भाजपा सरकार में बने कृषि सुधार कानून किसान विरोधी, ये नहीं क‍िए जाएंगे स्‍वीकार : वसीम राजा

राष्ट्रीय लोकदल युवा के राष्ट्रीय अध्यक्ष वसीम राजा ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को आज भी किसानों के मसीहा के नाम से जाना जाता है। भारतीय जनता पार्टी उद्योगपतियों के इशारे पर सरकार चला रही है।

Narendra KumarFri, 23 Jul 2021 12:52 PM (IST)
रालोद ने जनसंवाद कार्यक्रम में चलाया सदस्यता अभियान।

मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। राष्ट्रीय लोकदल युवा के राष्ट्रीय अध्यक्ष वसीम राजा ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह को आज भी किसानों के मसीहा के नाम से जाना जाता है। भारतीय जनता पार्टी उद्योगपतियों के इशारे पर सरकार चला रही है। तीनों कृषि सुधार कानून किसान विरोधी हैं। इसलिए किसान इन्हें किसी भी हाल में स्वीकार नहीं करेंगे। भाजपा की सरकार में वोट देने के बाद भी किसानों को सम्मान नहीं मिला। इसका जवाब यूपी में होने वाले विधानसभा चुनाव में दिया जाएगा।

वह राष्ट्रीय लोकदल के जनसंवाद कार्यक्रम एवं सदस्यता अभियान कार्यक्रम में बोल रहे थे। मुरादाबाद के गांव अलीपुरा, शाहपुर, पैगंबरपुर, जमानिया खंडसा, शेखपुरा, देहरी पोटा निधि आदि गांव में अभियान की सफलता के लिए पहुंचे। यहां रालोद की नीतियों के बारे में बताकर लोगों को पार्टी की सदस्यता दिलाई। मुख्य अतिथि ने कहा कि चौधरी चरण सिंह ने किसानों को कृषि भूमि का मालिक बनाया। भारतीय जनता पार्टी किसान विरोधी पार्टी है, जिस तरह से लोग राष्ट्रीय लोकदल से जुड़ रहे हैं। इससे लगता है कि आने वाला समय राष्ट्रीय लोक दल का होगा। मुख्य अतिथि अशफाक अली खान ने कहा कि मौसम खराब होने के बावजूद बड़ी संख्या में लोग हमारी बैठकों में आ रहे हैं। किसान व युवा राष्ट्रीय लोक दल से जुड़े रहे हैं। राष्ट्रीय लोक दल मजबूत पकड़ के साथ उभरेगा। इस दौरान अजीत सिंह को रुहेलखंड क्षेत्र का वरिष्ठ उपाध्यक्ष बनाया। इस मौके पर राजवीर सिंह गुर्जर, मंगू त्यागी, राशिद अली, रामवीर सिंह, अमित चौधरी, सचिन हलावत, कनुज चौधरी, अभिजीत चौहान, सौरभ चौधरी, मतलूब अहमद आदि मौजूद रहे।

ब‍िना अनुमत‍ि काटे जा रहे हरे पेड़ : अमरोहा के ढवारसी में आदमपुर थाना क्षेत्र के सांथलपुर गांव में कब्रिस्तान के चारों ओर मुस्लिम समाज के लोगों द्वारा यूकेलिप्टस तथा अन्य प्रजाति के पेड़ लगा रखे थे। पेड़ बडे़ होने पर कब्रिस्तान की तारबंदी कराने एवं हैंडपंप लगवाने की दृष्टि से लोगों ने एक लकड़ी व्यापारी को बेच दिए थे। पेड़ खरीदने के बाद  व्यापारी ने मजदूर लगाकर लकड़ी काटनी शुरू कर दी। उधर बिना अनुमति के पेड़ काटने की सूचना लेखपाल ने थाना पुलिस को दी। पुलिस ने पेड़ काटने से रोकते हुए तीन लोगों को हिरासत में ले लिया है। पुलिस ने लेखपाल की तहरीर पर एक व्यक्ति के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है। मुस्लिम समाज के लोगों का कहना है कि उन्होंने कब्रिस्तान की चारदीवारी व सफाई कराने की नीयत से पेड़ पालकर तैयार किए हैं। पेड़ बेचकर धनराशि कब्रिस्तान में ही लगाई जानी है। उधर लेखपाल जितेंद्र सिंह का कहना है कि कब्रिस्तान व ग्राम समाज की भूमि राजकीय संपत्ति होती है। पेड़ काटने के लिए अनुमति नहीं ली गई है। इसलिए, कार्रवाई कराई जा रही है। प्रभारी निरीक्षक राजकुमार सरोज का कहना है कि लेखपाल की तहरीर पर एक व्यक्ति के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की गई है। उधर एसडीएम संजय बंसल ने मामला संज्ञान में होने से इंकार किया है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.