Panchayat Assistant Recruitment : मुरादाबाद में साली को पत्नी दिखाकर बनवा दिया पंचायत सहायक, जानें कैसे की कागजों में हेराफेरी

UP Panchayat Sahayak Recruitment विकास खंड डिलारी के बाकरपुर अटायन गांव के एक व्यक्ति ने साली को पत्नी दर्शाकर पंचायत सहायक की नौकरी दिला दी। नियुक्ति के लिए उसकी पत्नी के आधार कार्ड और स्थायी निवास प्रमाण पत्र में भी हेराफेरी किए जाने का आरोप है।

Samanvay PandeyThu, 16 Sep 2021 11:52 AM (IST)
आधार कार्ड और निवास प्रमाण पत्र में हेराफेरी करके बदला नाम

मुरादाबाद, जेएनएन। UP Panchayat Sahayak Recruitment : विकास खंड डिलारी के बाकरपुर अटायन गांव के एक व्यक्ति ने साली को पत्नी दर्शाकर पंचायत सहायक की नौकरी दिला दी। नियुक्ति के लिए उसकी पत्नी के आधार कार्ड और स्थायी निवास प्रमाण पत्र में भी हेराफेरी किए जाने का आरोप है। डीपीआरओ ने इस मामले में जांच बैठा दी है। जांच के बाद ही आगे की कार्रवाई होगी। बाकरपुर अटायन गांव निवासी गुलशन फात्मा ने जिला पंचायत राज अधिकारी से शिकायत करके पंचायत सहायक की नियुक्ति पर सवाल खड़ा कर दिया है।

गुलशन के मुताबिक उसने अपने गांव में पंचायत सहायक के पद के लिए आवेदन किया था। इस पद पर मैरिट के आधार पर नियुक्ति होनी थी। इसी पद के लिए स्वादेकीन पुत्री मुहम्मद शरीफ निवासी सिहाली खद्दर ने आवेदन कर दिया। यह हमारे गांव के नाजिम हुसैन की साली है। उसने नाजिम पुत्र जफर निवासी बाकरपुर अटायन को फर्जी दस्तावेजों में अपना पति दर्शा दिया है, जबकि असलियत में स्वादेकीन की बहन शाहनाज परवीन नाजिम की पत्नी है। शाहनाज के स्थायी निवास प्रमाण पत्र और आधार कार्ड पर नाम बदल लिया गया है।

स्वादेकीन के नंबर उससे अधिक हैं, इसलिए मैरिट में उसका नाम आ गया। हालांकि, पूरी तरह से गलत दस्तावेजों पर नियुक्ति हुई है। स्वादेकीन के बहनोई नाजिम ने दस्तावेजों में हेराफेरी कराकर अपनी साली को नौकरी दिलाई है। इसमें ग्राम प्रधान एवं सचिव की भी साठगांठ है। इस मामले की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई कराई जाए। डीपीआरओ आलोक कुमार प्रियदर्शी ने बताया कि शिकायत मिली है।

मामले की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई कराएंगे। नाजिम हुसैन ने बताया कि स्वादेकीन मेरी पत्नी है। मैरिट के आधार पर उसकी नियुक्ति हुई है। किसी दस्तावेज में हेराफेरी नहीं हुई है। जांच में सारी सच्चाई सामने आ जाएगी। शरीफ अहमद ने बताया कि गांव-गांव पंचायत सहायक के पद को लेकर सियासत हो रही है। मेरी बेटी की मैरिट के आधार पर नियुक्ति हुई है। इससे अधिक कुछ नहीं कहूंगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.