सातवीं बार जिपं अध्यक्ष के पद पर होगी महिला की ताजपोशी

जागरण संवाददाता, मुरादाबाद : जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए चुनाव का बिगुल बज चुका है। इस बार भी महिल

JagranFri, 18 Jun 2021 08:01 PM (IST)
सातवीं बार जिपं अध्यक्ष के पद पर होगी महिला की ताजपोशी

जागरण संवाददाता, मुरादाबाद : जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए चुनाव का बिगुल बज चुका है। इस बार भी महिलाएं ही मैदान में हैं। भाजपा से डॉ. शैफाली सिंह चुनाव लड़ रही हैं। सपा से बिलारी विधायक फहीम इरफान की बहन अमरीन जहां को चुनावी मैदान में उतारा गया है। बसपा से मंजू चौधरी को लड़ाने का दावा किया जा रहा है लेकिन, अभी तक भाजपा का पल्ला सबसे भारी नजर आ रहा है। तीन जुलाई को हार-जीत का फैसला होने के बाद जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर सातवीं बार महिला की ताजपोशी होनी है।

जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए 26 जून को दोपहर तीन बजे तक नामांकन पत्र दाखिल होंगे। इसके बाद नामांकन पत्रों की जांच होगी। 29 जून दोपहर तीन बजे तक नाम वापसी होगी। वहीं, तीन जुलाई को सुबह 11 बजे से दोपहर तीन बजे तक मतदान होगा। इसके बाद मतगणना करके नई जिला पंचायत अध्यक्ष के नाम की घोषणा होगी। अपर मुख्य अधिकारी शिशुपाल शर्मा ने बताया कि तीन जुलाई को नई अध्यक्ष बनने के बाद बोर्ड की बैठक होगी। इसके बाद देहात के विकास को गति मिलेगी।

जिला पंचायत में 2006 से महिलाओं का ही रहा दबदबा

मुरादाबाद में जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी 2006 के बाद से लगातार महिलाओं के पास है। अब फिर से यह सीट महिला के लिए आरक्षित हुई है। जिला पंचायत बनने के बाद पूर्व विधायक शरीयतुल्ला 24 जनवरी 1989 से 22 मई 1995 तक पहले अध्यक्ष रहे। इसके बाद 22 मई 1995 से 27 जून 2000 तक सपा की कद्दावर नेता कुसुमलता यादव ने अध्यक्ष की कुर्सी संभाली। 28 जून, 2000 से 28 अगस्त 2000 तक प्रशासक के हाथ में बागडोर रही। नौ अगस्त 2000 से नौ अक्टूबर 2005 तक कांग्रेस नेता फिजाउल्ला चौधरी अध्यक्ष रहे। दस अक्टूबर 2005 से 13 जनवरी 2006 तक प्रशासक की तैनाती रही। 14 जनवरी 2006 से 13 जनवरी 2011 तक फिर से सपा नेता कुसुमलता यादव फिर अध्यक्ष रहीं। 14 जनवरी 2011 से तीन दिसंबर 2012 तक पूर्व मंत्री हाजी अकबर हुसैन के बेटी गुलनाज अकबर ने जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी संभाली। छह दिसंबर 2012 से 24 जनवरी 2013 प्रशासक तैनात रहा। 24 जनवरी 2013 से 13 जनवरी 2016 तक मंजू चौधरी अध्यक्ष रहीं। 14 जनवरी 2016 से पांच सितंबर 2018 तक पूर्व मंत्री के परिवार की शलिता सिंह जिला पंचायत अध्यक्ष रहीं। इनके खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने के बाद भाजपा ने निवर्तमान अध्यक्ष मिथलेश रानी को अध्यक्ष पद पर ताजपोशी कराई। अब लगातार सातवीं बार फिर से महिला जिला पंचायत अध्यक्ष के पद पर काबिज होने जा रही हैं। कुर्सी किसका इंतजार कर रही है, यह तस्वीर लगभग साफ हो चुकी है। बस एलान होना ही बाकी है।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.