Child Protection Money News : मंडलीय समीक्षा में बाेले बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष, 15 दिन में मिलेगी अनाथ बच्चों को संरक्षण राशि

Child Protection Money News उप्र राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष डा. विशेष गुप्ता ने कहा कि कोरोना में अनाथ और एकल परिवार वाले बच्चों के लिए सरकार ने दरियादिली दिखायी है। ऐसे बच्चों के हर माह 4000 हजार रुपये दिए जाएंगे।

Ravi MishraTue, 15 Jun 2021 08:37 AM (IST)
Child Protection Money News : मंडलीय समीक्षा में बाेले बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष

मुरादाबाद, जेएनएन। Child Protection Money News : उप्र राज्य बाल अधिकार संरक्षण आयोग के अध्यक्ष डा. विशेष गुप्ता ने कहा कि कोरोना में अनाथ और एकल परिवार वाले बच्चों के लिए सरकार ने दरियादिली दिखायी है। ऐसे बच्चों के हर माह 4,000 हजार रुपये दिए जाएंगे, 15 दिन में राज्य के 3.5 हजार पात्रों के पाल्यों के खाते में धनराशि भेज दी जाएगी।

वह सर्किट हाउस सभागार में मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के तहत अनाथ बच्चों को लाभ पहुंचाने के लिए हो रही तैयारियों की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने चिन्हित बच्चों की सूची फार्म भरवाने, खाता खोलने संबंधी कार्यों के संबंध में विस्तार से जानकारी ली। अधिकारियों को निर्देश दिये कि अनाथ बच्चों के जन्म प्रमाण-पत्र एवं आय प्रमाण-पत्र को तत्काल जारी किया जाए।

उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी से कोरोना की तीसरी लहर की आंशका के मद्देनजर की गयी व्यवस्थाओं में पूछा। उन्होंने ने कहा कि डीएलसी से बाल श्रमिकों के संबंध में जानकारी लेते हुए कहा कि जो बच्चे रेस्क्यू किए जाते हैं उनका पुनर्वास भी हो और ऐसे बच्चों की सूची भी उपलब्ध कराएं। श्रम विभाग द्वारा रेस्क्यू किए गये बच्चों को बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत करें।

कोविड के बाद शराब की दुकानें खुलने पर बच्चे काम करते पाये जाने पर कार्रवाई की जाए। यह भी देख लें कि नाबालिग बच्चों द्वारा शराब तो नहीं खरीदी जा रही है। उन्होंने आबकारी अधिकारी को इस पर पूर्णतः प्रतिबंध लगाने के निर्देश दिए। कांठ विधायक राजेश कुमार चुन्नू ने बैठक में कहा कि जो लोग कोविड से प्रभावित थे, किन्तु अस्पताल तक पहुंचने से पूर्व ही उनकी मृत्यु हो गयी उनकी कोविड संबंधी कोई जांच भी नही हो सकी, ऐसे परिवार के बच्चों को भी योजना का लाभ दिया जाए।

महानगर अध्यक्ष भाजपा धर्मेंद्र नाथ मिश्र ने कहा कि जिनकी जांच नही हो सकी और कोविड के चलते मृत्यु हो गयी है ऐसे परिवारों को भी चिन्हित किया जाना चाहिए। बैठक में विधायक कांठ राजेश कुमार सिंह चुन्नू, जिलाध्यक्ष भाजपा राजपाल सिंह चैहान, महानगर अध्यक्ष धर्मेेन्द्रनाथ मिश्रा, अपर जिलाधिकारी प्रशासन बिजनौर, मुख्य चिकित्साधिकारी मुरादाबाद, उप श्रमायुक्त, उप निदेशक प्रोबेशन, जिला प्रोबेशन अधिकारी मुरादाबाद, रामपुर, अमरोहा, बिजनौर, जिला कार्यक्रम अधिकारी मुरादाबाद, श्रम प्रवर्तन अधिकारी, जिला विद्यालय निरीक्षक, बेसिक शिक्षा अधिकारी, सीडब्ल्यूसी मेम्बर, सीडीपीओ, ड्रग इंस्पेक्टर आदि उपस्थित रहे।

मुरादाबाद में 62 बच्चों को चिह्नित किया गया

जिला प्रोबेशन अधिकारी मुरादाबाद ने बताया कि जनपद में 62 बच्चों को चिह्नित किया गया है, जिसमें सात अनाथ हैं, सात एकल है। जिसमें 48 का फार्म भरवा दिया गया है। जिला प्रोबेशन अधिकारी बिजनौर ने बताया कि 45 बच्चे चिन्हित किए गये जिनमें 24 बच्चे एकल है, एक अनाथ है, 27 का सत्यापन हो गया है। जिला प्रोबेशन अधिकारी सम्भल ने बताया कि 43 बच्चे चिह्नित किए गए हैं, जिसमें 39 एकल हैं, 04 अनाथ हैं तथा 29 आवेदन शासन को भेजने के लिए तैयार हैं। जनपद अमरोहा में बताया कि 15 बच्चे चिह्नित किए गए हैं, जिसमें 11 बच्चों के पेपर कम्पलीट हैं, चार बच्चों के प्रमाण पत्रों की कमी है। जनपद रामपुर ने बताया कि 30 बच्चे चिह्नित कर लिए गए हैं जिसमें 24 बच्चे एकल हैं तथा छह अनाथ हैं। उन्होंने मिलने वाले आवेदनों पर समयबद्धता से नियमानुसार कार्रवाई सुनिश्चित करने के निर्देश दिए हैं।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.