पटेहरा का इकलौता सिरसी पंप कैनाल नहीं दे रहा पानी

जागरण संवाददाता, पटेहरा (मीरजापुर) : स्थानीय विकास खंड क्षेत्र का इकलौता सिरसी पंप कैनाल तीन सप्ताह से पानी देना बंद कर दिया है। पंप कैनाल से क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले किसानों को फसल सूखने की चिता सता रही है। किसानों का कहना है कि जब धान में बालियां निकलने को होती है उस समय धान को पानी की सख्त आवश्यकता पड़ती है। ऐसे में पंप कैनाल से पानी नहीं मिलने के कारण किसानों के माथे पर चिता की लकीरें खिंच आई हैं और उन्हें हजारों बीघा फसल की चिता सता रही है। अगर समय रहते पानी नहीं मिली तो फसल नष्ट हो सकती है।

किसानों ने बयां किया दर्द

विद्युत सप्लाई सिरसी पंप कैनाल को दीपनगर से होती है तीन सप्ताह से विद्युत सप्लाई कभी लो वोल्टेज तो कभी नही पहुंचती। इससे पंप कैनाल बंद पड़ा है और किसानों की हजारों बीघा लहलहाती फसल क्षति हो रही है।

किसान गिरीश कुमार सिंह।

पंप कैनाल को अनवरत चलाने का आदेश है फिर भी पावर हाउस के लोग जानबूझ कर अन्य फीडर से जोड़ देते है और रोस्टिग का नियम लगा कर कभी ब्रेक डाउन तो कभी लो वोल्टेज दिखा कर किसानों को परेशान करते है। सिचाई नहीं कराई गई तो बाद में पानी के लिए हाहाकार मच जाएगा।

किसान हरिशंकर पाल।

सिरसी पंप कैनाल में तीन पंप है जिसमें एक खराब है दो पंप चलने पर पानी किसी प्रकार आगे नहीं जा पाता है, कारण लो वोल्टेज से एक भी पंप नहीं चलता है।

किसान छोटलाल।

विद्युत पावर हाउस दीपनगर की अनदेखी से हर वर्ष किसानों की भारी क्षति होती है लाइन मैन एक न एक बहाना बता कर सप्लाई को बाधित किए रहते है अधिकारी भी उन्हीं की सुनते है रवैया में सुधार नहीं हुआ तो किसान धरना प्रदर्शन हेतु बाध्य होंगे।

किसान मनीष कुमार सिंह।

विद्युत सप्लाई में पड़ने वाले पेड़ों की टहनी भी विभाग किसानों से कटवाता है जबकि सारी जिम्मेदारी ठेकेदार की होती है सीटी ब्लास्ट होने का बहाना बता कर किसानों की सिचाई विद्युत विभाग बाधित कर रहा है।

किसान रवींद्र यादव।

सरकारी जमीन आवंटन पर मिली है उधार व्यवहार से खेती किया गया है फसल भी ठीक है, विद्युत विभाग की तानाशाही से उम्मीदों पर पानी फिरता दिख रहा है।

किसान मोहन कोल।

.....

क्या बोले अधिकारी--

सिरसी पंप कैनाल की सप्लाई पूरी क्षमता से चलाई जा रही है पंप कैनाल में फीड यंत्रों का पुनरीक्षण कराएं संभवत: पंप हाउस की सीटी ब्लास्ट कर गयी होगी जिससे समस्या आती होगी।

जगजीवन राम, जेई विद्युत पावर हाऊस दीपनगर।

1952 से 2019 तक इन राज्यों के विधानसभा चुनाव की हर जानकारी के लिए क्लिक करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.