Panchayat Election 2021 : मुरादाबाद में वार्डों का परिसीमन फाइनल, अब आरक्षण का करना होगा इंतजार

परिसीमन पर मुहर लगाने से पहले डीएम ने ओबीसी का रैपिड स‌‌र्वे की रिपोर्ट मांगी।

Three tier Panchayat elections in Moradabad त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के वार्डों के परिसीमन को अब फाइनल कर द‍िया गया है। इसके अलावा वार्डों की सूचियां ब्लॉक मुख्यालयों पर चस्पा करा दी गईं हैं। अब दावेदारों को आरक्षण का इंतजार है।

Narendra KumarSun, 17 Jan 2021 12:10 PM (IST)

मुरादाबाद, जेएनएन। Three tier Panchayat elections in Moradabad। शनिवार की शाम त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के वार्डों के परिसीमन को डीएम राकेश कुमार सिंह की अध्यक्षता वाली चार सदस्यीय कमेटी ने मुहर लगाकर फाइनल कर दिया। इसके बाद वार्डों की सूचियां ब्लॉक मुख्यालयों पर चस्पा करा दी गईं हैं। इस बीच डीएम ने पिछड़ा जाति के रैपिड सर्वे की रिपोर्ट मांग ली।

पंचायत चुनाव की तैयारी करने वाले संभावित दावेदारों को अब आरक्षण का इंतजार करना होगा। इसके बाद ही पंचायतों की स्थिति साफ होगी। जिले में ग्राम पंचायतों, क्षेत्र पंचायतों और जिला पंचायत के वार्डों के परिसीमन की अंत‍िम सूची प्रकाशन होने के बाद 261 आपत्तियां आईंं थीं। इन आपत्तियों का निस्तारण करने में पंचायत विभाग की टीम को काफी मशक्कत करनी पड़ी। परिसीमन से पहले 62 नई ग्राम पंचायतों का गठन हुआ। इसलिए हर ब्लॉक में वार्डों की संख्या भी बढ़नी तय थी। सहायक विकास अधिकारियों ने परिसीमन के दौरान घालमेल कर दिया। गांवों को अपने हिसाब से जिला पंचायत के वार्डों में जोड़ दिया था। जिला पंचायत के वार्डों में ग्राम पंचायतों को क्रम से नहीं लगाया था। विकास खंड डिलारी में ग्राम पंचायत के वार्डों में 85 आपत्तियां आईं। कुंदरकी में जिला पंचायत के वार्डों में सबसे अधिक खामियां हैं। इसलिए लोगों ने 45 आपत्तियां दाखिल करके विरोध जताया। मूंढापांडे में भी परिसीमन में ब़ड़ा खेल हुआ था। मुख्य विकास अधिकारी आनंद वर्धन ने शिकायतें मिलने पर इसे गंभीरता से लेकर आपत्तियों का निस्तारण कराया। गुरुवार को देर शाम तक पांच ब्लॉकों के ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायतों के वार्डों के परिसीमन की खामियां दूर करके फाइनल कर दिया है। शुक्रवार को कुंदरकी और बिलारी ब्लॉकों के परिसीमन की खामियां दूर करके फाइनल कर दिया था। शनिवार को सुबह से ही जिला पंचायत राज अधिकारी की अगुवाई में पंचायत विभाग की टीम परिसीमन को दुरुस्त करने में जुटी रही। जिला पंचायत राज अधिकारी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि पीपलसाना और सहसपुर जिले की दो सबसे बड़ी ग्राम पंचायतें हैं। इन्हें जिला पंचायत के दो वार्डों में शामिल किया गया है। परिसीमन के दौरान कोशिश यह रही है कि मतदाता को कोई परेशानी न हो। देर शाम को परिसीमन की अंतिम सूचियां ब्लॉक मुख्यालयों पर चस्पा करा दी गई हैं। ग्राम पंचायतों में रविवार को सुबह परिसीमन की अंतिम सूचियां चस्पा होंगी। इसके बाद अब 24 जनवरी से आरक्षण की प्रक्रिया शुरू होनी है।

रैपिड सर्वे से किया गया जनसंख्या का मिलान

जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने पिछड़ी जाति के रैपिड सर्वे से ग्राम पंचायतों की जनसंख्या का मिलान कराया। सर्वे से देखा गया कि किस गांव में कितनी आबादी किस वर्ग की है। ग्राम पंचायतों और वार्डों की जनसंख्या का भी इसी से पता लगाया गया। डीएम के अलावा कमेटी में मुख्य विकास अधिकारी आनंद वर्धन, अपर मुख्य अधिकारी शिशुपाल शर्मा और जिला पंचायत राज अधिकारी शामिल थे। इन्हीं चारों अधिकारियों ने परिसीमन की अंतिम सूची फाइनल की है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.