दागी विपणन निरीक्षण धान खरीद में नहीं बन सकेंगे केंद्र प्रभारी

जागरण संवाददाता मीरजापुर दागी विपणन निरीक्षण अब क्रय केंद्र प्रभारी नहीं बन सकेंगे। शा

JagranSat, 18 Sep 2021 04:03 PM (IST)
दागी विपणन निरीक्षण धान खरीद में नहीं बन सकेंगे केंद्र प्रभारी

जागरण संवाददाता, मीरजापुर :

दागी विपणन निरीक्षण अब क्रय केंद्र प्रभारी नहीं बन सकेंगे। शासन-प्रशासन द्वारा पिछली गेहूं व धान खरीद में गबन करने वाले केंद्र प्रभारी चिहित किए जा रहे हैं। ऐसे केंद्र प्रभारियों पर अब कार्रवाई भी होगी। प्रमुख सचिव वीना कुमारी ने जिलाधिकारी को निर्देश जारी किया है। उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिया है कि क्रय एजेंसियों के ऐसे कर्मचारी जो गत खरीद वर्ष में धान अथवा गेहूं खरीद में गबन में शामिल रहे हैं, उनको खरीद से विरत रखा जाएगा।

क्रय केंद्र सुबह 9 बजे से शाम पांच बजे तक खुले रहेंगे। किसानों की सुविधा के लिए रविवार व राजपत्रित अवकाश को छोड़कर सभी दिन धान क्रय केंद्र खुले रहेंगे। धान खरीद संबंधी शिकायत व सुझाव 18001800150 पर दर्ज करा सकते हैं। खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में धान क्रय के लिए खाद्य विभाग के विपणन शाखा, उत्तर प्रदेश सहकारी संघ पीसीएफ, उत्तर प्रदेश कोआपरेटिव यूनियन लिमिटेड पीसीयू, उत्तर प्रदेश राज्य कृषि उत्पादन मंडी परिषद, उत्तर प्रदेश उपभोक्ता सहकारी संघ यूपीएसएस तथा भारतीय खाद्य निगम के क्रय केंद्र बनाए जाएंगे। क्रय एजेंसी सीधे किसान से धान खरीद करेंगी। खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में मूल्य समर्थन योजना के तहत किसानों से पारदर्शी तरीके से धान खरीद के लिए क्रय नीति शासन ने जारी किया है। मीरजापुर मंडल के मीरजापुर, सोनभद्र व भदोही के क्रय केंद्रों पर एक नवंबर से 28 फरवरी तक धान खरीद आरंभ होगी। मूल्य समर्थन योजना के तहत कामन के लिए 1940 रुपये और ग्रेड ए के लिए 1960 रुपये समर्थन मूल्य निर्धारित किया गया है। प्रत्येक केंद्र पर दो इलेक्ट्रानिक कांटा, एक नमी मापक यंत्र, विनोईंग फैन, पावर डेस्टर और डबल जाली का छलना रखा जाएगा। मंडलायुक्त पाक्षिक, जिलाधिकारी साप्ताहिक व जिला खरीद अधिकारी धान खरीद की दैनिक समीक्षा करेंगे।

बीते 18 सितंबर 2021 को डिप्टी आरएमओ धनंजय सिंह ने धान खरीद में गड़बड़ी करने के आरोप में एनसीसीएफ के क्रयकेंद्र प्रभारी सतीश कुमार के खिलाफ मड़िहान थाने में रपट दर्ज करा चुके हैं। जांच के दौरान क्रयकेंद्र पर किसानों से धान खरीदे जाने में कई तरह की गड़बड़ी पकड़ी थी। साथ ही क्रयकेंद्र का संचालन भी बंद कर दिए। जिले में इस वर्ष यह दूसरा मामला है जब किसी क्रयकेंद्र प्रभारी के खिलाफ रपट दर्ज करायी गयी है। इससे पहले जिगना थाना क्षेत्र के नर्रोइया के क्रय केंद्र प्रभारी के खिलाफ दस दिनों पूर्व रपट दर्ज करायी गयी थी।

विपणन निरीक्षक चुनार को खाद्य आयुक्त ने किया निलंबित

खाद्य विभाग के चुनार केंद्र पर तैनात तत्कालीन विपणन निरीक्षक को खाद्य आयुक्त ने अनुशानहीनता में निलंबित कर दिया। साथ ही चुनार में तैनाती के दौरान 521.31 क्विंटल चावल के गमन के मामले में विपणन केंद्र प्रभारी चुनार रविशंकर सिंह ने शुक्रवार को मुकदमा दर्ज कराया। विपणन निरीक्षक अल्पना चौरसिया ने खाद्य विभाग के संबंधित अधिकारियों व कर्मचारियों पर उनका उत्पीड़न करने का शिकायत उच्चाधिकारियों से किया था।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.