ब‍िजली के पोल में उतरा करंट, सम्‍भल की तीन बच्चियां झुलसीं, मुरादाबाद ज‍िला अस्‍पताल में भर्ती

दो बच्चियों की मौत की झूठी सूचना पर प्रशासन में मची खलबली।

सम्‍भल के सौंधन तहसील क्षेत्र के गोहत गांव में हाइटेंशन लाइन से जमीन पर करंट आने से तीन सगी बहनें उसकी चपेट में आ गईं। इससे वे बुरी तरह से झुलस गईं। स्वजनों ने आनन फानन तीनों बहनों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Narendra KumarWed, 14 Apr 2021 11:40 AM (IST)

मुरादाबाद, जेएनएन। सम्‍भल के सौंधन तहसील क्षेत्र के गोहत गांव में हाइटेंशन लाइन से जमीन पर करंट आने से तीन सगी बहनें उसकी चपेट में आ गई। इससे वे बुरी तरह से झुलस गईं। स्वजनों ने आनन फानन तीनों बहनों को झुलसी अवस्था में उपचार के लिए पास के ही निजी अस्पताल में भर्ती करा दिया।

हयातनगर थाना क्षेत्र के गोहत गांव निवासी जोगराज सिंह की तीन बेटियां रीनू, प्रवेश और भूरी मंगलवार की देर शाम को अपने घर के बराबर में परचून की दुकान से कुछ खाने का सामान लेने गईं थीं। सामान लेने के बाद जैसे ही वह लौट रहीं थीं तो दुकान के नजदीक ऊपर से गुजर रही हाइटेंशन लाइन के पोल से अर्थ के द्वारा नीचे आ रहे तार में करंट आ गया, जिससे नीचे जा रही नाली में आग की लपटें उठने लगीं। इससे वहा खड़ी तीनों बहनें उसकी चपेट में आ गईं और बुरी तरह झुलस गईं। आग की लपटों को देख गांव में दहशत का माहौल बन गया, जिससे सभी ग्रामीण मौके की तरफ दौड़ में लगे और बमुश्किल तीनों बच्चियों को बचाया। तब तक वह काफी झुलस चुकी थीं। उसी समय किसी के द्वारा दो बच्चियों की मौत की झूठी सूचना पर प्रशासन में खलबली मच गई, जिससे सीओ अरुण कुमार हयातनगर इंस्पेक्टर सत्येंद्र भड़ाना, नखासा इंस्पेक्टर धर्मपाल सिंह, रजपुरा इंस्पेक्टर विद्युत गोयल अपने पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंच गए। जब उन्हें मौके की स्थिति की जानकारी हुई तब उन्होंने राहत की सांस ली। तीनों झुलसी बच्चियों को बेहतर उपचार के लिए मुरादाबाद रेफर कर दिया।

बीमारी के कारण एक बच्ची की सुबह हो चुकी है मौत

पूरे परिवार पर एक साथ आया दुखों का बोझ। जोगराज सिंह के एक बेटी ज्योति (6 माह) की मौत किसी बीमारी के चलते मंगलवार की सुबह हो गई थी। उसकी मौत को लगभग 12 घंटे भी नहीं बीत पाए तब तक जोगराज सिंह की अन्य तीन बच्चियां बिजली की चपेट में आने से बुरी तरह झुलस गई।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.