फर्नीचर बनाने का ठेका दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले तीन बदमाश सम्भल मेेंं गिरफ्तार

Thugs of Moradabad सम्भल के हयातनगर थाना क्षेत्र में पुलिस ने गश्त के दौरान मुखबिर की सूचना पर ठेका दिलवाने के नाम पर ठगी करने वाले अंतर जनपदीय गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है।पुलिस ने साढ़े सात लाख रुपये भी बरामद किए हैं।

Samanvay PandeyMon, 02 Aug 2021 08:46 PM (IST)
पकड़े गए आरोपितों से साढे सात लाख रुपये नगद व अलग अलग नाम व पते वाली फर्जी आईडी बरामद

मुरादाबाद, जेएनएन। Thugs of Moradabad : सम्भल के हयातनगर थाना क्षेत्र में पुलिस ने गश्त के दौरान मुखबिर की सूचना पर ठेका दिलवाने के नाम पर ठगी करने वाले अंतर जनपदीय गिरोह के तीन सदस्यों को गिरफ्तार किया है। पुलिस ने तीनों आरोपितों के पास से साढ़े सात लाख रुपये नकद व एक ही नाम वाली अलग अलग पते की फर्जी आइडी भी बरामद की है। पुलिस के मुताबिक आरोपित ठग किसी नए व्यक्ति को फंसाने के लिए योजना बना रहे थे। 

सोमवार को थाना उप निरीक्षक नवीन कुमार शर्मा पुलिस टीम के क्षेत्र में गश्त कर रही थी। तभी मुखबिर ने सूचना दी कि कुछ ठग कस्बे में स्थित चामुंडा मंदिर के पास बैठे हुए और किसी घटना को अंजाम देने की रणनीति बना रहे है। उसने बताया कि यह ठग पूर्व में भी घटनाओं को अंजाम दे चुके है। इस पर उप निरीक्षक मुखबिर द्वारा कस्बे में बताए गए चामुंडा मंदिर पर पहुंच गए। जहां पर देखा कि तीन व्यक्ति आपस में कोई चर्चा कर रहे है।

इस पर पुलिस टीम ने उनकी घेराबंदी करने करना शुरू कर दिया, लेकिन जैसे ही तीनों ने पुलिस टीम को देखा तो वहां से भागने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने उन्हें पकड़ लिया और हिरासत में कर थाने ले आयी। जहां पूछताछ के दौरान पकड़े गए आरोपितों ने अपना चरन सिंह उर्फ सलीम निवासी अख्त्यारपुर थाना अगौता बुलंदशहर, अंकित उर्फ दीपक निवासी मुहल्ला कानून गोयान, खिड़की बाजार पापड़ वाली गली थाना व जिला हापुड तथा शिवम उर्फ लाल सिंह निवासी गांव चचोई थाना खुर्जा जिला बुलंदशहर बताया।

पुलिस टीम ने बताया कि तलाशी के दौरान पकड़े गए आरोपित चरन सिंह के पास से दो हजार व पांच सौ के नोट की तीन लाख रुपये की नगदी, अंकित के पास से पांच सौ के नोट की तीन लाख रुपये की नगदी के साथ उसकी व चरन सिंह की अलग अलग नाम व पते वाली कई आईडी तथा शिवम उर्फ लाल सिंह के पास से दो हजार व पांच सौ के नोट की डेढ़ लाख रुपये की नकदी बरामद हुई।

पूछताछ के दौरान आरोपितों ने बताया कि वह सरकारी या निजी कहीं भी फर्नीचर के काम का टेंडर दिलवाने का झांसा देकर लोगों के साथ बेइमानी से ठगी करते है और इसके लिए वह जगह बदलकर काम करते थेेेे। अप्रैल में थाना क्षेत्र के गांव रसूलपुर निवासी कारपेंटर इसरार से आठ लाख रुपये की ठगी कर ली थी और उसका सारा पैसा बांट लिया था। लोगों को अपना नाम व पता अलग अलग बताते थे।इसके लिए उन्होंने अपनी फर्जी आईडी भी बनवा रखी है। आज भी हयातनगर में किसी नए व्यक्ति को फंसाने के लिए पूर्व में लूटी गई रकम को साथ लेकर आए थे, लेकिन पकड़े गए।

प्रभारी निरीक्षक सतेंद्र भडाना ने बताया कि लोगों को टेंडर के नाम पर झांसा देकर ठगी करने वाले तीन ठगों को गिरफ्तार किया गया है। जिनके पास से साढ़े सात लाख रुपये की नगदी व अलग अलग नाम और पते वाली फर्जी आईडी भी बरामद हुई है। आरोपितों से पूछताछ की जा रही है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.