मुरादाबाद के दौरे पर एडीजी, प्रश‍िक्षण ले रहे पुलिस कर्मियों से क‍िया संवाद, कहा-बिना दहेज शादी कर कायम करें मिसाल

पुलिस लाइन में प्रशिक्षु सिपाहियों के साथ एडीजी जोन अविनाश चंद ने संवाद किया। इस दौरान उन्होंने थानों में तैनाती के दौरान बिना दबाव के जनहित के कार्य करने के साथ ही समाज में पुलिस की भूमिका को सराहनीय करने के संबंध में जानकारी दी।

Narendra KumarThu, 29 Jul 2021 12:51 PM (IST)
अपर पुलिस निदेशक अविनाश चंद ने पुलिस लाइन में प्रशिक्षु जवानों से किया संवाद।

मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। पुलिस लाइन में प्रशिक्षु सिपाहियों के साथ एडीजी जोन अविनाश चंद ने संवाद किया। इस दौरान उन्होंने थानों में तैनाती के दौरान बिना दबाव के जनहित के कार्य करने के साथ ही समाज में पुलिस की भूमिका को सराहनीय करने के संबंध में जानकारी दी। मंडल के दो दिवसीय दौरे पर आए एडीजी अविनाश चंद ने पुलिस लाइन में प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे 257 सिपाहियों के साथ संवाद किया।

एडीजी ने सिपाहियों से कहा कि थाने में आने वाले फरियादियों की शिकायतों के निस्तारण से पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ता है। सिपाहियों को तैनाती से पूर्व अपनी सभी बुरी आदतों को त्याग देना चाहिए। पीड़ित को न्याय देते समय किसी के दबाव पर ध्यान नहीं देना चाहिए। स्वास्थ्य का भी ख्याल रखें। उन्होंने कहा कि पुलिस कर्मी बिना दहेज शादी करके मिसाल कायम करें। इसके साथ ही रक्तदान के साथ गरीबों की सेवा के लिए अन्नदान भी करने के लिए प्रेरित किया। अगर आप सही काम करेंगे, तो कोई आपको सजा नहीं दे सकता है। इस दौरान डीआइजी शलभ माथुर, एसएसपी पवन कुमार, एसपी सिटी अमित कुमार आनंद, एसपी देहात विद्यासागर मिश्र, एसपी यातायात अशोक कुमार, एएसपी अनिल कुमार के साथ ही सभी क्षेत्राधिकारी और थाना प्रभारी मौजूद रहे। पुलिस कर्मियों का मानसिक तनाव किया जाएगा कम : ड्यूटी के बोझ तले दबे पुलिस कर्मियों को अक्सर छुट्टी नहीं मिलने की शिकायत रहती है। बीते सालों में कई पुलिस कर्मियों ने इसी मानस‍िक तनाव के चलते आत्महत्या का रास्ता भी अपनाया है। एडीजी ने कहा कि इन घटनाओं से बचने के लिए अब प्रत्येक पुलिस कर्मी की निगरानी उनके साथी करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन साथ रहने वाले साथी के स्वभाव में कोई परिवर्तन आ रहा है और वह गुमसुम रहता है, तो इसकी रिपोर्ट संबंधित साथी उच्च अधिकारियों को देंगे। ऐसे में अधिकारी संबंधित को बुलाकर बातचीत करेंगे, वहीं उसके मानसिक तनाव को कम करने के लिए काम किया जाएगा। उन्होंने कहा कि अफसरों के साथ ही पुलिस कर्मी किसी भी काम को करने के लिए शार्टकट तरीका नहीं अपनाएंगे। साइबर सुरक्षा को लेकर अनुभवी लोगों से पुलिस को प्रशिक्षण दिलाया जा रहा है। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में आतंकवादी गतिविधियों के सवाल पर एडीजी ने कहा कि केंद्र और राज्य की सुरक्षा एजेंसियों के साथ मिलकर पुलिस काम कर रही है। हर छोटी और बड़ी घटना में करीब से नजर रखी जा रही है।

लूट और चोरी की घटनाओं पर लगाई फटकार : एडीजी ने पुलिस लाइन सभागार में पुलिस अफसरों के साथ बैठक की। इस दौरान कानून व्यवस्था की समीक्षा करते हुए उन्होंने अपराध नियंत्रण के लिए प्रभावी कार्रवाई के निर्देश दिए। एडीजी ने कहा कि सीओ और एसपी अपने क्षेत्रों में औचक निरीक्षण करें। इसके साथ ही बीते दिनों में सिविल लाइंस और मझोला थाने में चोरी और लूट की घटनाओं पर कड़ी नाराजगी व्यक्त करते हुए जल्द आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेजने के निर्देश दिए। उन्होंने सीओ से कहा कि इन घटनाओं को रोकने के लिए क्षेत्र में स्थान बदलकर प्रतिदिन रूटीन चेकिंग करें।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.