1035 कोटे की दुकानों से होगा खाद्यान्न वितरण

कोविड-19 महामारी के दौरान लोगों की रक्षा संग घर-घर खाद्यान्न

JagranMon, 02 Aug 2021 05:22 PM (IST)
1035 कोटे की दुकानों से होगा खाद्यान्न वितरण

जागरण संवाददाता, मीरजापुर : कोविड-19 महामारी के दौरान लोगों की रक्षा संग घर-घर खाद्यान्न मुहैया कराना एक चुनौती थी, लेकिन सबका साथ सबका विकास की संकल्पना के साथ दृढ़ संकल्पित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सरकार बखूबी तरीके से पूर्ण कर रही है। असली मायने में रामराज की संकल्पना वर्तमान सरकार में साकार होती दिख रही है। प्रत्येक व्यक्ति तक अनाज की पहुंच बनाने के लिए, जिससे वह भूखा न रह जाए। आगामी पांच अगस्त को प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत 103500 कार्डधारकों को निश्शुल्क राशन का वितरण किया जाएगा। जनपद के 1035 दुकानों पर लगभग 100-100 कार्डधारकों को एक साथ अनाज का वितरण करने का लक्ष्य है। योजना के तहत अगस्त माह में लगभग 1919454 यूनिटधारक लाभान्वित होंगे।

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत जनप्रतिनिधि इको फ्रेंडली झोले में निगरानी में लाभार्थियों को पांच किग्रा (तीन किग्रा गेहूं व दो किग्रा चावल) प्रति व्यक्ति खाद्यान्न निश्शुल्क वितरित करेंगे। इसके लिए सुसज्जित हर कोटे की दुकान पर 100 लाभार्थियों को आमंत्रित किया गया है। प्रत्येक कोटे की दुकान पर नोडल अधिकारियों की निगरानी में खाद्यान्न वितरण संग प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का सजीव प्रसारण दिखाया जाएगा। डीएसओ उमेश चंद ने कोविड-19 से बचाव के लिए प्रोटोकाल का पालन कराने का निर्देश नोडल अधिकारी व कोटेदारों को दिया है। कार्डधारकों को जुलाई से नवंबर 2021 तक निश्शुल्क अनाज का वितरण किया जाएगा।

ये है योजना

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत आने वाले सभी लाभार्थियों को प्रति व्यक्ति पांच किलोग्राम अतिरिक्त खाद्यान्न दिया जाता है। योजना कोविड-19 महामारी के दौरान खाद्य सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए लोगों को निश्शुल्क अनाज उपलब्ध कराती है। कोरोना दौर में वितरित हुआ

76486.745 एमटी अनाज

सरकारी आंकड़ों पर गौर करें तो जिले की आबादी 24,96,970 से बढ़कर 28,92,989 पहुंच चुकी है। जनपद में अकेले खाद्य विभाग प्रति वर्ष कोटे की दुकानों के माध्यम से लगभग 129896.010 एमटी (अप्रैल 2020 से मार्च 2021 तक) अनाज का वितरण करता है। कोरोना संक्रमण के दौरान ही कार्डधारकों को लगभग 76486.745 एमटी अनाज का वितरण जिले में किया गया। 28 लाख 92 हजार को

अनाज मुहैया कराना चुनौती

मीरजापुर की 2011 की जनगणना के अनुसार जनसंख्या 2011 में कुल आबादी लगभग 24,96,970 थी। इसमें पुरुषों की जनसंख्या 13,12,302 तो महिलाओं की जनसंख्या लगभग 11,84,668 थी। वर्ष 2020 में मीरजापुर की अनुमानित जनसंख्या आबादी बढ़कर लगभग 28,92,989 पहुंच चुकी है। इसमें 2021 में पुरुषों की अनुमानित जनसंख्या 15,20,433 तो महिलाओं की अनुमानित जनसंख्या 13,72,556 है। इतनी बड़ी जनसंख्या के लिए उन्न उगाने की जिम्मेदारी लगभग 324113 किसानों के कंधों पर है, ये पीएम किसान योजना के तहत पंजीकृत हैं। जिले में 1035 कोटे की दुकान से लगभग 455509 कार्डधारकों तक प्रति माह एक हजार एमटी पहुंचाया जाता है। उपभोक्ता : कार्डधारक : अनाज की खपत एमटी में

अंत्योदय : 69665 : 29259.300 एमटी

पात्र गृहस्थी : 385844 : 100636.710 एमटी

कुल कार्डधारक : 455509 : 129896.010 एमटी

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.