15 दिन बाद उठनी थी डोली, एक हादसा और मातम में बदल गईं सारी खुशियां Moradabad news

मुरादाबाद, जेएनएन। जिस घर में शादी के गीत गूूंंज रहे थे वहां चीख पुकार मच गयी। जिस घर से 15 दिन बाद डोली उठनी थी, वहां से अर्थी उठी। यह सब हुआ एक छोटी से गलती के कारण हुए हादसे से। जनपद के मैनाठेर थानेे के एक गांव में बिजली की बोर्ड में तार लगाते समय करंट लगने से एक युवती की मौत हो गई। युवती की मौत से परिवार ही नहीं पूरे गांव में मातम छा गया। युवती की एक दिसंबर को शादी होने वाली थी। 

मैनाठेर थाना क्षेत्र के गांव नगलिया मशकुला में किसान छिद़दा की 22 वर्षीय बेटी रूबी बिजली के बोर्ड में तार लगा रही थी। इसी दौरान उसका हाथ एक नंगे तार से टच हो गया और वह करंट की चपेट में आ गई। काफी देर बाद जब छोटा भाई अरकान छत पर कमरे में गया तो उसने बहन का अचेत अवस्‍था देखा। उसके शोर मचाने पर स्‍वजन कमरे में पहुंचे और युवती को उठाकर निजी अस्‍पताल ले गए, जहां डॉक्‍टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। स्‍वजन युवती को वापस घर ले आए और युवती काेे दफन कर दिया। स्‍वजनों डॉक्टर उस्मान, अरकान, उवैस, फुरकान, जुबा का रो-रो कर बुरा हाल है। एक दिसंबर को युवती की बरात सम्‍भल के मंडी किशन दास सराय से आनी थी। 

 

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.