Bike Boat Scam : सूची में मुरादाबाद के 50 न‍िवेशक शाम‍िल, ईडब्ल्यूओ जांच में जुटा, अभी तक मुकदमा नहीं

बाइक बोट घोटाले की जांच कर रही अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) की मेरठ इकाई ने मुरादाबाद के मझोला थाना क्षेत्र स्थित निर्यात नगर में छापा मारकर गोदाम से 72 बाइक को बरामद किया था। बाइकों की कीमत लगभग 40 लाख रुपये बताई जा रही है।

Narendra KumarMon, 26 Jul 2021 02:22 PM (IST)
35 सौ करोड़ के बाइक बोट घोटाले में 72 बाइकें मुरादाबाद में गोदाम से हुईं बरामद।

मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। बाइक बोट घोटाले की जांच कर रही अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) की मेरठ इकाई ने मुरादाबाद के मझोला थाना क्षेत्र स्थित निर्यात नगर में छापा मारकर गोदाम से 72 बाइक को बरामद किया था। ईओडब्ल्यू और पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में बरामद हुई बाइकों की कीमत लगभग 40 लाख रुपये बताई जा रही है। वहीं, जांच कर रहे अधिकारियों ने बाइक बोट कंपनी में निवेश करने वालों की सूची तैयार की गई है। मुरादाबाद के लगभग 50 निवेशक सूची में शामिल हैं। वहीं, इनको जोड़ने वाले लोगों की तलाश की जा रही है। हालांकि, अभी तक किसी भी इनवेस्टर के द्वारा सामने आकर शिकायत नहीं की गई है। पुलिस के साथ ही ईओडब्ल्यू के अफसर भी इस मामले ज्यादा जानकारी नहीं दे रहे हैं। इस मामले में अभी तक कोई मुकदमा भी दर्ज न करना पुलिस के साथ ही जांच एजेंसी की कार्यप्रणाली में सवाल खड़ा करता है।

बीते एक साल में उत्तर प्रदेश के सौ स्थानों से अधिक स्थानों पर आर्थिक अपराध शाखा ने छापेमारी करके 1400 सौ से अधिक बाइक को बरामद किया है। अफसरों के मुताबिक 3500 करोड़ रुपये के इस घोटाले में 26 अधिक आरोपितों को जेल भेजा जा चुका है। वहीं, मुरादाबाद में 72 बाइक बरामद होने के बाद जनपद के साथ ही आसपास के जिलों में इस कंपनी के सूत्रधारों की तलाश की जा रही है। साल 2010 में गौतमबुद्ध नगर निवासी संजय भाटी ने गर्वित इनोवेटिव प्राइवेट लिमिटेड (बाइक बोट कंपनी) बनाई थी। इस कंपनी में बड़े पैमाने पर लोगों से पैसा निवेश कराने के लिए बोट बाइक स्कीम को लांच किया था। कंपनी ने आम लोगों का पैसा लेकर वादा किया था कि, एक व्यक्ति 62,200 रुपये देकर कंपनी में हिस्सेदार बन जाएगा और एक साल में उस व्यक्ति को 9,765 रुपये वापस किए जाएंगे। लेकिन, पैसा लेने के बाद कंपनी के अधिकारी अचानक गायब हो गए। शिकायत के बाद साल 2018 में कंपनी के खिलाफ फर्जीवाड़ा करने पर गौतमबुद्ध नगर के दादरी थाने में मुकदमा दर्ज करने की कार्रवाई हुई थी।

यह मामला बहुत ही गंभीर है। बाइक बरामद होने के मुकदमा क्यों नहीं दर्ज हुआ, इस संबंध में थाना पुलिस से जानकारी ली जाएगी। आर्थिक अपराध शाखा के द्वारा मामले की जांच की जा रही है। जल्द ही मामले की जानकारी ली जाएगी। हमारे स्तर से जांच में जो भी सहयोग होगा वह प्रदान किया जाएगा।

इंदू सिद्धार्थ, सीओ सिविल लाइंस

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.