Road Accident : मुरादाबाद में दिल्ली-लखनऊ मार्ग पर कार की टक्‍कर से मासूम की मौत, प‍िता और पुत्र घायल

हादसे ने मासूम की मौत हो गई जबक‍ि पिता और पुत्र घायल हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को जिला अस्पताल भिजवाया। जबकि मासूम के शव का स्‍वजनों के सुपुर्द कर दिया गया। पुलिस कार सहित चालक को पकड़कर थाने ले आई।

Narendra KumarFri, 25 Jun 2021 03:05 PM (IST)
स्‍वजनों ने किसी भी तरह की कार्रवाई के लिए पुलिस से मना कर दिया है।

मुरादाबाद, संवाद सहयोगी। दिल्ली-लखनऊ मार्ग पर बस का इंतज़ार कर रहे पिता और पुत्रों को कार सवार ने रौंद द‍िया। हादसे ने मासूम की मौत हो गई जबक‍ि पिता और पुत्र घायल हो गए। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घायलों को जिला अस्पताल भिजवाया। जबकि मासूम के शव को स्‍वजनों के सुपुर्द कर दिया। पुलिस कार सहित चालक को पकड़कर थाने ले आई। स्‍वजनों ने किसी भी तरह की कार्रवाई के लिए पुलिस से मना कर दिया है।

पाकबड़ा थाना क्षेत्र के धनुपुरा गांव निवासी मास्टर कय्यूम परचून कारोबारी हैं। कय्यूम के परिवार में पत्नी सहित दो लड़के और तीन लड़की हैं। शुक्रवार की सुबह कय्यूम अपने दोनों बेटे फईम और अब्दुल करीम के साथ लोदीपुर सीएनजी पंप गए थे। कय्यूम के बड़े बेटे को फईम को दिल्ली जाना था। ल‍िहाजा तीनों पिता और पुत्र सड़क के किनारे खड़े होकर वाहन का इंतजार कर रहे थे। इस दौरान द‍िल्‍ली की ओर से आ रही कार ने तीनों पिता पुत्रों को कुचल दिया। हादसे के बाद मौके पर भीड़ जमा हो गई। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस भी घटनास्थल पर आ गयी। हादसे के दौरान मासूम अब्दुल करीम की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि कय्यूम और बड़ा बेटा फईम गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने घायल पिता-पुत्र को अस्पताल भर्ती कराया। जबकि मासूम के शव का पंचनामा भरकर स्‍वजनों के सुपुर्द कर दिया। पुलिस कार सवार युवक को पकड़कर थाने ले आई। घटना की सूचना म‍िलने पर स्‍वजन बदहवास हो गए। कार चालक ने अपना नाम शशांक निवासी बरेली बताया। स्‍वजनों ने किसी भी तरह की कार्रवाई करने के लिए पुलिस से साफ मना कर दिया।

पर‍िवार से सबसे छोटा था करीम : कय्यूम के परिवार में 12 वर्षीय अब्दुल करीम सबसे छोटा था। अब्दुल करीम पाकबड़ा में कक्षा पांच का छात्र था। अब्दुक करीम घर में छोटा होने के नाते सभी भाई-बहनों व माता-पिता का लाडला था। पिता कय्यूम बड़े बेटे फईम को छोड़ने बाइक से आए थे। इस  दौरान करीम भी साथ जाने की जिद करने लगा। ऐसा नहीं मालूम था क‍ि वह दुन‍िया छोड़कर चला जाएगा। अब्दुल करीम की मौत से मां और बहनों का रो-रोकर बुरा हाल है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.