यूपी राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य ने कहा, छोटे अपराधों में लिप्त बच्चेे किशोर कारागार से जल्द होंगे रिहा

UP State Commission for Protection of Child Rights उत्तर प्रदेश राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य अनीता अग्रवाल ने जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने पोषण पुनर्वास केंद्र कंगारू वार्ड पीकू वार्ड और आक्सीजन प्लांट भी देखा।शोभना खुला बाल आश्रय गृह राजकीय संप्रेक्षण गृह भी अचानक पहुंच गईं।

Samanvay PandeyPublish:Wed, 24 Nov 2021 03:12 PM (IST) Updated:Wed, 24 Nov 2021 03:12 PM (IST)
यूपी राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य ने कहा, छोटे अपराधों में लिप्त बच्चेे किशोर कारागार से जल्द होंगे रिहा
यूपी राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य ने कहा, छोटे अपराधों में लिप्त बच्चेे किशोर कारागार से जल्द होंगे रिहा

मुरादाबाद, जेएनएन। UP State Commission for Protection of Child Rights : उत्तर प्रदेश राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य अनीता अग्रवाल ने जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। उन्होंने पोषण पुनर्वास केंद्र, कंगारू वार्ड, पीकू वार्ड और आक्सीजन प्लांट भी देखा। शोभना खुला बाल आश्रय गृह, राजकीय संप्रेक्षण गृह और झांझनपुर आंगनबाड़ी केंद्र भी अचानक पहुंच गईं। इस दौरान उन्होंने हर जिले में किशोर संप्रेक्षण गृह खुलवाने के निर्देश दिए।

जिला अस्पताल के वार्डों का निरीक्षण करके बाल अधिकार संरक्षण आयोग की सदस्य ने संतोष व्यक्त किया। साथ ही डेंगू, मलेरिया एवं अन्य प्रकार की बीमारी के लिए वार्डों को उपयोग करने के लिए निर्देशित किया। राजकीय संप्रेक्षण गृह किशोर में निरुद्ध छोटे अपराधों में लिप्त बच्चों को जल्द रिहा कराने के लिए कहा। साथ ही मुरादाबाद मंडल के अन्य जनपदों में किशोर संप्रेषण ग्रह खुलवाने के लिए निर्देशित किया। सदस्या ने झांझनपुर आंगनबाड़ी केंद्र पर पोषण का वितरण भी किया। जिला कार्यक्रम अधिकारी अनुपमा शांडिल्य ने बताया कि मुरादाबाद में विभिन्न एनजीओ द्वारा आंगनबाड़ी केंद्रों को गोद लिया है। इसके बाद सदस्या द्वारा पीएम केयर फार चिल्ड्रन योजना से लाभान्वित बच्चों से वार्ता की।

इसके बाद सर्किट हाउस में समीक्षा बैठक आयोजित की गई। इस दौरान एक महिला भी अनीता अग्रवाल से अपना दर्द सुनाने के लिए पहुंच गई। महिला की शिकायत को उन्होंने जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रिया पटेल को सौंप दिया। वह महिला का पड़ोसियों से विवाद है। डीपीओ दोनों पक्षों को बुलाकर विवाद निपटाएंगी। सर्किट हाउस में एक समीक्षा बैठक आयोजित की गई, जिसमें सभी विभागों ने सदस्य के सामने रिपोर्ट प्रस्तुत की। सदस्य का मुख्य फोकस श्रम एवं भिक्षा वृत्ति में लिप्त बच्चों पर था। जिसके लिए उन्होंने निर्देशित किया कि बच्चों का जल्द से जल्द सर्वे कराकर विभिन्न योजना से आच्छादित किया जाए। अंत में उन्होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि सरकार अनाथ बच्चों भविष्य को लेकर गंभीर है।

कोरोना से अनाथ होने वाले बच्चों के लिए सहायता राशि की घोषणा करके सरकार ने सराहनीय कार्य किया है। सार्वजनिक स्थानों पर भीख मांगने वाले बच्चों के भविष्य को लेकर भी सरकार काम कर रही है। भाजपा सरकार ने बच्चों के लिए जितना काम किया है, इतना कभी नहीं हुआ। बैठक में जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रिया पटेल, समाज कल्याण अधिकारी सुनील कुमार समेत सभी विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

डीएम ने की कन्या सुमंगला योजना की समीक्षा : मंगलवार को डीएम शैलेंद्र कुमार सिंह की अध्यक्षता में कैंप कार्यालय में मुख्यमंत्री कन्या सुमंगला योजना की समीक्षा बैठक सम्पन्न हुई। डीएम ने बताया कि योजना के अंतर्गत कुल 15000 का लाभ दिया जाना है। सरकार ने मुरादाबाद को 3400 का लक्ष्य दिया है। 3400 के सापेक्ष 1680 फार्म शासन को प्रेषित किए जा चुके हैं। हमारा अभी 50 से कम ही लक्ष्य की प्राप्ति हुई है। आंगनबाड़ी केंद्रों, आशा बहुओं, जनसेवा केंद्रों, प्राथमिक विद्यालय, स्कूल, इंटर कालेज इत्यादि से संपर्क कर जल्द से जल्द आवेदन कराने का आह्वान किया गया। डीएम ने कहा कि किसी भी प्रकार की समस्या हो तो विकास भवन द्वितीय तल पर जिला प्रोबेशन कार्यालय में संपर्क कर सकते हैं। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी आनंद वर्धन, सभी उपजिलाधिकारी आदि मौजूद रहे।