डीएम बोले- खुद को कमजोर न समझें बेटियां, करें हक की बात

डीएम बोले- खुद को कमजोर न समझें बेटियां, करें 'हक की बात'

विकास भवन सभागार में मिशन शक्ति के तहत हक की बात कार्यक्रम में जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने बेटियों से सीधे संवाद किया। उन्होंने किसी भी तरह का संकट होने पर हेल्पलाइन की मदद लेने को कहा।

Publish Date:Thu, 26 Nov 2020 02:38 AM (IST) Author: Jagran

मुरादाबाद, जेएनएन: विकास भवन सभागार में मिशन शक्ति के तहत हक की बात कार्यक्रम में जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने बेटियों से सीधे संवाद किया। उन्होंने किसी भी तरह का संकट होने पर हेल्पलाइन की मदद लेने को कहा। साथ ही यह भी बताया कि छात्राओं को अपने अधिकारों, घरेलू हिसा व दहेज हिसा के खिलाफ आवाज बुलंद करनी चाहिए। मुरादाबाद की कोई भी बेटी खुद को कमजोर न समझे। किसी भी तरह की दिक्कत हो तो मुझको सीधे भी फोन करके अपनी समस्या बता सकती है। इस दौरान छात्राओं ने डीएम को अपनी समस्याओं से अवगत कराया। डीएम ने जल्द ही सभी समस्याओं का समाधान कराने का भरोसा दिलाया।

बुधवार को विकास भवन सभागार में आयोजित कार्यक्रम हक की बात में जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह ने सभी छात्राओं को संबोधित करते हुए कहा कि आप लोग खुद को कमजोर न समझें। कही भी कोई दिक्कत आने पर शासन द्वारा दिए गए नंबरों पर शिकायत करें। उन्होंने बताया कि नारी सुरक्षा के लिए सरकार ने बहुत सारे कानून बनाए हैं। इस कार्यक्रम का भी यही उद्देश्य है कि लड़कियां सशक्त व मजबूत बनें और पूरे हौसले के साथ अपनी बात रखें। छात्राओं ने जनपद में स्पो‌र्ट्स फैसेलिटी विकसित करने की मांग की। एक छात्रा ने कहा की रास्ते में छेड़छाड़ करने वाले युवकों के खिलाफ तुरंत कार्रवाई होनी चाहिए। दूसरी छात्रा बोली, बलात्कार की घटना में आरोपितों को तुरंत सजा मिलनी चाहिए, क्योंकि कई पीड़िताएं ऐसी है जो समाज के दबाव में शिकायत नहीं कर पाती हैं। इसके लिए कोई व्यवस्था होनी चाहिए। साथ ही महिलाओं से संबंधित गंभीर मामलों के निस्तारण में देरी नहीं होनी चाहिए। इस पर जिलाधिकारी ने बताया कि महिलाओं से संबंधित गम्भीर अपराधों में काफी संवेदनशीलता के साथ कार्य किया जा रहा है। कार्यक्रम में मुख्य विकास अधिकारी आनंद वर्धन, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व प्रीति जायसवाल, जिला विद्यालय निरीक्षक प्रदीप कुमार द्विवेदी, बेसिक शिक्षा अधिकारी योगेन्द्र कुमार, जिला प्रोबेशन अधिकारी राजेश चंद्र गुप्ता, महिला थाना इंस्पेक्टर निधि चौधरी, जूडो कोच रुचि अग्रवाल, मधुलिका त्यागी, अभिषेक विश्नोई समेत अन्य लोग मौजूद रहे।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.