Moradabad Airport : मुरादाबाद से Flight Takeoff में आड़े आ रही नेटवर्क की कमी को बीएसएनएल करेगा दूर

Moradabad Airport मुरादाबाद का मूंढापांडे हवाई अड्डा बनकर तैयार हो गया है लेकिन कुछ कमी के कारण अभी यहां से उड़ान संभव नहीं हो सकी है। दरअसल हवाई अड्डे के संचालन बिजली कनेक्शन और संचार सेवा की बहुत जरूरत होती है।

Samanvay PandeySat, 18 Sep 2021 03:58 PM (IST)
मूंढापांडे एक्सचेंज से ओएफसी द्वारा दिए जाएंगे दो कनेक्शन।

मुरादाबाद, जेएनएन। Moradabad Airport :  मुरादाबाद का मूंढापांडे हवाई अड्डा बनकर तैयार हो गया है, लेकिन कुछ कमी के कारण अभी यहां से उड़ान संभव नहीं हो सकी है। दरअसल हवाई अड्डे के संचालन बिजली कनेक्शन और संचार सेवा की बहुत जरूरत होती है। मूंढापांडे हवाई अड्डे पर इन्हीं दोनों की अभी कमी है। अब बीएसएनएल आप्टिकल फाइबर केबल (ओएफसी) के जरिये नेटवर्क उपलब्ध कराने जा रहा है। इसके लिए प्रशासन ने 16 लाख रुपये बीएसएनएल को दे भी दिए हैं। शेष चार लाख रुपये काम पूरा होनेे के बाद दिए जाएंगे।

मुरादाबाद का हवाई अड्डा मूंढापांडे के पास बनकर तैयार हो चुका है। यहां बिजली के कनेक्शन और संचार सेवा की कमी है। दोनों पूरा हो जाने के बाद यहां से हवाई उड़ान भी शुरू हो जाएगी। हवाई उड़ान के लिए संचार नेटवर्क सबसे अधिक जरुरी होती है। हवाई अड्डा प्रशासन ने संचार सेवा के लिए बीएसएनएल से दो प्राइमरी रेट इंटरफेस (पीआरआइ) का कनेक्शन मांगा था। पीआरआइ का कनेक्शन ओएफसी द्वारा कराया जाता है। जिससे सूचनाएं सुरक्षित भेजी जा सकती हैंं। दोनों कनेक्शन में 64 से अधिक टेलीफोन का कनेक्शन होगा और सभी पर हाई स्पीड इंटरनेट की सेवा उपलब्ध होगी।

हवाई अड्डा प्रशासन की मांग के अनुसार बीएसएनएल की टीम ने कनेक्शन देने के लिए सर्वे किया है। कनेक्शन मूंढापांडे टेलीफोन एक्सचेंज से दिया जाएगा। टेलीफोन एक्सचेंज और हवाई अड्डे की दूरी चार किलो मीटर है। बीएसएनएल ने भूमिगत ओएफसी का कनेक्शन डालने के लिए हवाई अड्डा प्रशासन से 20 लाख रुपये मांगेे थेे। प्रशासन द्वारा बीएसएनएल को प्रथम किस्त में 16 लाख रुपये जमा कर दिया है।

शेष चार लाख रुपये कनेक्शन चालू होने पर देगा। दोनों कनेक्शन का बीएसएनएल प्रत्येक माह 24 हजार रुपये बिल लेगा। जिसमें अनलिमिटिड काल व इंटरनेट की सुविधा उपलब्ध होगी। माना जा रहा है कि संचार नेटवर्क उपलब्ध होने के बाद हवाई उड़ान शुरू की जा सकेगी। बीएसएनएल के उप महाप्रबंधक बीके शर्मा ने बताया कि हवाई अड्डेे को संचार नेटवर्क उपलब्ध कराने की स्वीकृति मिल गई है। दस दिन के अंदर ओएफसी डालने के बाद कनेक्शन उपलब्ध करा दिया जाएगा।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.