Magan Murder Case : पर‍िवार को गाली देने पर बनाई हत्‍या की योजना, माैसेरे भाइयों ने मिलकर की वारदात

आरोपितों में दो आपस में मौसेरेे भाई हैं।

आरोपितों ने बताया कि मगन ने एक साल पहले लाकड़ी फाजलपुर निवासी साहूकार प्रेमशंकर से दो लाख 80 हजार रुपये एक्सपोर्ट फर्म में ठेकेदारी करने वाले मोहित पंवार को दिलाए थे। इस रकम के भुगतान के ल‍िए शर्त रखी गई थी।

Narendra KumarThu, 04 Mar 2021 12:41 PM (IST)

मुरादाबाद, जेएनएन। मझोला थाना क्षेत्र के लाकड़ी फाजलपुर गांव से 11 फरवरी को गायब हुए ट्रांसपोर्टर के बेटे की हत्या कर शव नाले में फेंक द‍िया गया था। पुलिस ने इस मामले का 20 दिन बाद हत्याकांड का पर्दाफाश करते हुए तीन हत्यारोपितों को गिरफ्तार कर लिया। तीनों ने लोहे की रॉड से सिर पर वार कर ट्रांसपोर्टर के बेटे की हत्या की थी। पैसे के लेनदेन के विवाद और मृतक द्वारा गाली-गलौज करने से आरोपित आहत थे। आरोपितों में दो आपस में मौसेरेे भाई हैं।

एसपी सिटी अमित कुमार आनंद और एएसपी अनिल कुमार यादव ने बताया कि मझोला थाना क्षेत्र के लाकड़ी फाजलपुर में रहने वाले महेंद्र सिंह ट्रांसपोर्टर हैंं। उनके दो बेटे और तीन बेटियां हैं। सबसे छोटा बेटा मगन (25) साहूकारों के रुपये ब्याज पर दिलाने का काम करता था। 11 फरवरी की शाम को घर से निकला मगन लौटकर नहीं आया। स्‍वजन ने मझोला थाने में तहरीर देकर अपहरण का आरोप लगाया था। गुमशुदगी दर्ज करने के बाद लापता युवक की तलाश शुरू कर दी थी। जांच के दौरान पुलिस ने मोहित पंवार निवासी मुहल्ला रामतलैया थाना मझोला, लाखन लाल निवासी गांव सुल्तानपुर फलैदा थाना पाकबड़ा व तीसरे आरोपित संजीव कश्यप निवासी सादुल्लापुर मछरिया थाना कटघर को हिरासत में लेकर पूछताछ की। आरोपितों ने बताया कि मगन ने एक साल पहले लाकड़ी फाजलपुर निवासी साहूकार प्रेमशंकर से दो लाख 80 हजार रुपये एक्सपोर्ट फर्म में ठेकेदारी करने वाले मोहित पंवार को दिलाए थे। इस पैसे के लेनदेन में यह शर्त रखी गई थी, प्रतिमाह दस हजार आठ सौ रुपये की किस्त पांच साल तक देनी होगी। सितंबर 2020 से मोहित ने पैसे की किस्त नहीं दी थी। किस्त के लिए मगन लगातार दबाव बना रहा था। दस फरवरी को मगन ने मोहित के घर जाकर गाली-गलौज की थी। जब मोहित घर आया तो, घरवालों ने उसे पूरी बात बताई। इस बात को लेकर भड़के मोहित ने मझोला बिजलीघर में संविदा पर तैनात अपने मौसेरे भाई लाखन लाल के साथ मिलकर मोहित की हत्या का प्लान तैयार किया। 11 फरवरी की शाम को लाखन लाल ने मगन को फोन करके मझोला बिजली घर में पैसे देने की बात कहकर बुलाया था। शाम करीब छह बजे जब मगन बिजली घर के मशीन रूम में पहुंचा तो दरवाजे के पीछे छिपे मोहित ने मगन के सिर पर लोहे की रॉड से हमला कर दिया। यहां उसकी हत्‍या कर दी गई।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.