किशोरी से दुष्कर्म करने के दोषी को दस साल कैद की सजा, बीमार पत्नी की देखभाल के लिए दोषी घर लाया था रिश्तेदार की बेटी

Imprisonment for Misdeeding Teenager रिश्तेदारी में आई किशोरी के साथ दुष्कर्म करने के आरोप में अदालत ने एक को दोषी मानकर उसे दस साल की सजा सुनाने के साथ ही 25 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। घटना वर्ष 2012 में बिलारी थाना क्षेत्र में हुई थी।

Samanvay PandeyThu, 16 Sep 2021 05:50 PM (IST)
घटना वर्ष 2012 में मुरादाबाद के बिलारी थाना क्षेत्र में हुई थी।

मुरादाबाद, जेएनएन। Imprisonment for Misdeeding Teenager : रिश्तेदारी में आई किशोरी के साथ दुष्कर्म करने के आरोप में अदालत ने एक को दोषी मानकर उसे दस साल की सजा सुनाने के साथ ही 25 हजार रुपए का जुर्माना भी लगाया है। घटना वर्ष 2012 में बिलारी थाना क्षेत्र में हुई थी। स्थानी निवासी आलम की पत्नी की तबीयत खराब चल रही थी। जिस कारण पत्नी की देखभाल के लिए वह अपने रिश्तेदार की नाबालिग बेटी को घर ले आया था। आरोप है कि अपने घर लाकर आलम ने उसके साथ दुराचार किया। बाद में किसी से बताने पर जान से मारने की धमकी दी।

घटना के कुछ दिनों बाद किशोरी अपने घर चली गई। इसके बाद वह गर्भवती हुई तो परिजनों ने पूछताछ की। जिस पर उसने पूरा मामला बता दिया। परिजनों ने आलम के खिलाफ महिला थाने में मुकदमा दर्ज करा दिया था। बाद में यह मामला बिलारी कोतवाली ट्रांसफर कर दिया गया। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। वाद-विवेचना के बाद पुलिस ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी थी। इस मामले की सुनवाई एडीजे फास्ट ट्रैक कोर्ट संख्या चार में चल रही थी। बुधवार को इस मामले में सुनवाई हुई। दोनों पक्षों की दलील सुनने के बाद कोर्ट ने आरोपित आलम को दोषी मानते हुए दस साल की सजा सुनाई है। साथ ही 25 हजार का जुर्माना भी लगाया गया है।

पत्नी से खफा युवक ने जहर खाकर दी जान : मूंढापांडे थाना क्षेत्र में बुधवार सुबह एक पत्नी से नाराज युवक ने जहर खाकर जान दे दी। मृतक के स्वजनों ने उसकी पत्नी पर गांव के ही युवक से संबंध होने का आरोप लगाते हुए कार्रवाई करने की मांग की। साथ ही शव थाने के बाहर रखकर जमकर प्रदर्शन करते हुए हंगामा भी किया। मृतक की पत्नी के प्रेमी और उसके भाई पर हत्या किए जाने का आरोप लगा रहे थे। पुलिस ने किसी तरह समझा-बुझाकर परिजनों को शांत किया। देर शाम आई पोस्टमार्टम रिपोर्ट में जहर खाने से मौत होने की पुष्टि हुई।

जहर खाने से मरने वाले धर्मेंद्र कुमार मूंढापांडे थाना क्षेत्र के मानपुर पट्टी गांव के रहने वाला था। उसकी शादी करीब पंद्रह साल पहले बरेली के मीरगंज स्थित कपूरपुर गांव निवासी संध्या के साथ हुई थी। उसके तीन बच्चे सोनम, अनिकेत व अतुल हैं। मृतक के भाई महेश कुमार के अनुसार धर्मेंद्र की अपनी पत्नी के व्यवहार के कारण तनाव में रहता था। करीब एक माह पूर्व वह मायके चली गई थी। मायके वालों ने उसकी बाइक भी छीन ली थी। इस कारण धर्मेंद्र शराब पीने लगा। बुधवार सुबह उसका शव खेत में पड़ा मिला। पुलिस ने सूचना मिलने पर शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भिजवाया।

पोस्टमार्टम के बाद परिवार वालों ने थाने के बाहर शव रखकर जमकर प्रदर्शन किया। उन्होंने धर्मेंद्र की पत्नी के प्रेमी और उसके भाई के खिलाफ हत्या करने की तहरीर दी है। पुलिस ने किसी तरह समझाकर शांत किया। इंस्पेक्टर मूंढापांडे ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। पिता की मौत से बेसुध हुए मासमूपिता की मौत की सूचना पाकर परिवार वालों के अलावा छोटे-छोटे बच्चे सोनम, अनिकेत व अतुल बेसुध हो गए। परिवार और रिश्तेदार उन्हें ढांढस बंधा रहे थे। वहीं दूसरी ओर परिवार के लोग मृतक की पत्नी को ही धर्मेंद्र की मौत के लिए जिम्मेदार ठहरा रहे थे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.