गंगा घाट पर हुई आरती, दिवंगतों के लिए दीप प्रवाहित

गंगा घाट पर हुई आरती, दिवंगतों के लिए दीप प्रवाहित

तीर्थनगरी शुकतीर्थ में कार्तिक पूर्णिमा गंगा स्नान की पूर्व संध्या पर गंगा घाट पर आरती हुई। इस दौरान दूर-दराज क्षेत्रों से आए हजारों श्रद्धालुओं ने अपने कुटुम्ब के दिवंगतों के लिए गंगा में दीप प्रवाहित किए। इस दौरान गंगा घाट पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। तीर्थनगरी में श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ती जा रही है जिसके चलते सभी रास्तों पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु ही नजर आ रहे है।

Publish Date:Sun, 29 Nov 2020 10:04 PM (IST) Author: Jagran

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। तीर्थनगरी शुकतीर्थ में कार्तिक पूर्णिमा गंगा स्नान की पूर्व संध्या पर गंगा घाट पर आरती हुई। इस दौरान दूर-दराज क्षेत्रों से आए हजारों श्रद्धालुओं ने अपने कुटुम्ब के दिवंगतों के लिए गंगा में दीप प्रवाहित किए। इस दौरान गंगा घाट पर बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात रहा। तीर्थनगरी में श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ती जा रही है, जिसके चलते सभी रास्तों पर बड़ी संख्या में श्रद्धालु ही नजर आ रहे है।

श्रीगंगा सेवा समिति की ओर से गंगा घाट पर रविवार की शाम को विधि-विधान से गंगा मंदिर में पूजन के बाद मां गंगा की आरती की गई। मां पूर्णागिरी मंदिर के महामंडलेश्वर गोपाल दास महाराज, श्री शुकदेव आश्रम के ज्योतिषाचार्य रामस्नेही महाराज, कथा व्यास अचल कृष्ण शास्त्री, कथा व्यास आशीष माधव शास्त्री, श्री गंगा सेवा समिति के महामंत्री महकार सिंह, श्री शुकदेव संस्कृत विद्यालय के प्रधानाचार्य गिरीशचंद उप्रेती, सुरेंद्र सिंह, पंडित देवेंद्र शर्मा, हितेश व देवेंद्र शास्त्री आदि मौजूद रहे। इस दौरान दूरदराज क्षेत्रों से आए श्रद्धालुओं ने अपने पुरखों को मोक्ष दिलाने के लिए कुशा के पात्र में दीप प्रज्वलित कर गंगा मे प्रवाहित किए और प्रियजनों के नाम से गरीबों को भोजन भी कराया। पुरुषों के साथ साथ अनेक महिलाओं ने भी अपने मृतक परिजनों को मोक्ष दिलाने के लिए पूजा-अर्चना कर दीप जलाकर गंगा में प्रवाहित किए। वहीं, एसडीएम जानसठ अजय अम्बष्ट ने भी गंगा घाट का निरीक्षण किया। पुलिस ने फूल व प्रसाद बेचने वालों की दुकानों को हटवा दिया व भीड़ लगाने पर कार्यवाही की चेतावनी दी गई। नगरी में श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ती जा रही है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.