UP board exam 2021 : बोर्ड कॉप‍ियों के मूल्‍यांकन अब तक नहीं हो पाया भुगतान, परीक्षा का बह‍िष्‍कार करने की चेतावनी

उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ सेवारत गुट ने ज्ञापन सौंपा।

Moradabad Exam Copy Checking Remuneration Payment बोर्ड परीक्षाओं में कॉपियों के मूल्यांकन का अब तक भुगतान नहीं हो पाया है। उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ सेवारत गुट ने इस मामले को लेकर ज्ञापन भी सौंपा है। जल्‍द ही भुगतान न होने पर कार्य बह‍िष्‍कार की चेतावनी भी दी गई है।

Publish Date:Sat, 23 Jan 2021 04:56 PM (IST) Author: Narendra Kumar

मुरादाबाद, जेएनएन। Moradabad Exam Copy Checking Remuneration Payment। यूपी बोर्ड परीक्षाओं में उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्याकंन के लिए हर वर्ष शिक्षकों की ड्यूटी लगाई जाती है। कॉपी चेक करने के बदले में उन्हें इसका पारिश्रमिक भी दिया जाता है। लेकिन, 2019 से इस पारिश्रमिक का भुगतान ही नहीं हुआ है। जबकि, 2021 की बोर्ड परीक्षाएं सिर पर आ गई हैं। ऐसे में उप्र माध्यमिक शिक्षक संघ सेवारत गुट ने जिला विद्यालय निरीक्षक प्रदीप कुमार द्विवेदी को ज्ञापन सौंपा और जल्द पारिश्रमिक भुगतान की मांग की।

प्रांतीय मंत्री सुनीत गिरी ने बताया कि अगर जल्द पारिश्रमिक का भुगतान न हुआ तो शिक्षक बोर्ड परीक्षाओं को बहिष्कार करेंगे। संगठन के जिलाध्यक्ष सुखबीर सिंह ने बताया कि 2019 और 2020 में उत्तर पुस्तिकाओं के मूल्यांकन का कुल 19,37,470 पारिश्रमिक बकाया है। इसमें 2019 का मूल्यांकन केंद्र जीजी हिंदू इंटर कॉलेज मुरादाबाद का 31,7305 तथा पारकर इंटर कॉलेज मुरादाबाद का 33, 6327 शेष है। इस प्रकार वर्ष 2019 का कुल 65,3632 शेष है। वहीं 2020 में मूल्यांकन केंद्र चित्रगुप्त इंटर कॉलेज मुरादाबाद का 31,800, पारकर इंटर कॉलेज मुरादाबाद का 8654, जीजी हिंदू इंटर कॉलेज मुरादाबाद का 35,657, आरएन इंटर कॉलेज मुरादाबाद का 89,047, हैबिट मुस्लिम इंटर कॉलेज मुरादाबाद का 55,6290, अंबिका प्रसाद इंटर कॉलेज मुरादाबाद का 5,42,544 व एसएस इंटर कॉलेज मुरादाबाद का 21,835 शेष है। इस प्रकार वर्ष 2020 का कुल रुपये 12,83,838 शेष हैंं। जिलामंत्री पुष्पेश मिश्र ने कहा कि अगर जल्द भुगतान नहीं होता है तो शिक्षक इस बार होने वाली परीक्षाओं का बहिष्कार करेंगे। इसके अलावा शिक्षकों की एनपीएस में अंंशदान कटौती संबंधी मांग भी शिक्षकों ने रखी, जिसपर जिला विद्यालय निरीक्षक ने तुरंत प्रधानाचार्यों को आदेश पारित कर अंशदान का विकल्प मांगने के निर्देश दिए। इस दौरान कोषाध्यक्ष राकेश कुमार वर्मा, फैसल मसरूर सिद्दीकी, अनिल कुमार, मयंक त्यागी, वीरेंद्र सिंह मौजूद रहे। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.