Congress Pratigya Rally : प्रियंका वाड्रा ने अपनी ससुराल में मांगी माफी, कहा-अगली बार पति को भी लेकर आऊंगी

Congress Pratigya Rally कांग्रेस की रैली को छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भी संबोधित क‍िया। उन्‍होंने पीतल दस्तकारों की समस्‍याओं को उठाया। कहा कि उपचुनाव में हार हुई तो पेट्रोल और डीजल के दाम कम कर दिए गए।

Narendra KumarThu, 02 Dec 2021 03:27 PM (IST)
प्रियंका वाड्रा ने कहा क‍ि आप सभी का मेरी ससुराल में स्वागत है।

मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। Congress Pratigya Rally : कांग्रेस की प्रतिज्ञा रैली में छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने मुरादाबाद के पीतल दस्तकारों के समस्याओं को उठाया, महंगाई का मुद्दा उठाते हुए कहा कि उपचुनाव में हार हुई तो पेट्रोल और डीजल के दाम कर दिए गए। अगर उत्तर प्रदेश की जनता ठान ले तो सरकार का नशा उतर जाएगा। आप सभी एकजुट हो जाएं तो महंगाई काबू में आ जाएगी। एक पार्टी धर्म के नाम पर तो दूसरी जाति के नाम पर वोट मांगती है, वहीं एक ओर प्रियंका आपके मुद्दों के नाम पर वोट मांग रहीं हैं। आपकी लड़ाई लड़ रहीं हैं। पिछले दिनों प्रधानमंत्री उत्तर प्रदेश में आए तो योगी के कंधे पर हाथ रखकर चलते हुए उनके फोटो खूब द‍िखाए गए, जबकि हमारे धर्म में किसी साधु, संन्यासी अथवा योगी के कंधे पर हाथ नहीं रखा जाता। प्रधानमंत्री बताएं क‍ि मुख्यमंत्री को योगी मानते हैं या नहीं। 

राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका वाड्रा ने बुद्धि विहार में आयोज‍ित जनसभा में कहा क‍ि आप सभी का मेरी ससुराल में स्वागत है। बहुत दिन बाद ससुराल में आने के लिए माफी चाहती हूं, बूंदाबांदी के बीच प्रियंका वाड्रा ने कहा क‍ि उत्तर प्रदेश में अंधकार है, इस अंधेर नगरी का चौपट राजा है। उद्योग चौपट, रोजगार चौपट, महंगाई चरम पर है, फ‍िर भी वे कहते हैं कि प्रदेश आगे बढ़ रहा है, जबकि सब पीछे जा रहा है। टीईटी के पेपर लीक हो रहे हैं। युवाओं की सालों की मेहनत बेकार चली गई। मैंने कई युवाओं से बात की, सभी में निराशा है। लखनऊ की एक महिला से बात हुई। उसने बताया क‍ि घरों में काम करके बेटी को पढ़ाया, लेकिन सब बेकार चला गया। पेपर माफिया, खनन माफिया, नदी माफिया, माफिया ही माफिया हैं। गनीमत है की सांस पर कोई माफिया नहीं है। आप सभी से नाराजगी है कि आप ऐसे नेताओं को चुनते हैं, जो आपके अधिकार हड़पते हैं, झूठे वादे करते हैं। किसान आंदोलन से एक बात समझ में आई है कि आप ठान लें तो सब कुछ बदला जा सकता है। काले कानून वापस लिए गए। आंदोलन में 700 लोग शहीद हुए। प्रधानमंत्री ने दो मिनट का मौन तो दूर एक शब्द नहीं बोला। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी एक शब्द नहीं कहा।  कहा क‍ि पीएम नरेंद्र मोदी का हवाई जहाज 8000 करोड़ का खरीदा गया, जबकि आपका गन्ना भुगतान केवल 4000 करोड़ का है। संसद के सुंदरीकरण पर 20 हजार करोड़ खर्च कर रहे हैं जबक‍ि आपका कर्जा माफ करने की बात पर कहते हैं क‍ि पैसा नहीं है। अगर सरकार बनी तो 2500 में क‍िसानों का धान खरीदा जाएगा। राष्ट्रीय महासचिव ने कहा क‍ि चार सौ रुपये कुंतल में गेहूं खरीदा जाएगा, इस बीच पीछे से टोकने पर कहा कि माफ कीजिए 400 रुपये कुंतल में गन्ना खरीदा जाएगा। मुरादाबाद को स्मार्ट सिटी बनाया जाएगा। महासच‍िव ने कहा क‍ि वे महिलाओं को मजबूत करने की बात कर रहे हैं, लेकिन एक सिलेंडर देने से सशक्‍तीकरण नहीं होगा। मैं आपको सशक्त बनाऊंगी। आपके लिए लडूंगी। इसलिए 40 फीसद सीट महिलाओं के लिए दी जा रही है। आपकी लड़ाई लड़ने कोई नही आएगा, मैं आपके साथ खड़ी हूं। सरकार बनी तो किसानों का

कर्जा माफ होगा। बिजली का बिल हाफ होगा, महिलाओं को स्कूटी दी जाएगी। अगर सरकार आई 10 लाख तक का इलाज मुफ्त कराएगी। वृद्धावस्था पेंशन हजार रुपये मिलेंगे। आप अपने नेताओं से हिसाब नहीं मांगते।समाजवादी का नया नारा सुना है कि आ रहे हैं अखिलेश, वह एनआरसी, सीएए पर कुछ नही बोले। मुजफ्फरनगर में युवक की हत्या हुई, आदिवासियों का नरसंहार, उन्नाव और हाथरस में क्या अखिलेश आए। लखीमपुर खीरी में किसानों को कुचला गया क्या अखिलेश आए। अब चुनाव आ गए तो अखिलेश क्यों आ रहे हैं। कांग्रेस पांच साल से सड़कों पर लड़ाई लड़ती रही। इलाहाबाद में अनुसूचित पर‍िवार की हत्‍या हुई, तब बसपा, सपा क्यों आगे नहीं आईं। मैं उस परिवार से मिली। आगे कहा कि बारिश हो रही है ज्यादा नहीं बोलूंगी, अगली बार पति को भी लेकर आऊंगी, जय हिंद।

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

Tags
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.