मोटापेे से हो रहे डायबिटीज और ह्दय रोग, मुरादाबाद के शिविर में ऐसे मरीजों को दिए गए सुझाव

Diabetes and heart diseases due to obesity सोमवार को दिल्ली रोड स्थित साईं मल्टीस्पेशियलिटी अस्पताल में मोटापे से पीड़ित लोगों की सहूलियत के लिए शिविर लगाया गया। वजन घटाने और बेरिएटिक सर्जरी के बारे में लोगों को जानकारी दी गई।

Samanvay PandeyTue, 28 Sep 2021 04:11 PM (IST)
समय से इलाज कराने से इन बीमारियों से बचा जा सकता है।

मुरादाबाद, जेएनएन। Diabetes and heart diseases due to obesity : सोमवार को दिल्ली रोड स्थित साईं मल्टीस्पेशियलिटी अस्पताल में मोटापे से पीड़ित लोगों की सहूलियत के लिए शिविर लगाया गया। वजन घटाने और बेरिएटिक सर्जरी के बारे में लोगों को जानकारी दी गई। बीएमआई, शरीर में वसा विश्लेषण, ब्लड शुगर आदि के मरीजों को सलाह दी गई। अस्पताल में सलाहकार मिनिमल एक्सेस और बेरिएट्रिक सर्जन डा. जुहैब नसीम ने बताया कि मोटापे की वजह से बीमारियों की चपेट में लोग आ रहे हैं। जीवनशैली खराब हो चुकी है। शहरी लोगों में सबसे अधिक ये समस्या देखने को मिल रही है। इससे डायबिटीज, ह्दय रोग आदि बीमारियां हो रहीं है। समय से इलाज कराने से इन बीमारियों से बचा जा सकता है।

सुदेश भटनागर बने राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ के जिला उपाध्यक्ष : राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ की बैठक डीएसएम इंटर कालेज कांठ में हुई। इसमें डीएसएम इंटर कालेज कांठ के प्रधानाचार्य मेजर सुदेश भटनागर को राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ का जिला उपाध्यक्ष मनोनीत किया गया। महासंघ उत्तरप्रदेश के प्रदेश उपाध्यक्ष जोगेंद्र पाल सिंह ने वर्तमान परिदृश्य में समाज जीवन में उभर रही समस्याओं और उनके निराकरण हेतु शिक्षक समाज की भूमिका पर विस्तार से चर्चा की। जिलाध्यक्ष डा. राजीव मोहन सिंह प्रधानाचार्य, किसान इंटर कॉलेज जहांगीरपुर सहित अन्य पदाधिकारी इस अवसर पर मौजूद रहे।

स्काउट गाइड को दिया आग से बचाव का प्रशिक्षण : सोमवार को तृतीय सोपान जांच शिविर में स्काउट गाइड को आग से बचाव के उपायों के बारे में बताया गया। चीफ फायर आफिसर और उनकी टीम ने मेथोडिस्ट गर्ल्स इंटर कालेज में प्रशिक्षण दिया गया। चीफ फायर आफिसर ने कहा कि हमारे जीवन में बहुत सी ऐसी घटनाएं होती हैं। जब हमें आग से बचाव करना होता है। इसके लिए प्रशिक्षित होना जरूरी है। पीपीटी में यंत्रों के माध्यम से वास्तविक ट्रैक एंड फील्ड में जाकर किस प्रकार कार्य करें और आग से बचाव करें का प्रशिक्षण दिया गया।

इसमें लगभग 135 स्काउट गाइड ने भाग लिया। मुख्य आयुक्त डा. मधुबाला त्यागी ने स्काउट गाइड से आग्रह किया कि इस प्रकार के प्रशिक्षण अवश्य लें। जिससे आवश्यकता पड़ने पर वह अपनी व अपने सगे संबंधियों की आग से रक्षा कर सकें। प्रधानाचार्य सुनीता डी सिंह ने आभार जताया। इसमें स्काउट मास्टर गाइड कैप्टन चित्र आर्य, दीपा पांडे, रजनी, सिमरन, वैशाली, मीना, शिवम कुमार, शुभम सैनी, अक्षर शर्मा, डीओसी स्काउट गौरव सक्सेना, डीओसी गाइड विमला यादव आदि रहे।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.