बिजली बिल ने बकायेदारों के काटे कनेक्शन, मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी

बिजली बिल ने बकायेदारों के काटे कनेक्शन, मुकदमा दर्ज कराने की चेतावनी
Publish Date:Wed, 28 Oct 2020 02:57 PM (IST) Author: Abhishek Pandey

मुरादाबाद, जेएनएन। बिजली विभाग द्वारा बिल जमा करने की आखिरी तारीख बिल में ही दी जाती है। बकायेदारी वसूली के नाम पर उपभोक्ताओं के कनेक्शन काटे जा रहे हैं। इतना ही नहीं बिल जमा होने के बाद कनेक्शन जोड़ने का चार्ज बिल में अतिरिक्त डाला जा रहा है। उपभोक्ता अगर बिजली घर पर जानकारी करने पहुंच गया तो मुकदमा दर्ज कराने की धमकी भी दे रहे हैं। हालात यही रहे तो ईमानदार उपभोक्ता बिजलीघर जाने से भी डरने लगेगा। अधिकारी भी कर्मचारियों की इन बातों को नजरअंदाज कर रहे हैं।

केस एक

दौलतबाग बिजलीघर के बगला गांव के रहने वाले फाजिल के ऊपर एक माह का बकाया था। दूसरा बिल मिलने के बाद उसमें आखिरी तारीख 26 अक्टूबर थी। 25 की दोपहर बिजली कर्मचारी कनेक्शन काट आए। उपभोक्ता ने बिल जमा कराने के बाद बिजलीघर पर बताया तो कर्मचारियों ने उसे धमका दिया।

केस दो

कांशीरामनगर के रहने वाले वेग सिंह के बिल में 600 यूनिट अतिरिक्त दर्ज होकर आ गए। उसने अधिशासी अभियंता कार्यालय में संपर्क किया तो पता चला कि रीडर ने मीटर ऊंचा होने की वजह से कई बार अपने मन से यूनिट दर्ज कर दी। इसके बाद उनके मीटर में 600 यूनिट स्टोर हो गए। मीटर रीडर की लापरवाही का खामियाजा उपभोक्ता के लिए परेशानी का सबब बन गया।

 

क्या बोले अधिकारी 

मीटर रीडरों की लापरवाही को चेक कराया जाएगा। उपभोक्ता को धमकी देने का कोई मतलब नहीं है। बिजली चोर को तो एक बार मुकदमा दर्ज कराने की बात कह सकते हैं लेकिन, उपभोक्ता पर गलत तरीके से दबाव बनाने की बात की जानकारी की जाएगी।

दीपक कुमार, अधीक्षण अभियंता 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.