मुरादाबाद में बोले कांग्रेस नेता अहमद खान, सपा के बैनर-पाेस्टर से आजम खां की तस्‍वीर गायब

पिता-पुत्र अभी भी सलाखों के पीछे हैं।

अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय कोऑर्डीनेटर अहमद खान बोले आजम खां के परिवार के लिए सपा ने कुछ नहीं किया। सपा संघ की बी टीम के तौर पर काम कर रही है। बैनर-पाेस्टर से आजम खां का फोटो गायब है।

Narendra KumarSat, 27 Feb 2021 09:41 AM (IST)

मुरादाबाद, जेएनएन। महानगर कांग्रेस कार्यालय पर अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय कोऑर्डीनेटर अहमद खान ने कहा कि समाजवादी पार्टी के रामपुर से सांसद आजम खान को जेल गए एक साल हो चुका है। सपा संघ की बी टीम के तौर पर काम कर रही है। बैनर-पाेस्टर से आजम खां का फोटो गायब है। सपा के संरक्षक मुलायम सिंह यादव नरेंद्र मोदी को पुन: प्रधानमंत्री बनने की दुआ दे चुके हैं।

कहा क‍ि प्रदेश की योगी सरकार ने आजम खान, उनकी पत्नी तजीन फात्मा और बेटे अब्दुल्ला आजम के खिलाफ मुकदमे लिखकर जेल भेजा था। 10 माह बाद तजीन फात्मा रिहा हो गईं। लेकिन, पिता-पुत्र अभी भी सलाखों के पीछे हैं। इसे लेकर समाजवादी पार्टी की खामोशी बता रही है कि उनकी पार्टी के नेता कितने मुस्लिम हितैषी हैं। किसी पार्टी का कोई नेता जो एक संस्थापक सदस्य हो, विधायक, राज्यसभा सदस्य और वर्तमान में सांसद हो। ऐसे व्यक्ति के खिलाफ सरकार के इशारे में पुलिस ने मुर्गी और बकरी चोरी जैसे आरोपों में मुकदमा लिखकर जेल भेजा है, ये जुल्म नहीं तो क्या है। लेकिन, सपा ने इस अत्याचार के खिलाफ कोई आंदोलन नहीं किया। इससे यह साबित हो रहा है कि पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव मुस्लिमों के कितने हितैषी हैं। भाजपा से उनकी अंदरूनी साठगांठ है। इसलिए आय से अधिक संपत्ती के मामले में उनके परिवार के किसी व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई नहीं हुई है। कोरोना महामारी के दौरान योगी सरकार ने हमारे प्रदेशाध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के खिलाफ मुकदमा लिखाकर जेल भिजवा दिया था। 29 दिन जेल में रहने के दाैरान वह रिहा हो गए। इसके लिए कांग्रेस ने प्रदेशभर में आंदोलन किया। प्रदेश कांग्रेस कमेटी अल्पसंख्यक विभाग के प्रदेश अध्यक्ष शाहनवाज आलम भी सीएए और एनआरसी कानून के विरोध में 17 दिन लखनऊ जेल में रहे। इस दौरान भी कांग्रेसियों ने आंदोलन किया। इस मौके पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता असलम खुर्शीद, जिला अल्पसंख्यक विभाग के चेयरमैन अफजल साबरी, महानगर चेयरमैन सफदर नियाजी, उस्मान सैफी, नौशाद अंसारी, फिरासत अली आदि मौजूद रहे।

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.