मुरादाबाद में सामूहिक पलायन पर अड़े शिव मंदिर काॅलोनी के लोग, कहा-जहां असुरक्षा महसूस हो वहां रहने का मतलब नहीं

दूसरे समुदाय की मनमानी के कारण वहां से हिंदू परिवार घर बेचकर पलायन कर रहे हैं। मांग है कि प्रशासन इस पर अंकुश लगाए अगर मांग पूरी नहीं होती है तो असुरक्षित माहौल में रहने से अच्छा कि बचे हुए परिवार भी पलायन कर लें।

Narendra KumarWed, 04 Aug 2021 12:33 PM (IST)
कालोनी के लोगों का समझाने के लिए पहुंचे जिलाधिकारी और एसएसपी।

मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। शिव मंदिर कालोनी में सामूहिक पलायन का मुद्दा तूल पकड़ता जा रहा है। एक ओर प्रशासन कालोनी के लोगों को सामूहिक पलायन न करने के लिए मनाने में जुटा हुआ है। वहीं, कालोनी के लोग उनकी मांग नहीं माने जाने पर सामूहिक रूप से पलायन करने की जिद पर अड़े हुए हैं। इस मुद्दे को लेकर हिंदूवादी संगठन भी सक्रिय हो गए हैं। मामले की गंभीरता को देखते हुए जिलाधिकारी और एसएसपी ने कालोनी में पहुंचकर लोगों के साथ बातचीत की। बैठक में तय हुआ कि कालोनी के लोग अपनी एक कमेटी बनाएंगे और उसके बायलाज वे अपने अनुसार निर्धारित करेंगे। कालोनी में आगे से मकान की खरीद बिक्री कमेटी के माध्यम से तय होगी।

यह है पूरा मामला : शिव मंदिर कालोनी में 81 आवास हैं। यहां सभी मिल जुलकर एक परिवार की तरह रहते हैं। कालोनी के बाहर एक गेट भी लगा हुआ है, इससे हर किसी को कालोनी में प्रवेश की अनुमति नहीं है। कालाेनी की शुरुआत वाले दो मकान को कुछ समय पहले दूसरे समुदाय के लोगों को बेच द‍िया गया। जिनके मकान थे, वह हिंदूवादी संगठनों से जुड़े हैं। जो दो मकान बेचे गए हैं, वह कालोनी के गेट पर पर शुरुआत में ही हैं। कालोनी के लोगों का कहना है कि दूसरे समुदाय के लोगों के आने से परेशानी खड़ी होने लगी हैं। पिछले दिनों ईद के मौके पर खुलेआम कालोनी में कुर्बानी दी गई, जबकि मंदिर भी कालोनी के नजदीक है। कुर्बानी का विरोध करने पर ओज को खुलेआम कालोनी में फेंक दिया गया। नगर निगम ने भी दो तीन दिन बाद उसे वहां से हटाया। इसके अलावा जो मकान बिके हैं, वह कालोनी के ठीक एंट्री पर ही है। इसके कारण दूसरे समुदाय के लोगों के साथ असामाजिक तत्वों की आवाजाही बढ़ गई है और महिलाएं और बेटियां असुरक्षित महसूस कर रही हैं। स्थानीय निवासी वरद शर्मा ने बताया कि लाजपत नगर कालोनी में लगातार मकान बिक रहे हैं। दूसरे समुदाय की मनमानी के कारण वहां से हिंदू परिवार घर बेचकर पलायन कर रहे हैं। हमारी मांग है कि प्रशासन इस पर अंकुश लगाए, अगर उनकी मांग पूरी नहीं होती है तो असुरक्षित माहौल में रहने से अच्छा कि बचे हुए परिवार भी पलायन कर लें।

महिलाओं ने भी उठाई आवाज : कालोनी में पुरुषों के साथ महिलाएं भी आगे आ रहीं हैं। विभिन्न संगठनों के पहुंचने के बाद महिलाओं ने भी सामूहिक पलायन वाली पट्टियां हाथ में लेकर विरोध जताया। उनका कहना था कि जहां अपने रीति रिवाज का पालन करने में भी विरोध का सामना पड़े और सुरक्षित महसूस न करें तो वहां रहने का कोई मतलब नहीं रह जाता है।

डीएम और एसएसपी ने कालोनी में पहुंचकर लोगों से मांगी जानकारी : स्थानीय लोग लगातार बेचे गए मकानों का बैनामा कैंसिल कराने की मांग कर रहे हैं। डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह के साथ ही एसएसपी पवन कुमार मौके पर पहुंचे और लोगों से बातचीत करने के साथ ही समाधान का रास्ता तलाशने का आश्वासन दिया। मौका मुआयना करने के बाद कालोनी के लोगों से रामलीला मैदान में सीधा संवाद किया। इस दौरान पूर्व पार्षद विवेक शर्मा ने कहा कि वर्ग विशेष के लोगों द्वारा एक साजिश के तहत महंगे दामों पर आवासों को खरीदा जा रहा हैं। दो साल के में 57 आवास को बेचा जा चुका है। इस पूरे मामले की जांच होनी चाहिए। इस दौरान संजीव कश्यप, पार्षद पूनम बंसल रजिस्ट्री कैंसिल करने की मांग की। जिलाधिकारी ने स्थानीय लोगों से कहा कि वह एक सप्ताह में समिति बनाएं। समिति के निर्णय के आधार पर आवास खरीद-बिक्री का निर्णय किया जाए। बैठक में मौजूद एसएसपी पवन कुमार ने कहा कि किसी को डरने की जरूरत नहीं है। अगर कोई परेशानी है तो वह सीधा संवाद कर सकते हैं। बातचीत से ही समस्या का समाधान निकाला जा सकता है।

टूट रहा सामाजिक तानाबाना : स्थानीय लोगों का कहना है कि सामाजिक ताने बाने को जानबूझकर तोड़ने का प्रयास किया जा रहा है। दूसरे वर्ग का अनुचित तरीके से वहां मकान खरीदने का औचित्य नहीं है। यह आए दिन विवाद का कारण बनेगा। जिन लोगों ने मकान खरीदे हैं, उन्हाेंने बाजार रेट से अधिक भुगतान किया है। इस बात की जांच होनी चाहिए कि आखिर बाजार भाव से अधिक मूल्य चुकाकर मकान क्यों खरीदे गए।

रिपोर्ट में पलायन की बात को बताया गलत : इस मामले में एसीएम प्रथम राजेश कुमार और सीओ कटघर मनीष कुमार की रिपोर्ट भी सामने आई है। इस रिपोर्ट में अफसरों ने दावा किया है कि पलायन की बात ठीक नहीं है।

हिंदू युवा वाहिनी के नेताओं ने दी चेतावनी : हिंदू युवा वाहिनी मंडल प्रभारी एनपी सिंह अपने साथियों के साथ शिवमंदिर कालोनी में पहुंचे। इस दौरान उन्होंने कालोनी के लोगों से बातचीत करने के साथ ही अफसरों से भी बात की। उन्होंने अफसरों से कहा कि अगर हिंदू समुदाय के किसी भी परिवार का पलायन हुआ तो आंदोलन किया जाएगा। वहीं, प्रशासन निष्पक्ष कार्रवाई करें। वहीं, शिवसेना जिला प्रमुख वीरेंद्र अरोड़ा ने भी अपनी टीम के साथ कालोनी के लोगों से मुलाकात की और इस मुद्दे को लेकर आंदोलन चलाने की चेतावनी दी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.