अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद नशे के कारोबार पर एनसीबी की पैनी नजर, रामपुर पहुंची टीम

मुंबई में पकड़े गए नशीले पदार्थों के मामले में जांच के ल‍िए रामपुर पहुंची एनसीबी की टीम।

Narcotics Control Bureau team at Rampur मुंबई में पकड़े गए गांजे के तार रामपुर से जुड़ रहे हैं। इस मामले की जांच को लेकर एनसीबी की टीम लखनऊ पहुंची। हालांक‍ि टीम को कोई ठोस जानकारी नहीं म‍िल पाई।

Narendra KumarFri, 15 Jan 2021 09:27 AM (IST)

मुरादाबाद, जेएनएन। Narcotics Control Bureau team at Rampur। मुंबई में एनसीबी (नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो) द्वारा पकड़े गए नशीले पदार्थ से संबंधित एक केस के तार मंडल के रामपुर से भी जुड़ रहे हैं। इस संबंध में मुंबई एनसीबी ने लखनऊ से अपनी एक टीम को यहां जांच के लिए भेजा। टीम ने थाना गंज और शहजादनगर क्षेत्र में एक व्यक्ति की तलाश में छापेमारी की। हालांक‍ि वह नहीं मिला। टीम ने उसकी फैक्ट्री पर जाकर भी जांच की, लेकिन कोई आपत्तिजनक वस्तु नहीं मिली। टीम ने अब फैक्ट्री मालिक को सम्मन भेजकर मुंबई में पूछताछ के लिए बुलाया है।

फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की रहस्यमय मौत के बाद से मुंबई में बॉलीवुड और ड्रग्स कारोबार के बीच संबंधों पर सवाल खड़े हो गए हैं। इन सवालों की जांच में जुटी मुंबई नारकोटिक्स ने कई बॉलीवुड हस्तियों और हाईप्रोफाइल लोगों से पूछताछ की है। कई ड्रग पैडलर को गिरफ्तार किया गया। नौ जनवरी को भी मुंबई एनसीबी ने 338.5 ग्राम और 189.025 किलोग्राम गांजा पकड़ा था। इस मामले में मुकदमा दर्ज कर जांच की तो इस नशीले पदार्थ के साथ रामपुर का नाम जुड़ गया। पुष्टि करने के लिए मुंबई एनसीबी ने लखनऊ की टीम से संपर्क किया। इस पर एनसीबी लखनऊ के अधीक्षक विशाल पवार टीम के साथ यहां पहुंच गए। टीम को गंज थाना क्षेत्र के एक व्‍यक्ति की तलाश थी। इस व्‍यक्ति की शहजादनगर में फर्म है। टीम को आशंका थी कि उनकी फर्म पर नशे से जुड़े उत्पाद बनाए जाते हैं। टीम उनके घर और फैक्ट्री दोनों जगह पहुंची। इस दौरान फैक्ट्री मालिक नहीं मिले। टीम ने उन्हें थाना गंज में पूछताछ के लिए भी बुलाया, लेकिन वह नहीं आए। इस दौरान जिला आबकारी अधिकारी अवधेश राम भी उनके साथ रहे। जिला आबकारी अधिकारी ने बताया कि उनकी फैक्ट्री में जांच की गई थी, लेकिन वहां कोई आपत्तिजनक वस्तु नहीं मिली। जानकारी मिली है कि उनकी एक फर्म पीला तालाब पर भी है, जहां सिर्फ खाली सिगरेट बनाई जाती है। उसमें अंदर कुछ नहीं भरा होता है। हालांकि अभी एनसीबी संतुष्ट नहीं है। इसके लिए लखनऊ एनसीबी के अधीक्षक ने उन्हें सम्मन भेजा है, जिसमें उन्हें 27 जनवरी को एनसीबी के मुंबई कार्यालय पर तलब किया है। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.