माहभर में वायरस ढेर, दहाई के नीचे आया कोरोना

कोरोना का आंकड़ा सवा तीन माह बाद दहाई के नीचे आ गया। मार्च के शुरुआती दो हफ्तों में रोजाना दस से कम मरीज मिल रहे थे और यही आंकड़ा 17 जून को सामने आया।

JagranSat, 19 Jun 2021 04:26 AM (IST)
माहभर में वायरस ढेर, दहाई के नीचे आया कोरोना

मेरठ, जेएनएन। कोरोना का आंकड़ा सवा तीन माह बाद दहाई के नीचे आ गया। मार्च के शुरुआती दो हफ्तों में रोजाना दस से कम मरीज मिल रहे थे, और यही आंकड़ा 17 जून को सामने आया। चिकित्सकों का कहना है कि हर्ड इम्युनिटी आने की वजह से वायरस को संक्रमण के लिए नया शरीर या होस्ट नहीं मिल रहा है। अब म्यूटेशन होने पर ही वायरस खतरनाक होगा। आज आवश्यक है कि इस म्यूटेशन की बेकाबू होती भयावहता को समझा जाए।

सीएमओ डा. अखिलेश मोहन की रिपोर्ट बताती है कि दूसरी लहर में 10 मार्च को पहली बार संक्रमण दहाई तक पहुंचा, और 11 मरीज मिले। इसके बाद आंकड़ा दस के नीचे नहीं आया। 19 मार्च को 17, 23 को 20 और 24 को 28 नए कोरोना मरीज मिले, और अप्रैल-मई में यह संख्या प्रतिदिन दो हजार पार कर गई। माहभर में तेजी से घटा संक्रमण

सप्ताह नए कोरोना मरीज

9-15 मई 9236

16-22 मई 3069

23-29 मई 1192

30 मई-पांच जून 419

6-12 जून 166

13-17 जून 69 कुछ खास बातें

-एक जून से कोरोना संक्रमण की दर एक फीसद से कम बनी हुई है

-एक जून को एक्टिव केस 1980 थे, अब सिर्फ 250 रह गए क्या कहते हैं विशेषज्ञ

कोरोना वायरस के प्रति 70 फीसद से ज्यादा लोगों में एंटीबाडी बन ही गई होगी, ऐसे में संक्रमण बहुत ही तेजी से गिरा। साथ ही टीकाकरण भी वायरस को रोक रहा है। म्यूटेशन न हुआ तो कोरोना का यह वर्तमान स्ट्रेन अब संक्रमित नहीं हो पाएगा।

-डा. एसपी सोंधी, सीनियर फिजिशियन।

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!

रोमांचक गेम्स खेलें और जीतें
एक लाख रुपए तक कैश अभी खेलें

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.