Assassination in Moradabad : दानिश के मोबाइल फोन में छिपा दोहरे हत्‍याकांड का राज, पुलिस से अलग है ग्रामीणों की कहानी

गले के नीचे नहीं उतर रही डबल मर्डर की पुलिसिया कहानी।

वारदात को लेकर जो कहानी बयां की है फिलहाल वह किसी के गले के नीचे नहीं उतर रही।पुलिस इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य की मदद से यह जानने में जुटी है कि घर से महज 200 मीटर दूर घटनास्थल तक दानिश के पहुंचने की असल वजह क्या रही थी ?।

Narendra KumarThu, 06 May 2021 07:01 AM (IST)

मुरादाबाद, जेएनएन। भोजपुर थाना क्षेत्र के सरदारनगर गांव में एक ही रात दो युवकों की निर्मम हत्या के असल कारणों की पड़ताल में पुलिस जुटी हुई है। वारदात को लेकर जो कहानी बयां की है, फिलहाल वह किसी के गले के नीचे नहीं उतर रही। यही वजह भी है कि पुलिस इलेक्ट्रॉनिक साक्ष्य की मदद से यह जानने में जुटी है कि घर से महज 200 मीटर दूर घटनास्थल तक दानिश के पहुंचने की असल वजह क्या रही? दानिश यदि चोरी की नीयत से रियासत के घर पहुंचा, तो उसके साथ और कौन से लोग मौजूद रहे? इन सवालों का जवाब तलाशने के प्रयास में भोजपुर पुलिस ने दानिश का मोबाइल नंबर कब्जे में ले लिया है। पुलिस की नजर फिलहाल पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार है।

घटनास्थल भी कुछ और ही कहानी बयां कर रहा है। वहीं रियासत और आरोपित दानिश के स्वजन के बयान भी विरोधाभाषी हैं। हालांकि, पुलिस को भी संदेह है कि तहरीर के जरिए रियासत ने जो दावा किया है वह पूरा सच नहीं है। वारदात से ठीक पहले दानिश के संपर्क में कौन लोग थे, इसकी जानकारी जुटाने के लिए पुलिस उसके मोबाइल की सीडीआर खंगाल रही? है। मोबाइल फोन पर कॉल करके किसी ने दानिश को घटनास्थल पर बुलाया तो नहीं था। या फिर चोरी की नीयत से रियासत के घर पहुंचे दानिश के साथ कुछ और लोग भी तो नहीं थे। क्योंकि रियासत वह उसके स्वजन का दावा है कि चोरी करने आए दानिश के साथ दो से तीन लोग और थे। उधर, दानिश के स्वजन ने घटना को साजिश करार देते हुए पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगाया है। रियासत के घर दानिश की मौजूदगी का असल कारण पुलिसिया जांच पूरी होने के बाद ही पता चलेगा।

विधवा हो गई गर्भवती

दानिश की गोली का शिकार शहजाद चंद माह बाद ही पिता बनने वाला था। शहजाद का विवाह गांव के मुहल्ला नई बस्ती से साहिबा के साथ हुआ था। साहिबा गर्भवती है। उधर, दानिश भी महज तीन माह की बेटी अनबिया का पिता था। तीन साल पहले भोजपुर के बाजिदपुर तिगरी गांव की रहने वाली रिहाना के साथ उसका निकाह हुआ। दोनों की हत्या से स्वजन बदहवास हैं।

जेब में मिली सोने की अंगूठी

थानाध्यक्ष मनोज कुमार सिंह ने बताया कि तलाशी के दौरान दानिश की जेब से सोने की एक अंगूठी मिली। अंगूठी महिला की बताई जा रही है। दानिश के कब्जे से मिला तमंचा, मोबाइल फोन व अंगूठी पुलिस ने कब्जे में ले ली गई है।

ग्रामीणों की जुबानी

रियासत के दावे पर सिर्फ पुलिस ही नहीं बल्कि उसी के गांव के रहने वालों को भी संदेह है। ग्रामीण घटना की अलग ही कहानी बता रहे हैं। कुछ लोगों ने बताया कि शहजाद के घर के आसपास दानिश का किसी युवती से प्रेम प्रसंग था। बीती रात वह प्रेमिका संग पकड़ा गया। इस बीच वह घर की ओर भागने लगा। तब शहजाद ने उसका पीछा किया। पकड़े जाने के भय से दानिश ने शहजाद के गोली मार दी।

दानिश के स्वजन का दावा

दानिश के चाचा बाबू ने बताया कि घटना की रात एक बजे गांव में चोर आने का चोर शोर मचा। तब दानिश, भाई पप्पू, सादिक, फारुख घर से बाहर निकले। खेतों में शहजाद के स्वजन व ग्रामीण पहले से मौजूद थे। दानिश को पकड़कर वह अपने घर ले गये। आरोपितों ने पीट-पीटकर दानिश की हत्या कर दी।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.