बारिश ने बरपाया कहर, नदी नाले उफान पर

लगातार हो रही बारिश से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना कर

JagranMon, 02 Aug 2021 03:47 PM (IST)
बारिश ने बरपाया कहर, नदी नाले उफान पर

जागरण संवाददाता, मीरजापुर : लगातार हो रही बारिश से लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। बारिश के कहर से लोगों के घर जमींदोज हो गए वही नदी नाले उफान पर होने से आवागमन ठप हो गया है। घरों व दुकानों में पानी घुसने से गृहस्थी के साथ सामान आदि नष्ट हो गए। खेतों में पानी भर जाने से धान की फसल नष्ट होने के कगार पर पहुंच गई है। दर्जनों गांवों के संपर्क टूट गए है, जिससे लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

हलिया : क्षेत्र में झमाझम बारिश से नदी नाले उफान पर आ गए और बारिश का पानी अदवा नदी के पुल व सुसुआड नाले रपटे के ऊपर से बहने लगा और आवगमन ठप हो गया। हलिया हथेड़ा सहित दर्जनों गांवों के संपर्क व आवागमन बाधित हो गया। रपटे पर करीब पांच घंटे तक आवागमन बाधित रहा वही अन्य नदी नाले भी उफान पर आ गए।

कच्चा मकान गिरा, तीन बकरियों की मौत

क्षेत्र के औरा गांव निवासी पशु पालक केवला पाल अपने घर के बगल में स्थित कच्चे मकान में करीब 25 बकरियों को बांध रखा था। शनिवार की देर रात बारिश से कच्चा मकान धराशायी हो गया और सभी बकरियां मलबे में दब गई। पशु पालक ने मलबे को हटाया तो तब तक तीन बकरियों की मौत हो चुकी थी तथा चार गंभीर रूप से घायल हो गई थी। पशु पालक ने तहसील प्रशासन से मुआवजा दिलाने की मांग की है।

जमालपुर : दो दिनों से क्षेत्र में हो रही भारी बरसात से खेतों में लगी धान की फसल पानी से डूब गई है। चिलबिला नाले के उफान से हसौली गांव में धान की फसल पानी से डूब गई है। इसी तरह गौरी, खखड़ा, डोहरी, चरगोड़ा आदि गांवों की फसलों में लबालब पानी भर गए है।

कलवारी : राजगढ़ अंतर्गत गुरुदेव नगर निवासी बसंत लाल ,संतलाल एवं रामनरेश का कच्चा मकान तेज बरसात में धराशाई हो गया। घर के अंदर रखा गेहूं, चावल व खाद मलबे में दबकर नष्ट हो गया। गृहस्वामी ने बताया कि गांव में पानी निकास के लिए बनी नालियों को दबंगों द्वारा पाट दिया गया है। इसके चलते लोगों को परेशानी हो रही है। संयोग अच्छा था कि परिवार के सभी सदस्य सुरक्षित हैं। कलवारी खुर्द निवासी नन्हकू प्रजापति के घर में रात में हुई बारिश का पानी घुस गया। इससे पूरा आशियाना जलमग्न हो गया। राजेंद्र तिवारी, कैलाश सिंह अन्य गृह स्वामियों ने पूरी रात जागकर बिताई।

हलिया : किगिरिहान बस्ती में सागर की इलेक्ट्रिक दुकान में रखे गए 15 मोटर पानी में डूब गए। इसी तरह कालोनी में रह रहे चाहे चैतू आदिवासी का गृहस्थी का सारा सामान नष्ट हो गया। मुर्त•ा के इलेक्ट्रिक सामान के स्टोर में पानी घुसने से एक लाख का सामान नष्ट हो गया। मलाधर के दुकान में रखे 70 हजार का किराना का सामान नष्ट हो गया। पप्पू के दुकान में पानी घुसने से एक लाख से अधिक के वस्त्र भीग गए। इसी तरह भोला भूज, लाल कोल, जमुना कोल, छोटे कोल, गोविद के घर में पानी घुस जाने से गृहस्थी नष्ट हो गई। सहजी गांव में कच्चा मकान ढहने से रमेश शुक्ला 48 गंभीर रूप से घायल हो गया। परिजनों ने मलबे से बाहर निकालकर मंडलीय चिकित्सालय ले गए।

भावा : सिचाई के लिए बनी नालियों में कूड़ा करकट फेंक देने से जाम होने के कारण पानी सड़क डंप हो जाने से भावा देवपुरा मार्ग सहित प्राइमरी पाठशाला के प्रांगण में पानी बह रहा है। वही सुरजीत सिंह पटेल, रमेश जायसवाल का दुकान में पानी से भर गया है और घर गिरने की आशंका बनी हुई है। एसडीएम मड़िहान जंग बहादुर यादव ने ग्राम प्रधान डढि़या को नालियों को साफ करवाकर पानी को निकालवाने को कहा है। देवपुरा ग्राम निवासी कपूर चंद्र गुप्ता के घर पर पेड़ गिर जाने से उनका पूरा घर ध्वस्त हो गया। आनंद प्रकाश सिंह, कैलाश नाथ सिंह, जितेंद्र कुमार सिंह और अंकुर सिंह भी बेघर हो गए।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.