अर्ध शलभासन योग आसन से मजबूत बनेंगी मांसपेश‍ियां, ये है करने का तरीका

स्लिप डिस्क, साइटिका, कब्ज की तकलीफ दूर हो जाएगी।

सर्दी में अक्‍सर लोग स्‍वास्‍थ्‍य के प्रत‍ि लापरवाह हो जाते हैं। इसकी वजह से कई स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी समस्‍याएं जन्‍म लेेने लगती है। ऐस में जरूरी है क‍ि खुद के ल‍िए भी थोड़ा वक्‍त न‍िकाला जाए रोजाना थोड़े समय योग करने से कई तरह के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ होते हैं।

Publish Date:Sat, 16 Jan 2021 04:47 PM (IST) Author: Narendra Kumar

मुरादाबाद, जेएनएन। Ardh Shalbhasan yoga postures। भागदौड़ भरी जिंदगी में लोग खुद के लिए समय नहीं निकाल पा रहे हैं, इसकी वजह से वे कई तरह की बीमार‍ियों की चपेट में आ रहे हैं। लोगों को पेट संबंधी बीमारियों के साथ ही नितंब और पैर की मांसपेशियां कमजोर होने लगती हैंं। ऐसे में इनकी मजबूती के ल‍िए अर्ध शलभासन योग आसन करना जरूरी है। इस योग आसन के न‍ियम‍ित अभ्‍यास से अन्‍य भी कई लाभ हैंं।

योग प्रशिक्षक डॉ. महजबीं परवीन ने बताया कि इस आसन के करने से पेट के निचले भाग, नितंब, पैर की मांसपेशियां मजबूत होती हैं। इससे स्लिप डिस्क, साइटिका, कब्ज की तकलीफ दूर हो जाएगी। इस आसन को डायबिटीज के मरीजों को नहीं करना है। इस आसन को करने के लिए दोनों हाथों को जांघ के अंदर और ठुड्डी को जमीन पर रखें। सांस लेते हुए दाएं पैर को सीधा ऊपर उठाने के बाद सांस को सामान्य कर लें। सांस छोड़ते हुए पैर को सामान्‍य कर लें और नीचे लाएं। अभ्यास को दूसरे पैर से भी करें। इस आसन को नियमित करें। डायबिटीज की बीमारी से पीड़ित मरीज इस आसन को कतई न करें। आसन अगर समझ में नहीं आए तो योग प्रशिक्षके सामने एक बार अभ्यास करें। इसके साथ ही पौष्टिक आहार सेवन करें। गुनगुना पानी पीयें। अगर आपको किसी तरह की दिक्कत हो ताे योग प्रशिक्षक को पहले बता दें कि आपको क्या परेशानी है। बेहतर खानपान से सेहत में सुधार होगा। हेल्दी सीजन में पानी भी पीएंगे तो तन को लगेगा। थोड़ा सचेत रहने की जरूरत है। 

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.