Flood Protection Measures : मुरादाबाद में बाढ़ से बचाव के इंतजाम शुरू, लेखपाल करेंगे निगरानी

नदियों का जलस्तर बढ़ने पर प्रशासन ने बाढ़ से बचाव के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। कंट्रोल रूम पर 24 घंटे सेवा उपलब्ध कराई जा सकती है। इसके लिए राजस्व कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है।रामगंगा के खादर के सैकड़ों गांवों को बाढ़ की त्रासदी झेलनी पड़ती है।

Narendra KumarSun, 20 Jun 2021 02:30 PM (IST)
इस साल बरसात अधिक होने की संभावना है।

मुरादाबाद, जेएनएन। बरसात से नदियों का जलस्तर बढ़ने पर प्रशासन ने बाढ़ से बचाव के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं। कंट्रोल रूम पर 24 घंटे सेवा उपलब्ध कराई जा सकती है। इसके लिए राजस्व कर्मियों की ड्यूटी लगाई गई है। रामगंगा के खादर के सैकड़ों गांवों को बाढ़ की त्रासदी झेलनी पड़ती है। इस साल बरसात अधिक होने की संभावना है।

आला अधिकारियों ने एहतियातन इंतजाम शुरू कर दिए हैं। बाढ़ संभावित लेखपालों की ड्यूटी लगाकर उन्हें निगरानी रखने को कहा गया है। डिप्टी कलेक्टर अवनीश कुमार सिंह को कंट्रोल रूम का प्रभारी बनाया गया है। लेखपाल हरि सिंह, रवि कुमार, उदल सिंह, पदम सिंह, रोहित चौहान, सारणीयक, माहरुफ रजा की कंट्रोल रूम में ड्यूटी है। 0591-2412728 और टोल फ्री नंबर 1017 पर फोन किया जा सकता है।

पहली बरसात में लुप्त नदी गुलजार : सम्‍भल के असमोली विकासखंड के शाहपुर सोत नदी गर्मियों में पूरी तरह से सूख जाती है। जिसके वजह से ग्रामीण व पशु काफी परेशान रहते हैं। क्योंकि सोत नदी में ही पशु पानी पीते है। लेकिन मानसून की पहली बरसात के होते ही सोत नदी जलमग्न हो चुकी है। पहली बरसात का पानी भी इतना है कि पूरी तरह से नदी भर चुकी है। नदी में पानी होने से ग्रामीणों में काफी हर्षोल्लास है। नदी भरने से चारों तरफ हरियाली भी दिखाई दे रही है। गांव के बच्चे नदी में खेलने कूदने लगे हैं। नदी में पानी आने से ग्रामीण काफी खुश नजर आ रहे हैं। 

बैराज का निरीक्षण : रामपुर में जिलाधिकारी रविन्द्र कुमार मांदड़ ने कोसी नदी पर निर्माणाधीन बैराज का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने अधिशासी अभियंता नहर खंड से बैराज के कार्य में प्रगति के बारे में विस्तार से जानकारी ली। लालपुर में कोसी नदी पर बनाए गए अस्थाई पुल को हटाए जाने के बाद आमजन को होने वाली असुविधा के समाधान के बारे में भी डीएम ने अधिशासी अभियंता नहर खंड सहित अन्य अधिकारियों से बातचीत की।उन्होंने आमजन के आवागमन की सुविधा के दृष्टिकोण से वैकल्पिक व्यवस्था की संभावना के बारे में निर्माणाधीन बैराज के उपयोग पर भी बातचीत की। डीएम द्वारा मौके के निरीक्षण के बाद मानक के अनुरूप अग्रिम निर्णय लिए जाएंगे। निर्माणाधीन लालपुर पुल के संबंध में भी डीएम द्वारा शासन स्तर से धन आवंटन हेतु लगातार पत्राचार एवं समन्वय किया जा रहा है।

यह भी पढ़ें :-

Fraud in UP Police : जीजा की जगह पुलिस की नौकरी करने वाला साला गिरफ्तार, दोनों आरोप‍ितों को भेजा जेल

रामपुर में बिन ब्याही मां ने बच्ची को दिलाया पिता का नाम, पहले से शादीशुदा प्रेमी से क‍िया न‍िकाह, पढ़ें पूरा मामला

Fraud in UP Police : वर्दी पहनकर पीआरवी कर्मियों के प्रशिक्षण में भाग लेने पहुंचा था फर्जी सिपाही

Health Benefits Of Gular: गूलर नेत्र रोग, मधुमेह, डायरिया सहित कई बीमारियों में लाभकारी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.