Moradabad Municipal Corporation : स्मार्ट सिटी का तानाबाना बुनने वाले नगर निगम में भी जलभराव

स्मार्ट सिटी का तानाबाना बुनने वाला नगर निगम विभाग भी मूसलाधार बारिश में डूब गया। पीलीकोठी स्थित नगर निगम का शिविर कार्यालय में भी जलभराव हो गया। जिसमें अफसरों व महापौर विनोद अग्रवाल की कार भी डूब गई।

Narendra KumarFri, 30 Jul 2021 10:35 AM (IST)
अभी तक पीलीकोठी नगर निगम कार्यालय में कभी जलभराव नहीं हुआ था।

मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। स्मार्ट सिटी का तानाबाना बुनने वाला नगर निगम विभाग भी मूसलाधार बारिश में डूब गया। पीलीकोठी स्थित नगर निगम का शिविर कार्यालय में भी जलभराव हो गया। जिसमें अफसरों व महापौर विनोद अग्रवाल की कार भी डूब गई। अभी तक पीलीकोठी नगर निगम कार्यालय में कभी जलभराव नहीं हुआ था।

जब जलभराव में महापौर की कार डूबी तब वह पार्षद व ब्राह्मण महासभा के साथ अतिक्रमण के दौरान हुई घटना को लेकर वार्ता कर रहे थे। लेकिन, गुरुवार को मूसलाधार बारिश ने नगर निगम अफसरों पर सवाल खड़े कर दिए। जलभराव से अपना ही दफ्तर नहीं बचा तो शहर की चिंता कहां होगी। अफसरों ने नगर निगम कार्यालय में जलभराव का कारण मूसलाधार बारिश बताया है। बोले कि नालियां फुल होने से परिसर में पानी भरा। हालांकि इससे कोई नुकसान नहीं हुआ है।

सड़कें तालाब बन गईं तालाब :  सड़केंं बारिश से तालाब बन गईं जबकि कांठ रोड पर शाम को एक बूंद बारिश नहीं हुई। बारिश इतनी तेज थी कि मुगलपुरा थाने की दीवार भरभराकर गिर गई। दो कारों पर दीवार गिरी। गनीमत रही कि कोई जनहानि नहीं हुई। पुराने शहर में बाइक और कारें तक डूब गईं। बाइक बंद होने से पैदल खींचते हुए हुए लोग निकले। दौलतबाग बिजली घर में भी पानी घुस गया। जिससे दौलतबाग से जुड़ी शहर की बिजली आपूर्ति भी बंद करनी पड़ी। नगर निगम ने दौलतबाग की नीची सड़क को बनाने का संज्ञान नहीं लिया है। जिससे कभी भी ब्लास्ट हो सकता है। तेज बारिश से पुराने शहर के ऐसे क्षेत्रों में भी जलभराव हो गया, जहां नहीं होता है। सबसे ज्यादा जलभराव अंडेवालान, झब्बू का नाला, दौलतबाग, नागफनी, कचहरी, जेल के पीछे अशोक नगर, जीएमडी रोड, बुधबाजार, पीतल बस्ती के सूरज नगर, कटघर, मकबरा, इंद्रा चौक, बुद्धि विहार, लाइनपार के विकास नगर, जयंतीपुर, करूला समेत शहर भर की सड़कें जलमग्न हो गईं। एक घंटे की बारिश में 75.8 मिमी बारिश हुई जबकि सुबह चार मिमी बारिश हुई। दो दिन में कुल 254 एमएम बारिश हुई है। गुरुवार को सुबह चार एमएम और शाम को पुराने शहर में 75.8 बारिश हुई। सुबह और शाम को 79.8 मिमी बारिश हुई है। तापमान भी दोपहर को 37 डिग्री था लेकिन, शाम को बारिश होने से तापमान गिरकर 32 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। गुरुवार को सुबह 11 बजे तक झमाझम बारिश हुई। बारिश रुकी तो बादल छाए रहे। लेकिन, दोपहर दो बजे तेज धूप ने बेहाल कर दिया। उमस भरी गर्मी में दोपहर को लोगों का घरों से निकलना मुश्किल हो गया। दो दिन बारिश से लोगों को पंखे भी सुबह के वक्त बंद करने पड़े। शाम को भी गर्मी से राहत नहीं मिली। उमस महसूस होने पर बारिश और होने की उम्मीद मौसम विशेषज्ञ भी बता रहे हैं। सावन में बारिश की अच्छी शुरुआत हुई है।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.