murder in bulandshahr : बुलंदशहर के गांव जौली में घर में घुसकर युवक की हत्‍या, मां व भाई की हालत गंभीर

बुलंदशहर के गांव जौली निवासी श्याम सिंह के घर कुछ लोग पीछे की दीवार फांदकर अंदर घुस आए। उसके पुत्र पर ताबड़तोड़ धारदार हथियारों से हमला कर दिया। युवक की मौत हो गई। उसकी मां व भाई पर भी हमला किया गया। दोनों की हालत गंभीर है।

Prem Dutt BhattMon, 27 Sep 2021 07:48 PM (IST)
बुलंदशहर के गांव जौली में घर में घुसकर युवक की हत्‍या के बाद विलाप करतीं महिलाएं

बुलंदशहर, जागरण संवाददाता। सिकंदराबाद कोतवाली क्षेत्र के गांव जौली में दबंगों ने रंजिशन घर में घुसकर युवक पर ताबड़तोड़ धारदार हथियारों से हमला कर दिया। बचाव में आई मां व बड़े भाई पर भी वार किए। युवक की मौत हो गई। उसकी मृतक की मां व भाई की हालत गंभीर है। मृतक के पिता ने गांव के दो सगे भाइयों व अज्ञात लोगों के खिलाफ कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज कराई है।

यह है मामला

गांव जौली निवासी श्याम सिंह पुत्र होराम ने बताया कि रविवार की रात हर रोज की तरह वह पत्नी श्यामवती, पुत्र मोहित उर्फ भीमा के साथ घर में बरामदे में सोया हुआ था। बड़ा पुत्र रोहित दूसरे कमरे में अपनी पत्नी व दो बेटियों के साथ सोया हुआ था। पुरानी रंजिशन को लेकर देर रात्रि करीब दो बजे गांव निवासी कुछ लोग पीछे की दीवार फांदकर अंदर घुस आए। उन्‍होंने आते ही पुत्र मोहित व श्यामवती पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। हमले को लेकर उसका पुत्र मोहित उर्फ भीमा घायल अवस्था में किसी तरह हमलावरों के चंगुल से छुटकर भागा, लेकिन हमलावारों ने उसका पीछा करते हुए घर के पीछे हमला बोलकर अधमरा कर दिया। इसी दौरान बड़ा पुत्र रोहित शोर सुनकर कमरे से आया तो हमलावरों ने उस पर वार कर दिए। वह पास ही एक धान के खेत में घुस गया, लेकिन यहां भी हमलावरों ने उस पर वार किए। शोर सुनकर आसपास के ग्रामीण आने पर आरोपित भाग निकले। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और मोहित, रोहित व श्यामवती को घायल अवस्था में बुलंदशहर सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया। जहां मोहित को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम को भेज दिया। पीड़ित श्याम सिंह की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने आरोपित सुनील व बबली पुत्रगण जगवीर निवासी जौली समेत अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई है।

पोते को हमले से बचाने को ऊपर लेट गई दादी

श्‍यामवती ने बताया कि रविवार की रात उसका चार वर्ष का पोता निखिल उसके पास सो रहा था। रोहित अपनी पत्नी व तीन वर्षीय पुत्री आरुषी, दो वर्ष की पूर्वी के साथ सो रहा था। अचानक मोहित पर हमला होते देखकर जब वह चिल्लाई तो हमलावारों ने उस पर धानदार हथियार से वार किए और पौते को मारने का प्रयास किया। लेकिन वह अपने पोते की ढाल बनकर उसके ऊपर लेट गई। शोर सुनकर रोहित जब पहुंचा तो हमलावारों ने उस पर हमला कर दिया। किसी तरह वह शोर मचाते हुए रजवाहे के पास धान के खेत में घुस गया। जहां आरोपितों ने उस पर भी वार किए।

-रंजिशन के पीछे यह बताया गया मामला

गांव जौली में परिवार पर हुए हमले के पीछे गत दिसंबर माह में आरोपित पक्ष की किशोरी गुम हो गई थी। जिसमें श्याम सिंह के पुत्र मोहित पर रिपोर्ट दर्ज हुई थी। किशोरी को पुलिस ने बरामद कर लिया था। बाद में दोनों पक्षों में समझौता गया था। कोतवाली निरीक्षक जयकरन सिंह ने बताया कि हमले के पीछे यह मुख्य बिंदू है। जिसकी जांच कर आरोपितों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं।

नामजद आरोपित अस्पताल का सुरक्षाकर्मी 

गांव का सुनील सिकंदराबाद स्थित निजी अस्पताल में सुरक्षा गार्ड के रूप में तैनात है। बकौल पुलिस आरोपित रात्रि में अस्पताल में भर्ती किसी परिचित की बाइक लेकर गांव गया था, जहां उसने अपने साथियों समेत मिलकर वारदात को अंजाम दिया।

इन्‍होंने कहा

हमले के पीछे मुख्य कारण की जांच कराई जा रही है। पीड़ित की तहरीर पर रिपोर्ट दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी के प्रयास किए जा रहे हैं। कुछ संदिग्धों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है।

नम्रता श्रीवास्तव, सीओ, सिकंदराबाद

 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.