Panchayat Election 2021 : मुरादाबाद के 171 प्रधानों पर लगा दाग, 160 से ज्यादा को म‍िल गई क्‍लीन च‍िट

जांच के बाद 160 से ज्यादा प्रधानों को मिली क्लीन चिट।

Panchayat elections in Moradabad विकास के नाम पर गोलमाल करने वाले जिले के 171 प्रधानों पर दाग लगा। लेकिन अफसरों की मेहरबानी से इनमें 160 प्रधान घपले में फंसने के बाद भी बचकर निकल गए। फ‍िर से चुनाव लड़ने के ल‍िए एनओसी लेना जरूरी है।

Publish Date:Tue, 19 Jan 2021 01:12 PM (IST) Author: Narendra Kumar

मुरादाबाद (मोहसिन पाशा)। Panchayat elections in Moradabad। विकास के नाम पर गोलमाल करने वाले जिले के 171 प्रधानों पर दाग लगा। लेकिन, अफसरों की मेहरबानी से इनमें 160 प्रधान घपले में फंसने के बाद भी बचकर निकल गए। अधिकारियों का दावा है कि जांच में दोषी पाए जाने के बाद सभी लोगों को नोटिस देकर समय दिया गया। इस दौरान जिसने काम सही करा दिए उन्हें माफ कर दिया गया। जिन्होंने इसके बाद भी अधूरे काम पूरे नहीं कराए हैं, उनके खिलाफ मुकदमे लिखा दिए। ऐसे 10 निवर्तमान प्रधानों के मामले पुलिस के पास लंबित है।

वर्ष 2015 में जिले में 588 ग्राम पंचायतों में प्रधान पदों के लिए चुनाव हुआ। इस दौरान चार गांव अगवानपुर और पाकबड़ा नगर पंचायत के गठन के समय उनमें शामिल कर दिए गए। इस तरह 584 ग्राम पंचायतें शेष रहीं। इन पंचायतों में से 276 प्रधानों के खिलाफ जांच के आदेश हुए। शपथ पत्रों के आधार पर जांच कराई गई। आरोप सभी पर शौचालय और विकास कार्यों के नाम पर सरकारी धन के गबन का था। इस दौरान 171 प्रधान दागी बने। पंचायत विभाग के अधिकारियों का दावा है कि नोटिस के बाद करीब 160 से प्रधानों ने अधूरे काम पूरे करा दिए। नौ ग्राम प्रधानों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। जिला पंचायत राज अधिकारी राजेश कुमार सिंह ने बताया कि जिन निवर्तमान प्रधानों के खिलाफ मुकदमे दर्ज हैं, उन्हें पंचायत विभाग से अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं मिलेगी। इसलिए वह चुनाव नहीं लड़ सकेंगे। पुलिस जांच कर रही है। आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई होगी।

एक नजर इस पर भी

वर्ष 2015 में ग्राम पंचायतों पर चुनाव हुआ- 584

पांच साल में शिकायतों पर जांच हुई-276

जांच के दौरान दोषी पाए गए प्रधान-171

ब्लॉक,    ग्राम पंचायत,  आरोपित,   गबन

मुरादाबाद,  सोनकपुर देहात,  निवर्तमान प्रधान नसीम अहमद,28 लाख, सचिव नीरज कुमार।

कुंदरकी, सोनकपुर, निवर्तमान प्रधान फूलवती, 05 लाख सचिव, रामप्रकाश, मुं, कौसर। 

मूंढापांडे, लालटीकर, निवर्तमान प्रधान, मुहम्मद आरिफ, शौचालय निर्माण के नाम पर सचिव, अजय कुमार 1000 रुपये लेने के आरोप। 

मूंढापांडे घोण्डा, निवर्तमान प्रधान, नरेश कुमार शौचालय में 30 हजार रुपये सचिव, अजय कुमार का घपला।

मूंढापांडे, सैफपुर जगना निवर्तमान और पूर्व प्रधान मनरेगा में 14000 हजार का घपला

कुंदरकी, चकहबीबपुर, निवर्तमान प्रधान सर्वेश देवी, 04 लाख 44000 हजार का शौचालय में गबन सचिव, सुरेंद्र कुमार भारती, शिव प्रसाद भटनागर, खंड प्रेरक इमरान खान।

कुंरदकी, जलालपुर खास, निवर्तमान प्रधान शबाना बेगम, 05 लाख 56000 हजार, सचिव जगदीश सिंह।

बिलारी, मुड़िया राजा, निवर्तमान प्रधान नन्ही देवी, 13 लाख का शौचालय में घपला, सचिव श्याम सिंह गौतम।

बिलारी, मिठनपुर, महेश निवर्तमान प्रधान कमल सिंह, 06 लाख 72 हजार रुपये, शौचालय निर्माण में गबन, सचिव धनेंद्र पाल सिंह।

इन गांवों में बनीं समितियां

सेरुआ धर्मपुर निवर्तमान ग्राम प्रधान पातीराम, लालाटीकर के निवर्तमान ग्राम प्रधान मुहम्मद आरिफ, घोण्डा के निवर्तमान ग्राम प्रधान नरेश कुमार, रोण्डा के निवर्तमान प्रधान अरकान, सोनकपुर की निवर्तमान प्रधान फूलवती, मुड़िया राजा की निवर्तमान प्रधान नन्हीं देवी, नरौदा की निवर्तमान प्रधान अफसरी बेगम के अलावा जांच के दाैरान जलालपुर खास की गांव को प्रधान को हटा दिया गया था। इसके बाद इन गांवों में विकास कार्यों को सुचारु रखने के लिए समितियां बनाई गईं।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.