लखनऊ हिंदी संस्थान में मुरादाबाद के साहित्यकार डाॅ. राकेश चक्र सम्मानित, म‍िल चुके हैं कई पुरस्‍कार

Dr Rakesh Chakra honored उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान लखनऊ के यशपाल सभागार में बाल साहित्य में मुरादाबाद के साहित्यकार डा. राकेश चक्र को विधानसभा अध्यक्ष द्वारा शाल ओढ़ाकर प्रतीक चिह्न एवं ढाई लाख रुपये का चेक देकर सम्मानित किया।

Narendra KumarMon, 29 Nov 2021 12:41 PM (IST)
डा. राकेश चक्र का प्रारंभ से ही साहित्य के प्रति रुझान रहा।

मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान लखनऊ के यशपाल सभागार में बाल साहित्य में मुरादाबाद के साहित्यकार डा. राकेश चक्र को विधानसभा अध्यक्ष द्वारा शाल ओढ़ाकर, प्रतीक चिह्न एवं ढाई लाख रुपये का चेक देकर सम्मानित किया। इस दौरान हिंदी संस्थान अध्यक्ष डा. सदानंद गुप्त, निदेशक पवन कुमार, डा. अमिता दुबे, सचिव जितेंद्र कुमार, भारत भारती सम्मान से सम्मानित पांडेय शशि भूषण शीतांशु आदि सभी सम्मानित साहित्यकार एवं अतिथिगण उपस्थित थे।

पुलिस विभाग से सेवानिवृत्त डा. राकेश चक्र का प्रारंभ से ही साहित्य के प्रति रुझान रहा। पुलिस जैसी नौकरी में रहने के बाद उन्होंने साहित्य सृजन किया। विशेषकर बच्चों के लिए कविताएं और कहानियां लिखीं। उनका यह कार्य अनवरत जारी है और करीब 100 पुस्तकें प्रकाशित हो चुकी हैं। उन्हें राज्य कर्मचारी साहित्य संस्थान उत्तर प्रदेश द्वारा सुमित्रानंदन पंत पुरस्कार 2007, उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान द्वारा बाबू श्याम सुंदर सर्जना पुरस्कार 2012, साहित्य मंडल श्रीनाथ द्वारा श्रीमती कंचनबाई राठी सम्मान 2018, बाल साहित्य श्री सम्मान उड़ीसा 2018 आदि दर्जनों सम्मान से सम्मानित किया जा चुका है। सम्मान मिलने पर के साहित्यकारों ने उन्हें बधाई दी।

 

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.