वाह! यूपी बोर्ड की अंक सुधार परीक्षा में एक परीक्षार्थी के लिए सम्भल में केंद्र पर लगा दी 11 शिक्षकों की ड्यूटी

UP Board Improvement Exam 2021 एसएम कालेज मेंं अंक परीक्षा सुधार हाई स्कूल व इंटर की परीक्षाएं चल रही हैं। सोमवार को दूसरी पाली में इंटर की परीक्षा हुई। केंद्र पर परीक्षा देने आये एक छात्र के लिए 11 कर्मियों की ड्यूटी लगी।

Samanvay PandeyMon, 20 Sep 2021 09:57 PM (IST)
एसएम इंटर कालेज में अंक सुधार परीक्षा में इंटर की परीक्षा।

मुरादाबाद, जेएनएन। UP Board Improvement Exam 2021 : एसएम कालेज मेंं अंक परीक्षा सुधार हाई स्कूल व इंटर की परीक्षाएं चल रही हैं। सोमवार को दूसरी पाली में इंटर की परीक्षा हुई। केंद्र पर परीक्षा देने आये एक छात्र के लिए 11 कर्मियों की ड्यूटी लगी। मात्र एक ही छात्र एक कक्ष में एक कुर्सी पर परीक्षा देते नजर आया, बाकी खाली कुर्सियां ही दिख रही थीं। तहसील क्षेत्र का अंक सुधार परीक्षा के लिए नगर का एसएम इंटर कालेज ही परीक्षा केंद्र बनाया गया है।

सोमवार को इंटर सामान्य आधारित विषय की परीक्षा थी। जिस पर तहसील क्षेत्र के मात्र बहजोई के इंटर कालेज बहजोई में एक छात्र ने ही यह विषय ले रखा था। इसलिए साेमवार को हुई दूसरी पाली मेंं इंटर की परीक्षा में परीक्षा केंद्र एसएम कालेज में अकेला ही परीक्षार्थी था। ऐसे में उसने अकेले बैठ कर परीक्षा दी और निर्धारित समय से पहले ही परीक्षा देकर निकल गया। परीक्षा दिलाने के परीक्षा केंद्र पर एक पर्यवेक्षक, स्टेटिक मजिस्ट्रेट, दो कक्ष निरीक्षक, तीन सचल दल, एक रिलीवर, एक परीक्षा सहायक सहित 11 कर्मचारी ड्यूटी पर रहें। प्रधानाचार्य राजेश गुप्ता ने बताया कि मंगलवार को भी सुबह की पाली में हाई स्कूल की एक ही छात्रा गृहविज्ञान का पेपर देंगी।

सम्भल जनपद मुख्यालय पर शिक्षकों ने किया धरना-प्रदर्शन : उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के तत्वावधान में शिक्षकों ने विभिन्न मांगो को लेकर डीआईओएस कार्यालय पर धरना-प्रदर्शन किया। वहीं मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन भी उन्हें सौंपा गया। सोमवार को उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षक संघ के तत्वावधान में शिक्षक डीआईओएस कार्यालय पर एकत्रित हुए। उन्होंने विभिन्न मांगो को लेकर धरना-प्रदर्शन किया। जिलाध्यक्ष शिवेंद्र पाल सिंह ने कहा कि शिक्षकों की पुरानी पेंशन सरकार को बहाल करनी चाहिए।

विद्यालय को दो पारियों में सुबह बजे से अपराह्न साढ़े चार बजे तक चलाने एवं शिक्षक शिक्षिकाओं को अनावश्यक रूप से शिक्षा अधिनियम में वर्णित व्यवस्था के विपरीत रोके जाने के संबंध में आवश्यक कार्रवाई करते हुए विद्यालय का संचालन शिक्षा अधिनियम के अनुसार किया जाए। वहीं कोरोना काल में मृतक शिक्षक के स्वजन को राहत राशि 50 लाख रुपये दी जाए। कंप्यूटर एवं व्यवसायिक शिक्षकों को स्थाई शिक्षक का दर्जा दिया जाए तथा उत्तर प्रदेश शिक्षा सेवा अधिकरण विधेयक-2021 शिक्षकों, कर्मचारियों के हितों को बाधित एवं विलंब करेगा।

इसलिए इसे वापस लिया जाए। विषय विशेषज्ञों को पूर्व की भांति सेवा का लाभ दिया जाए। माध्यमिक विद्यालयों में कार्यरत शिक्षकों एवं कर्मचारियों को चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध कराई जाए। अंत में शिक्षकों ने कलेक्ट्रेट पर पहुंच कर मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन जिलाधिकारी के कैलादेवी जाने पर उनके स्टेनो को सौंप दिया। इस दौरान संजीव कुमार कपूर, एके सिंह, प्रभुदयाल, बृजलाल, डा. उमेश कुमार, धनंजय आर्य, विमलेश कुमारी आदि शिक्षक उपस्थित थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.