी विक्रेता 12 बजे तक अपने काम में मशगूल रहे। जब बाजार खुले रहे तो लोगों ने भी कोई कसर नहीं छोड़ी। लोगों ने इतना तो ख्याल रखा कि बाहर निकलने से पहले मास्क लगा लें, लेकिन शारीरिक दूरी सहित अन्य सभी कोविड से बचाव के नियम भूल गए। बाजारों में सुबह 12 बजे तक रही भीड़ को देखकर आधे लोग सड़कों पर बिना काम के ही घूमने निकल गए। चौराहों पर तैनात पुलिसकर्मियों ने कुछ स्थानों पर वाहन चालकों को रोककर पूछताछ जरूर की, लेकिन कोई ठोस कार्रवाई न होने से लोगों में घूमने का हौसला और बढ़ गया। इस प्रकार का नजारा शहर में किसी एक स्थान का नहीं रहा। सिविल लाइन थाना क्षेत्र के कच्ची सड़क, मल्हुपूरा, मदीना चौक, अंसारी रोड सहित कई जगह पर यह नजारा रहा। वहीं शहर कोतवाली क्षेत्र के दाल मंडी, भगत सिंह रोड, शामली बस स्टैंड, मिमलाना रोड पर भी लोगों की सुबह के समय भारी भीड़ उमड़ी रही, जो कोरोना बांटने के लिए काफी थी। हालाकि की साढ़े दस बजे के बाद पुलिस हरकत में आई तो कई स्थानों पर पुलिस की गाड़ी ने सड़कों पर खड़े सब्जी और फल विक्रेताओं को चेतावनी देकर खदेड़ा भी, लेकिन वह फिर से आकर खड़े हो गए। दुकानदारों ने ग्राहकों को अंदर घुसाकर शटर बंद कर लिया और फिर सामान देकर धीरे-धीरे बाहर भेजकर गाइडलाइन का उल्लंघन करते रहे। कच्ची सड़क और मिमलान रोड पर घरों से दिनभर बिक्री

कोरोना क‌र्फ्यू को तोड़ने में कच्ची सड़क और मिमलाना रोड के लोग सबसे आगे हैं। इन स्थानों पर दिनभर घरों से किरयाना, गुटखा, सिगरेट, कास्मेटिक व कपड़े आदि की बिक्री हो रही है। इसके चलते लोग किसी भी समय वहां सामान लेने पहुंच रहे हैं, जिस कारण घरों में बोर हो रहे लोग भी सड़कों पर जमा होकर चौकड़ी लगा रहे हैं और पुलिस को आता देख छिप रहे हैं। मौके का लाभ उठाकर घरों में सामान स्टाक करने वाले यह व्यापारी माल को महंगा बेचने से भी नहीं कतरा रहे हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.