बिना वार्ता नहीं होगा टटीरी में मेरठ हाइवे का निर्माण कार्य, बागपत में दूसरे दिन भी धरना प्रदर्शन

बागपत में चेतावनी देते हुए कहा गया है कि जब तक एनएचएआइ के अधिकारी वार्ता नहीं करते है। तब तक टटीरी में मेरठ हाइवे निर्माण कार्य नहीं होगा। भाकियू के युवा जिलाध्यक्ष चौधरी हिम्मत सिंह ने बताया कि टटीरी का आबादी क्षेत्र 20 मीटर चौड़ा है।

Prem Dutt BhattWed, 09 Jun 2021 01:00 PM (IST)
बागपत में किसानों और व्यापारियों का दूसरे दिन भी जारी अनिश्चित कालीन धरना।

बागपत, जेएनएन। बागपत के अग्रवाल मंडी टटीरी में भाकियू के युवा जिलाध्यक्ष चौधरी हिम्मत सिंह के नेतृत्व में एनएचएआइ के अधिकारियों व निर्माण कंपनी के ठेकेदार द्वारा जबरदस्ती किसान, मकान मालिकों और व्यापारियों की भूमि पर अवैध सड़क निर्माण कार्य के विरोध में अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन दूसरे दिन (बुधवार) को भी जारी रहा।

दी गई चेतावनी

उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि जब तक एनएचएआइ के अधिकारी वार्ता नहीं करते है। तब तक टटीरी में मेरठ हाइवे निर्माण कार्य नहीं होगा। भाकियू के युवा जिलाध्यक्ष चौधरी हिम्मत सिंह ने बताया कि टटीरी का आबादी क्षेत्र 20 मीटर चौड़ा है। एनएचएआइ के अधिकारी और कंपनी ठेकेदार जबरदस्ती 26 मीटर ले रहे है। जोकि गलत है। सड़क किनारे करीब 250 मकान, दुकान, दो मंदिर और एक सरकारी अस्पताल है। सन् 1963-64 में चकबंदी हुई थी।

तानाशाही पर प्रदर्शन

चकबंदी के दौरान सड़क मध्य से दोनों ओर 10-10 मीटर भूमि छोड़ी गई थी। इसके बाद ही मकान, दुकान और मंदिरों बनाए गए। आरोप है कि एनएचएआइ के अधिकारी टटीरी को तबाह करना चाहते है। एनएचएआइ के अधिकारी की तानाशाही पर ही टटीरी में अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन शुरू किया गया। इसी दौरान धरना प्रदर्शनकारियों ने चेतावनी दी कि जब तक एनएचएआइ के अधिकारी द्वारा मेरठ हाइवे निर्माण कार्य के संबंध में वार्ता नहीं करेगी, तब तक अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन जारी रहेगा। इस मौके पर राकेश, सतपाल, आलोक, पवन ठेकेदार, नरेश, संजय, ताहीर, शहजाद, निसार, पिंकी मानव, कृष्णपाल आदि मौजूद रहे। 

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.