सोलानी नदी में छोड़ा गया 15 हजार क्यूसेक पानी, खादर में बाढ़ का खतरा

उत्तराखंड की पहाड़ियों से सोलानी नदी में 15 हजार क्यूसेक पानी छोड़े जाने से पुरकाजी खादर के गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। बाढ़ चौकी पर तैनात स्टाफ के अनुसार सोलानी नदी का जल स्तर बढ़ने लगा है। रात में पानी गांवों में घुसने तथा तथा लक्सर हाईवे के दोनों रपटों पर पानी आने की आशंका जताई जा रही है। लोगों की आवाजाही के लिए नाव की व्यवस्था कर दी गई है। एसडीएम सदर ने खादर पहुंचकर स्थिति को देखा।

JagranWed, 28 Jul 2021 11:43 PM (IST)
सोलानी नदी में छोड़ा गया 15 हजार क्यूसेक पानी, खादर में बाढ़ का खतरा

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। उत्तराखंड की पहाड़ियों से सोलानी नदी में 15 हजार क्यूसेक पानी छोड़े जाने से पुरकाजी खादर के गांवों पर बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। बाढ़ चौकी पर तैनात स्टाफ के अनुसार सोलानी नदी का जल स्तर बढ़ने लगा है। रात में पानी गांवों में घुसने तथा तथा लक्सर हाईवे के दोनों रपटों पर पानी आने की आशंका जताई जा रही है। लोगों की आवाजाही के लिए नाव की व्यवस्था कर दी गई है। एसडीएम सदर ने खादर पहुंचकर स्थिति को देखा।

उत्तराखंड शासन से स्थानीय प्रशासन को 15 हजार क्यूसेक पानी छोड़े जाने की सूचना बुधवार को मिली। प्रशासन अलर्ट मोड़ पर आ गया। एसडीएम सदर दीपक कुमार ने खादर पहुंचकर स्थिति को देखा और अधीनस्थों को जरूरी निर्देश दिए। बाढ़ चौकी पर तैनात लेखपाल सोमनाथ ने बताया गया कि दोपहर से नदी का जलस्तर बढ़ना शुरू हो गया, जिसके चलते रात तक पानी के नदी से बाहर निकलने की आशंका है। लक्सर हाईवे के दोनों रपटों पर पानी आने की आशंका व्यक्त की गई है। आवाजाही के लिए नदी में नाव की व्यवस्था कर दी गई है। प्रभावित गांवों में धार्मिक स्थलों से लोगों को पानी से दूर रहने तथा एहतियात बरतने को कहा गया है। ग्रामीण जसविद्र सिंह, गुरुमेल बाजवा, राजू प्रजापति व मोनू कुमार आदि ने बताया कि पानी आने से रज्जकलापुर, भदौला, भदौली, रामनगर, अलमावाला, धुम्मनपुरी आदि गांव बाढ़ से घिर जाएंगे। बताया कि 19 जुलाई को आई बाढ़ से पशु चारे का संकट, कई दिन तक फसलों के पानी में डूबे रहने से किसानों का नुकसान हो गया था। कहा कि प्रशासन को ग्रामीणों के नुकसान का जायजा लेकर उनकी आर्थिक मदद करनी चाहिए।

---------

विधायक ने दो नाव और ट्रैक्टर ट्रालियां लगाने को कहा

पुरकाजी : भाजपा विधायक प्रमोद उटवाल ने बाढ़ के हालात को देखते हुए सीडीओ व एसडीएम सदर दीपक कुमार से स्थिति की जानकारी ली। उटवाल ने अफसरों से खादर के लोगों की दिक्कतों को देखते हुए एक की जगह दो नाव लगाने को कहा। कहा कि रपटों पर पानी आने के दौरान कुछ लोग ट्रैक्टरों से वाहनों को इधर से उधर ले जाने को लेकर नाजायज पैसे वसूलते हैं। विधायक ने अफसरों से सरकारी खर्च पर लोगों की सुविधा के लिए रपटों पर मुफ्त में ट्रैक्टर ट्राली लगवाने को कहा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.