Moradabad Education News : एक जून से शिक्षक जाएंगे स्कूल, बच्चे घर में ही ई-पाठशाला से करेंगे पढ़ाई

Moradabad Education News एक जुलाई से कक्षा एक से आठवीं तक के स्कूल खुल जाएंगे। लेकिन अभी कक्षाएं आफलाइन नहीं संचालित होंगी। शिक्षक और स्टाफ स्कूल जाएगा। वह स्कूलों में बच्चों का नामांकन बढ़ाने के ल‍िए अभियान चलाएंगे।

Narendra KumarWed, 16 Jun 2021 09:21 AM (IST)
आपरेशन कायाकल्प के तहत स्कूलों के अधूरे कार्यों को पूरा कराया जाएगा।

मुरादाबाद, जेएनएन। एक जुलाई से कक्षा एक से आठवीं तक के स्कूल खुल जाएंगे। लेकिन, अभी कक्षाएं आफलाइन नहीं संचालित होंगी। शिक्षक और स्टाफ स्कूल जाएगा। वह स्कूलों में बच्चों का नामांकन बढ़ाने के ल‍िए अभियान चलाएंगे। आपरेशन कायाकल्प के तहत स्कूलों के अधूरे कार्यों को पूरा कराया जाएगा।

बच्चों को कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए पुस्तकों का वितरण करने, यूनिफार्म बांटने, मिशन प्रेरणा के तहत ई-पाठशाला का संचालन होता रहेगा। पिछले महीने 19 तारीख को निर्देश दिए गए थे कि शिक्षक व कर्मचारी स्कूल नहीं जाएंगे। घरों से ही ई-पाठशाला के संचालन पर नजर रखेंगे। लेकिन, अब बेसिक शिक्षा परिषद के सचिव प्रताप सिंह बघेल ने आदेश जारी कर द‍िया है। बेसिक स्कूलों में सफाई, पर्यावरण संरक्षण को लेकर भी शिक्षकों को कार्य करने होंगे। इसके अलावा मिड डे मील की कंवर्जन कास्ट की धनराशि अभिभावकों के खाते में भेजने का कार्य भी किया जाएगा। बीएसए योगेंद्र कुमार ने बताया कि इस संबंध में सभी खंड शिक्षाधिकारियों को निर्देश जारी कर दिए हैं। अपने-अपने ब्लाक में शिक्षकों की उपस्थिति चेक करके रिपोर्ट देंगे।

आनलाइन कार्यशाला में छात्रों को पढ़ाया समाजसेवा का पाठ :  रामपुर के दढ़ियाल में महाराजा पृथ्वीराज चौहान पीजी कॉलेज सरकथल में मिनिस्ट्री आफ एजुकेशन गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के तत्वाधान में ऑनलाइन कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें एनसीसी के कैडेट्स व राष्ट्रीय सेवा योजना के स्वयंसेवी छात्र-छात्राओं ने प्रतिभाग किया। मिनिस्ट्री ऑफ एजुकेशन गवर्नमेंट ऑफ इंडिया की ओर से रिसोर्स पर्सन सुप्रिया ने छात्रों से कहा कि वे अपनी सामाजिक जिम्मेदारी को समझें। एनसीसी के कैडेट्स व एनएसएस के वॉलिंटियर कोविड-19 काल में लोगों की सहायता करें। उन्होंने शिक्षकों का आह्वान किया कि वे समाज सेवा में रुचि रखने वाले छात्रों की टीम बनाएं। उन्हें उनकी रुच‍ि के अनुसार दायित्व सौंपे। सुप्रिया ने बताया कि टीम का गठन कोविड-19 से संक्रमित व्यक्तियों का भावात्मक और मनोवैज्ञानिक सहयोग हेतु किया जाए। छात्र-छात्राओं के समूह से अस्पताल प्रबंधन टीम, गैर अस्पताल प्रबंधन टीम, परिवार सहायता टीम, चिकित्सा आपूर्ति टीम आदि बनाई जाए। उन्होंने छात्र छात्राओं से प्रश्न पूछकर उनकी समाज सेवा की भावना को परखा। साथ ही 30 जून तक समाजसेवा के कार्य करने की अपील की। प्राचार्य डॉ. अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि छात्र-छात्राओं की पांच टीम गठित की जाएंगी जो समाज सेवा करके कोविड-19 से प्रभावित लोगों की सहायता करेंगी। 

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.