UP Crime : चालक-परिचालक की हत्या कर ट्रक लूटने वाले गिरोह का पर्दाफाश, छह गिरफ्तार, तीन लक्जरी गाड़ियां बरामद

मंडल के सम्‍भल ज‍िले में 27 मई की रात चन्दाैसी बाइपास के निकट एक निजी फर्म के सामने माल उतारकर खड़े ट्रक को पांच लोगों ने लूट लिया था। इसके बाद चालक और क्‍लीनर की हत्‍या कर दी गई थी। पुलिस ने इस सनसनीखेज वारदात का पर्दाफाश कर द‍िया है।

Narendra KumarMon, 14 Jun 2021 03:17 PM (IST)
पीलीभीत के दो बदमाशों के साथ ही बरेली का मास्टर माइंड भी था शामिल।

मुरादाबाद, जेएनएन। मंडल के सम्‍भल ज‍िले में 27 मई की रात चन्दाैसी बाइपास के निकट एक निजी फर्म के सामने माल उतारकर खड़े ट्रक को पांच लोगों ने लूट लिया था। इन लोगों के साथ इस षड्यंत्र में बरेली व पीलीभीत के तीन और लोग शामिल हुए। चन्दौसी से बिसौली होते ट्रक को आंवला रोड ले जाया गया और भमौरा में चालक व क्‍लीनर की निर्मम तरीके से अंगोछा से गला दबाकर हत्या कर दी गई थी। घटना स्थल से 100 मीटर आगे राम गंगा पुल से अंगोछा सहित दोनों के शव को नदी में फेंक द‍िए गए थे। बदमाशों ने ट्रक का नंबर बदला और इसे बेचने की फिराक में थे लेकिन पुलिस ने उन्हें पीलीभीत में मुठभेड़ के बाद दबोच लिया। दो बदमाश फरार हो गए। सम्भल की पुलिस इन्हें लेकर आ गई। सोमवार को चन्दौसी कोतवाली में एसपी चक्रेश मिश्र ने प्रेसवार्ता के दौरान घटना का पर्दाफाश करते हुए आराेपितों से पूछताछ के आधार पर मिली जानकारी के तहत 27 मई से 13 जून की रात तक के घटनाक्रम से अवगत कराया।

27 मई को बिहार प्रांत के पूर्वी चंपारण स्थित तुमरिया टोला वार्ड नंबर पांच रक्सैल निवासी संतोष गिरी पुत्र बृजमोहन गिरी का ट्रक लेकर पूर्वी चंपारण के ही ग्राम विलासपुर रमगढ़वा निवासी चालक परमात्मा कुशवाहा पुत्र राजेंद्र कुशवाहा तथा हेल्पर इरशाद मियां पुत्र नरूप चन्दौसी बाइपास पर पहुंचे। यहां बीएन एडविन कंपनी में सोयाबीन के तेल उतारे और जाने की तैयारी करने लगे। उन्हें बदायूं से दूसरी लाेडिंग करनी थी। एसपी ने बताया कि 27 मई की ही रात 10.30 बजे के करीब किशनवीर पुत्र राम भजन निवासी प्रगति विहार चन्दौसी, हरीश पुत्र मुन्ना सिंह निवसी मऊ अस्सू थाना बनियाठेर, अनिल पुत्र कुंवरपाल निवासी प्रगति विहार चन्दौसी, मोमिन उर्फ राहुल पुत्र मुख्तयार निवासी राजथल थाना कूढ़फतेहगढ़ चन्दौसी चालक और हेल्पर से बात कर गाड़ी में बैठ गए। यहां से 200 मीटर आगे उन्हें सद्दाम पुत्र शब्बीर निवासी राजथल थाना कुढफतेहगढ़ मिला और वह भी सवार हो गया। पांचों लोग बिसौली के रास्ते भमौरा पहुंचे और वहां पर उन्हें राजवीर राठौर पुत्र रामस्वरूप निवासी नवादा बारादरी बरेली, शिशुपाल पुत्र सुरेश कुमार निवासी देवीपुरा गजरौला पीलीभीत, संतोष पुत्र चुन्नीलाल निवासी मीरपुर जहानाबाद पीलीभीत आए और सबने मिलकर चालक परमात्मा व हेल्पर इरशाद की हत्या कर दी। शव राम गंगा में फेंक दिया। किशनवीर व अन्य को 35000-35000 रुपये दिए और राजवीर, शिशुपाल व संतोष ट्रक लेकर चले गए। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने पीलीभीत से ट्रक बरामद कर घटना में शामिल तीन लक्जरी गाड़ी इनोवा, टवेरा व बोलेरो भी बरामद किया है। निशानदेही पर रामगंगा से परमात्मा व इरशाद के कंकाल भी बरामद किए। पुलिस ने आरोपितों को अपहरण, लूट, हत्या, षड्यंत्र सहित कई धाराओं में मुकदमा दर्ज कर आरोपितों को जेल भेज दिया है। अभी भी सद्दाम व अनिल फरार हैं। पुलिस टीम में शामिल इंस्पेक्टर देवेंद्र शर्मा, सर्विलांस प्रभारी सुंदर लाल, एसओजी प्रभारी मनोज वर्मा सहित पूरी टीम को एसपी, एएसपी आलोक जायसवाल, सीओ गोपाल सिंह ने जल्द पर्दाफाश के लिए शाबासी दी। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.