ठिकाने बदल कर फिजा में घोल रहे जहर

ठिकाने बदल कर फिजा में घोल रहे जहर
Publish Date:Sat, 31 Oct 2020 02:58 AM (IST) Author: Jagran

मुरादाबाद : ई-कचरे के काले कारोबारियों की जड़ें मुरादाबाद में इतनी गहरी हैं कि उसे उखाड़ कर फेंकना पुलिस के लिए भी नामुमकिन हो गया है। लाख प्रयास के बाद भी ई-कचरे की भट्ठी जिले में ठंडी नहीं पड़ी हैं। ई-कचरा कारोबारी नित नया तरीका ईजाद कर कानून की आंख में धूल झोंकने में जुटे हैं। ऐसे हालात तब हैं, जब पुलिस ई-कचरे के गोरखधंधे को पूर्णतया बंद कराने पर आमादा है।

शहर के दो थाना क्षेत्रों में दो दिनों के भीतर ई-कचरा जलाने के तीन आरोपित पकड़े गए। पाकबड़ा पुलिस ने बुधवार देर शाम जहां 30 किग्रा ई-कचरा के साथ एक व्यक्ति को दबोचा, वहीं कटघर पुलिस ने गुरुवार रात छापेमारी के दौरान दो आरोपितों के कब्जे से तीन क्विंटल अधजला ई-कचरा बरामद किया है। इस दौरान दो आरोपित पुलिस को चकमा देकर भागने में सफल भी रहे। यह हालात तब हैं, जब वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी ने ई-कचरे के काले कारोबार पर नकेल कसने की प्रतिबद्धता जताते हुए अपनी तैनाती के तत्काल बाद थाना प्रभारियों को सख्त आदेश दिए थे। इसमें कोई दो राय नहीं कि एसएसपी की सख्ती का असर भी पड़ा है। जो ई-कचरा कल तक मुरादाबाद में खुलेआम जलाया जा रहा था, उसे अब पर्दे की ओट में सुलगाया जा रहा है। पुलिस की सख्ती बढ़ते ही माफिया ने अपना ठिकाना बदल दिया है। अब रामगंगा व खादर के इलाकों में निर्जन स्थान पर ई-कचरे की भट्ठी जलाई जा रही हैं। दो दिनों के भीतर पुलिस द्वारा की गई कार्रवाई इसे प्रमाणित करती है। पुलिस के उच्चाधिकारियों को भी ई-कचरा माफियाओं के ठिकाने बदलने की भनक लग गई है।

पंडित नंगला व बरबलान में जल रही भट्ठी

शहरी क्षेत्र में भी ई-कचरे का अवैध कारोबार पूरी तरह से बंद नहीं हुआ है। कुछ स्थानों पर पुलिस की सरपरस्ती में यह गोरखधंधा अभी भी फल फूल रहा है। ई-कचरे के काले कारोबार पर नजदीक से नजर रखने वाले बताते हैं कि कटघर थाना क्षेत्र में पंडित नंगला व मुगलपुरा के बरबलान के अलावा ताजपुर माफी गांव में ई-कचरे की भट्ठी अभी भी जल रही हैं।

सफेदपोशों की कलई खोल रही ई-कचरा कारोबारी की डायरी

ई-कचरे के अवैध कारोबार में सफेदपोश भी संलिप्त हैं। पुलिस व सफेदपोशों के संरक्षण में इस अवैध कारोबार के फलने फूलने की पुष्टि हुई है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रभाकर चौधरी बताते हैं कि पुलिस के हाथ एक ऐसी डायरी लगी है, जिसमें ई-कचरा कारोबारियों से माहवार वसूली की पुष्टि हो रही है। रकम वसूलने वालों में नागफनी व भोजपुर थाने के पुलिस कर्मियों के नाम हैं। इनके अलावा कुछ स्थानीय सफेदपोश भी इस खेल में शामिल हैं। हाथ लगी डायरी व उसमें दर्ज सूचनाओं के आधार पर ई-कचरे के काले कारोबार की जड़ें तलाशी जा रही हैं। जो भी दोषी मिला, उसके खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.