top menutop menutop menu

मां ने डंडों से पीटा, पिता ने चारपाई से कुचला हाथ Amroha News

 मुरादाबाद, जेएनएन। अमरोहा में  सौतेली मां व पिता की बेरहमी से की गई पिटाई से मिले जख्मों पर एसपी ने जब स्नेह का मरहम लगाया तो मासूम फफक पड़ी। जिला अस्पताल पहुंचकर एसपी ने उसे प्यार से पुचकारा। फल, कपड़े व कापी-किताबें भेंट की। आश्वासन दिया कि पुलिस हमेशा उसकी मदद करेगी। साथ ही बेटी की परवरिश के लिए एसपी ने समाजसेवी संस्थाओं संपर्क भी साधा है।

गौरतलब है कि डिडौली कोतवाली क्षेत्र में रहने वाले शबाबुल की पत्नी शबाना की दस साल पहले मौत हो गई थी। उसके दो बेटे सुहैल, शुऐब व आठ साल की बेटी सानिया है। सुहैल ननिहाल में रहता है। जबकि दूसरा बेटा व बेटी घर पर ही ही हैं। पांच साल पहले शबाबुल ने शहाना के साथ दूसरी शादी की थी। शहाना के बच्चे नहीं हैं। ग्रामीणों के मुताबिक शहाना आए दिन शुऐब व सानिया के साथ मारपीट करती है। गुरुवार शाम को मामूली बात पर उसने शबाबुल के साथ मिलकर सानिया की डंडे से पिटाई की थी। इससे सानिया के हाथ की अंगुली टूट गई थी। उसकी चीख सुनकर लोगों ने डॉयल-112 को सूचना देकर पुलिस बुलाई थी। पुलिस ने बच्ची को जिला अस्पताल में भर्ती कराया था। पुलिस ने बच्ची के चाचा मुजाबिल की तहरीर पर दंपती के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर पिता शबाबुल को गिरफ्तार कर लिया था। प्रभारी निरीक्षक शरद मलिक ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर लिया है तथा आरोपित पिता को गिरफ्तार कर लिया था। शुक्रवार को एसपी डॉ. विपिन ताडा अपनी बच्ची के साथ अस्पताल पहुंचे। उन्होंने शहाना को फल, कपड़े, कापी, पेंसिल आदि उपहार दिए। स्नेह का मरहम लगते ही शहाना फफक पड़ी। बताया कि मां ने दुकान से अचार मंगाया था, दुकान बंद थी, अचार नहीं लाई तो पीटना शुरू कर दिया। पिता ने जमीन में हथेली रखकर उसे चारपाई से दबा दिया। पूरे बदन पर पिटाई के जख्म हैं। एसपी ने उसे हरसंभव मदद का भरोसा दिया। डॉक्टरों से बेहतर उपचार करने व आवश्यक चीजें मुहैया कराने को कहा। इस पर आने वाले खर्च का भुगतान खुद करने की बात कही। बताया कि सामाजिक संस्थाओं से बात कर बच्ची की बेहतर परवरिश कराएंगे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.