ईयर फोन का इस्‍तेमाल करते हैं तो रहें सावधान, मुरादाबाद में चली गई क‍िशोर की जान

बहादुरपुर गांव के रहने वाले सुरेंद्र सिंह पेशे से किसान हैं।

Moradabad Bilari Khaduva Mahaj UP नानी के घर से सुबह की दौड़ लगाने निकला था 11वीं का छात्र। इस दौरान उसने कानों में ईयरफोन लगा रखा था। रेलवे लाइन पा करते समय वह ट्रेन की आवाज नहीं सुन सका।

Publish Date:Sun, 17 Jan 2021 03:05 PM (IST) Author: Narendra Kumar

मुरादाबाद, जेएनएन। Moradabad Bilari Khaduva Mahaj UP । अगर आप भी सड़क पर चलते समय या दौड़ते समय ईयरफोन का इस्‍तेमाल करते हैं तो सचेत हो जाएं। मुरादाबाद ज‍िले के ब‍िलारी लापरवाही की वजह से एक क‍िशोर की जान चली गई। दरअसल घने कोहरे के बीच कान में ईयरफोन लगाकर रेल ट्रैक पार कर रहे किशोर की ट्रेन की चपेट में आकर मौत हो गई। 

बिलारी थाना क्षेत्र के बहादुरपुर गांव के रहने वाले सुरेंद्र सिंह पेशे से किसान हैं। उनका बड़ा पुत्र मनीष 11वीं का छात्र था। दोनों छोटी बेटियां सताक्षी व तनु अभी पढ़ाई कर रही हैं। मनीष के घर से मामा का गांवा खड़ुवा महज एक किमी दूर है। स्वजनों के मुताबिक शुक्रवार शाम मनीष अपने मामा के गांव चला गया। सुबह वह दौड़ लगाता था। शनिवार सुबह घने कोहरे के बीच मनीष मामा के घर से निकल गया। इसके बाद किशोर सड़क पर दौड़ लगाने लगा। पुलिस के मुताबिक दौड़ लगाने के दौरान मनीष के दोनों कान में ईयरफोन लगे थे। मोबाइल फोन पर वह गाना सुन रहा था। घने कोहरे में कान में ईयरफोन लगाकर वह  मुरादाबाद-अलीगढ़ रेल ट्रैक पार कर रहा था। तभी वह ट्रेन की चपेट में आ गया। सिर सहित शरीर के विभिन्न हिस्सों में गंभीर चोट के कारण मौके पर ही उसकी मौत हो गई। ग्रामीणों को हादसे की भनक तब लगी, जब वह खेत की ओर निकले। शव की पहचान होते ही हादसे की सूचना मनीष के घर वालों को दी गई। घटनास्थल पर दो गांवों के ग्रामीणों की भारी भीड़ जमा हो गई। इस बीच बिलारी थाना प्रभारी मदन मोहन चतुर्वेदी भी घटना स्थल पर पहुंच गए। किशोर की मौत से उसकी मां हरवती व दोनों बहनों के अलावा पिता सुरेंद्र का रो-रोकर बुरा हाल है।

 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.