सम्‍भल में किसानों को कलक्ट्रेट में प्रवेश से रोका, अधिकार‍ियों से नोकझोंक, हाईवे पर क‍िसानों का कब्‍जा

मंडल के सम्‍भल ज‍िले के बहजोई में स्थानीय किसानों की प्रमुख मांगों को लेकर पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जिला मुख्यालय का घेराव करने जा रहे भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने मुख्यालय के मुख्य प्रवेश द्वार पर रोक लिया है।

Narendra KumarThu, 22 Jul 2021 02:58 PM (IST)
पुलिस अधिकारियों से नोकझोंक, तनाव की स्थिति किसान हाईवे पर बैठे,

मुरादाबाद, संवाद सहयोगी। मंडल के सम्‍भल ज‍िले के बहजोई में स्थानीय किसानों की प्रमुख मांगों को लेकर पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जिला मुख्यालय का घेराव करने जा रहे भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को पुलिस ने मुख्यालय के मुख्य प्रवेश द्वार पर रोक लिया। पुलिस के अधिकारियों से काफी नोकझोंक हुई। स्थित‍ि तनावपूर्ण बनी हुई है। कलक्ट्रेट में चल रहे एक अन्य कार्यक्रम के चलते पुलिस किसी भी कीमत पर किसानों को अंदर प्रवेश नहीं करने दे रही है। भाकियू  नेता किसानों को हाईवे पर ही संबोधित कर रहे हैं।

बता दें कि भारतीय किसान यूनियन टिकैत गुट के पदाधिकारियों के द्वारा दो सप्ताह पूर्व एलान किया गया था कि 22 जुलाई को किसानों के द्वारा जिला मुख्यालय का घेराव किया जाएगा और अधिकारियों को इन समस्याओं के समाधान के लिए अवगत कराया जाएगा। इसमें विद्युत समस्या, सिंचाई, गन्ना भुगतान, चकबंदी और स्थानीय थानों में किसानों के शोषण आदि शाम‍िल हैं। आज जिले भर के भाक‍ियू पदाधिकारी और किसान सबसे पहले बहजोई के मंडी समिति परिसर में एकत्रित हुए जहां से वे नारेबाजी करते हुए और जुलूस निकालते हुए आगे बढ़े। उन्‍होंने आगरा-मुरादाबाद नेशनल हाईवे के एक तरफ के रोड पर पूरी तरह से कब्‍जा करते हुए कलक्ट्रेट के मुख्य द्वार तक मार्च किया। इसके बाद वे जैसे ही कलक्ट्रेट परिसर में प्रवेश कर रहे थे कि एसपी चक्रेश मिश्र और एडिशनल एसपी आलोक कुमार जायसवाल भारी पुलिस बल के साथ आ गए। उन्‍होंने किसानों को अंदर प्रवेश करने से रोक दिया। फिलहाल किसान करीब एक बजे से ही हाईवे पर बैठे हैं अभी तक दोनों पक्षों में वार्ता का कोई प्रयास नहीं हो रहा है।

सरकारी कार्यक्रम के चलते अंदर प्रवेश से रोका गया : कलक्ट्रेट सभागार में प्रशासन की ओर से प्रथम सड़क सुरक्षा सप्ताह शुभारंभ का कार्यक्रम चल रहा है। जिसके चलते पुलिस के द्वारा किसानों का प्रवेश कुछ समय के लिए रोकने की बात कही गई। जिससे किसान आक्रोशित हो गए और पुलिस के साथ नोकझोंक हुई।

पुलिस और किसानों के बीच तनाव की स्थिति  : पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों की माने तो किसानों को तब तक प्रवेश नहीं दिया जाएगा। किसी भी किसान या कार्यकर्ता को उत्पात मचाने नहीं दिया जाएगा। इसके लिए चाहे पुलिस बल का प्रयोग क्यों न करना पड़े। पुलिस के समक्ष किसान भी आक्रोशित हैं। जब तक अंदर प्रवेश नहीं हो जाता है वापस जाने के मूड में नहीं हैं। 

चार थानों की पुलिस समेत सभी बड़े अधिकारी मौजूद : जिला मुख्यालय पर पुलिस अधीक्षक चक्रीय मिश्र और अपर पुलिस अधीक्षक आलोक कुमार जायसवाल, सीओ चंदौसी गोपाल सिंह, बहजोई प्रभारी निरीक्षक रविंद्र प्रताप सिंह के अलावा धनारी थाना प्रभारी निरीक्षक प्रवेश पाठक, थाना प्रभारी बनियाठेर, कुढ़ फतेहगढ़, रजपुरा समेत भारी पीएसी बल भी मौजूद है।

यातायात हुआ बाधित, हाईवे वनवे : किसानों के आगरा-मुरादाबाद नेशनल हाईवे के एक ओर बैठने के चलते हाईवे वनवे हो गया है और वाहनों को निकलने में दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है; हालांकि जाम की स्थिति नहीं बनी है। यातायात पुलिस के द्वारा अलग-अलग स्थानों से वाहनों को डाइवर्ट किया जा रहा है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.